1. You Are At:
  2. होम
  3. विदेश
  4. एशिया
  5. उत्तर कोरिया ने फिर दागी बैलिस्टिक मिसाइल, अमेरिका समेत जापान ने की कड़ी आलोचना

उत्तर कोरिया ने फिर दागी बैलिस्टिक मिसाइल, अमेरिका समेत जापान ने की कड़ी आलोचना

नॉर्थ कोरिया की इस हिमाकत की जापान के साथ अमेरिका ने कड़े शब्दों में निंदा की है। जापान ने फौरन यूएन सिक्योरिटी काउंसिल की मीटिंग बुलाने की मांग की है।

Edited by: India TV News Desk [Published on:29 Nov 2017, 7:23 AM IST]
North Korea again fired ballistic missile- Khabar IndiaTV
North Korea again fired ballistic missile

हाइड्रोजन बम बनाकर अमेरिका को सीधी चुनौती देने वाले उत्तर कोरिया ने एक और मिसाइल का दाग कर दुनिया को सकते में डाल दिया है, क्योंकि तानाशाह किम जोंग उन की अगुवाई वाले देश नॉर्थ कोरिया ने इस बार जिस मिसाइल का टेस्ट किया है वो एक इंटरकॉन्टिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल है। यानी एक ऐसी मिसाइल जो परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम होने के साथ-साथ एक महादेश से दूसरे महादेश तक की दूरी तय करने में भी सक्षम है। नॉर्थ कोरिया की इस हिमाकत की जापान के साथ अमेरिका ने कड़े शब्दों में निंदा की है। जापान ने फौरन यूएन सिक्योरिटी काउंसिल की मीटिंग बुलाने की मांग की है। (पाकिस्तान: हज यात्रा से लौट रहे परिवार के 8 सदस्यों की सड़क दुर्घटना में मौत)

अमेरिका के रक्षा मंत्रालय के मुताबिक नॉर्थ कोरिया ने मंगलवार को जिस मिसाइल का टेस्ट किया है वह एक इंटरकॉन्टिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल है। जो करीब एक हजार किलोमीटर जाने के बाद जापानी समुद्र में गिरा है। अभी एक हफ्ते पहले ही अमेरिका ने नॉर्थ कोरिया के खिलाफ सख्त प्रतिबंध लगाए थे साथ ही इसे आतंकवाद का स्पॉन्सर देश भी करार दिया था और अब उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन ने मिसाइल दागकर इसका जवाब दिया है।

मंगलवार देर रात साउथ कोरिया के आर्मी चीफ ने इसका खुलासा किया, इससे पहले इस संबंध में रेडियो संकेत मिलने के बाद जापान ने मिसाइल परीक्षण को लेकर अंदेशा जताया था। नए हालात में साफ हो गया है कि कोरियाई तानाशाह ने उसके देश पर लगे प्रतिबंधों का जवाब देने के लिए तैयारी पूरी कर ली है। साउथ कोरिया की न्यूज एजेंसी द्वारा जारी खबरों के अनुसार दक्षिणी प्योंगसोंग में मिसाइल का परीक्षण किया है। हालांकि मिसाइल कितनी दूर तक गई और क्या यह जापान के ऊपर से गई इस बारे में अभी तक विस्तृत जानकारी नहीं मिली है।

इससे पहले कई दूसरी मीडिया रिपोर्टों में उत्तर कोरिया मिसाइल बेस पर रेडियो संकेत और रडार संबंधी गतिविधियों को देखते हुए यह आशंका व्यक्त की गई थी। दक्षिण कोरिया की समाचार एजेंसी योनहप ने सरकारी सूत्रों के हवाले से बताया कि सोमवार को मिसाइल ट्रेसिंग रडार को एक अंजान स्थान पर चालू किया गया था। इसमें उत्तर कोरियाई मिसाइल अड्डे के पास सक्रिय गतिविधियों की जानकारी हाथ लगी है। ऐसी ही खबरें जापान के मीडिया में भी प्रकाशित हुई थी।देर रात दक्षिण कोरिया के आर्मी चीफ ने इस बारे में पुष्टि की। जापान सरकार ने रक्षा विभाग को अलर्ट जारी कर दिया है। जापानी सूत्र के मुताबिक फिलहाल सेटेलाइट तस्वीरों में मिसाइल या लांच पेड दिखाई नहीं दिए हैं लेकिन ऐसे रेडियो संकेतों की पुष्टि की जो बताते हैं कि उत्तर कोरिया मिसाइल परीक्षण की तैयारी कर रहा है।

 

Promoted Content
auto-expo