1. You Are At:
  2. होम
  3. विदेश
  4. एशिया
  5. मलेशिया में रहने वालों के दिल में बसता है भारत: PM मोदी

क्वालालंपुर में बोले मोदी, मलेशिया में रहने वालों के दिल में बसता है भारत

क्वालालंपुर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मलेशिया में भारतीय समुदाय को संबोधित करते हुए कहा कि विदेशों में रहने वाले भारतीयों के दिल में भी एक अलग भारत बसता है। समय और दूरी रिश्तों में बाधा

India TV News Desk [Updated:22 Nov 2015, 6:42 PM IST]
मलेशिया में रहने...- Khabar IndiaTV
मलेशिया में रहने वालों के दिल में बसता है भारत: PM मोदी

क्वालालंपुर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मलेशिया में भारतीय समुदाय को संबोधित करते हुए कहा कि विदेशों में रहने वाले भारतीयों के दिल में भी एक अलग भारत बसता है। समय और दूरी रिश्तों में बाधा नहीं बन सकती। उन्होंने कहा कि मलय भारतीयों ने गांधी जी के जीवन से प्रेरणा ली है। नेताजी सुभाष चंद्र बोस के साथ मलय भारतीयों का स्वतंत्रता संग्राम की लड़ाई में अहम योगदान रहा।

इस मौके पर पीएम ने बताया की मलेशिया में भारतीय सांस्कृतिक केंद्र का नाम नेताजी सुभाष चंद्र बोस के नाम पर होगा। बता दे कि मलेशिया का भारतीय समुदाय नरेंद्र मोदी के भव्य स्वागत की तैयारी पहले ही कर चुका था। मोदी ने जिस तरह इंग्लैंड के वेम्बले में भारतीय को संबोधित किया था आज मलेशिया में भी कुछ ऐसा ही नजारा देखने को मिला।

आज ईस्ट एशिया समिट में शामिल हुए मोदी-

मलेशिया दौरे पर गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज सुबह क्वालालंपुर में 10वें ईस्ट एशिया समिट में शिरकत की। इस मौके पर अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा भी मौजूद रहे। इससे पहले आसियान देशों के सभी नेताओं ने एक मंच पर आकर हाथ मिलाए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आसियान देशों के नेताओं और चीन तथा जापान के अपने समकक्षों से बातचीत के दौरान आतंकवाद के खिलाफ मिलकर लड़ाई लड़ने का आह्वान किया। इसके साथ ही उन्होंने दक्षिण चीन सागर में क्षेत्रीय तथा समुद्री विवादों को जल्द हल करने पर भी जोर दिया।

Khabar IndiaTv पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी रीड करते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें khabarindiaTv का विदेश सेक्‍शन
Web Title: क्वालालंपुर में बोले मोदी, मलेशिया में रहने वालों के दिल में बसता है भारत
Promoted Content
Write a comment
atal-bihari-vajpayee