1. You Are At:
  2. होम
  3. टेक
  4. न्यूज़
  5. ट्रैड फेयर में 'नेटवर्क ऑन व्हील्स' देगा बेहतर क्वालिटी

इंटरनेशनल ट्रैड फेयर में बेहतर कनेक्टिविटी के लिए वोडाफोन का 'नेटवर्क ऑन व्हील्स'

नई दिल्ली: 35वें अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेले में आने वाले लोगों को दिक्कत न हो और उन्हें बेहतर कनेक्टिविटी मिले, इसके लिए वोडाफोन, इंडिया ने मोबाइल बीटीएस 'नेटवर्क ऑन व्हील्स' पेश किया है। वोडाफोन का दावा

India TV Tech Desk [Updated:18 Nov 2015, 12:15 PM IST]
ट्रैड फेयर में...- Khabar IndiaTV
ट्रैड फेयर में 'नेटवर्क ऑन व्हील्स' देगा बेहतर क्वालिटी

नई दिल्ली: 35वें अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेले में आने वाले लोगों को दिक्कत न हो और उन्हें बेहतर कनेक्टिविटी मिले, इसके लिए वोडाफोन, इंडिया ने मोबाइल बीटीएस 'नेटवर्क ऑन व्हील्स' पेश किया है। वोडाफोन का दावा है कि उसने पूरी दिल्ली में करीब 20-30 टावरों की स्थापना करके और मौजूदा टावरों की क्षमता में विस्तार करके नेटवर्क समस्याओं को दूर किया है।

प्रगति मैदान के आसपास लगाए मोबाइल बेस ट्रांससीवर स्टेशन

भारत की प्रमुख दूरसंचार कंपनियों में से एक वोडाफोन ने प्रगति मैदान में लगे अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेले (आईआईटीएफ) में सभी आगंतुकों के लिए अबाधित कनेक्टिविटी और श्रेष्ठ गुणवत्ता वाली वॉइस एवं डेटा सेवाओं का लाभ उठाने में सक्षम बनाने के लिए प्रगति मैदान इलाके के आसपास अतिरिक्त मोबाइल बेस ट्रांससीवर स्टेशन (बीटीएस) लगाए हैं।

ट्रैडफेयर में आने वालों को बेहतर कनेक्टिविटी देने की कोशिश

दिल्ली में 14 नवंबर से शुरू और 27 नवंबर तक चलने वाले सालाना व्यापार मेले में हर दिन लाखों लोगों की संभावित आवाजाही को ध्यान में रखकर वोडाफोन ने आगंतुओं की दूरसंचार जरूरतों को पूरा करने के लिए ये मोबाइल बीटीएस टावर पेश किए हैं। वोडाफोन की कोशिश है कि ट्रैडफेयर में आने वाले लोगों को कनेक्टिविटी न होने की समस्या का सामना न करना पड़े।

बीटीएस टावरों को ज़रूरत के हिसाब से कहीं भी तैनात किया जा सकेगा

ये मोबाइल बीटीएस टावर 'नेटवर्क ऑन व्हील्स' की तरह हैं, क्योंकि गतिशील होने की वजह से इन्हें ग्राहक की जरूरत को ध्यान में रखकर प्रगति मैदान इलाके में कहीं भी तैनात किया जा सकेगा। वोडाफोन इन बीटीएस टावरों को लगाने के लिए आईआईटीएफ के आयोजकों और सरकारी अधिकारियों के साथ नजदीकी से जुड़ी हुई है। आईआईटीएफ में इन मोबाइल बीटीएस टावरों का इंस्टॉलेशन ग्राहकों की तेजी से बढ़ रही मोबाइल संचार जरूरतों को आसान बनाने के लिए वोडाफोन द्वारा चलाई गई विभिन्न पहलों में से एक है।

वोडाफोन के वार रूम हर वक्त रखते हैं नेटवर्क की क्वालिटी पर नज़र

वोडाफोन दिल्ली में उन इलाकों को देखने और चिन्हित करने के लिए नियमित रूप से ड्राइव टेस्ट भी करती रही है, जहां संबद्ध समस्याएं हैं और वह इनके समाधान के लिए गंभीरता से काम कर रही है। त्वरित प्रतिक्रिया सुनिश्चित करने और नेटवर्क संबंधी समस्याओं के समाधान के लिए कंपनी ने स्पेशल 'वार रूम्स' भी स्थापित किए हैं जो चैबीसों घंटे नेटवर्क की स्थिति पर नजर रखते हैं।

वॉइस औऱ डाटा नेटवर्क की क्वालिटी सुधारने पर 350 करोड़ रुपये का निवेश

वोडाफोन ने दिल्ली में मौजूदा वॉइस और डेटा नेटवर्क को आधुनिक एवं उन्नत बनाने के लिए 350 करोड़ रुपये से अधिक का निवेश किया है। अप्रैल-अक्टूबर 2015 के दौरान वोडाफोन ने दिल्ली एनसीआर में 730 से अधिक 3-जी/2-जी टावर लगाए, जबकि मौजूदा 550 टावरों की क्षमता में इजाफा किया गया।

दिल्ली में वोडाफोन के हैं करीब 1 करोड़ ग्राहक

दिल्ली एनसीआर में वोडाफोन के कुल 12,605 टावर हैं जिनमें 6,190 2जी टावर और 6,415 3जी टावर शामिल हैं। क्षेत्र में कंपनी के 98 लाख से अधिक ग्राहक हैं। देश की प्रतिष्ठित दूरसंचार सेवा प्रदाता के रूप में वोडाफोन, इंडिया सरकार की मदद करने और अपने ग्राहकों के लिए विश्वस्तरीय मोबाइल नेटवर्क स्थापित करने में अहम भूमिका निभाने के लिए प्रतिबद्ध है।

Khabar IndiaTv पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी रीड करते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Tech News News in Hindi के लिए क्लिक करें khabarindiaTv का टेक सेक्‍शन
Web Title: Network on Wheels to give better connectivity in Trade Fair
Promoted Content
Write a comment
independence-day-2018