Indian TV Samvaad
  1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. मेरा पैसा
  5. सस्ते मकानों को GST से छूट के लिए Naredco ने पीएम को लिखा खत

सस्ते मकानों को GST से छूट के लिए Naredco ने पीएम को लिखा खत

Naredco ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर निर्माणाधीन संपत्तियों की बिक्री पर लगाए गए GST को 12 फीसदी के बजाए 6 फीसदी करने की मांग की है।

Manish Mishra [Published on:29 Jun 2017, 9:16 AM IST]
सस्ते मकानों को GST से छूट के लिए Naredco ने पीएम को लिखा खत, 6 फीसदी टैक्‍स लगाए जाने की मांग की- IndiaTV Paisa
सस्ते मकानों को GST से छूट के लिए Naredco ने पीएम को लिखा खत, 6 फीसदी टैक्‍स लगाए जाने की मांग की

नई दिल्ली। रियल्टी क्षेत्र के संगठन नैशनल रियल एस्टेट डेवलपमेंट काउंसिल (Naredco) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर निर्माणाधीन संपत्तियों की बिक्री पर लगाए गए GST को 12 फीसदी के बजाए 6 फीसदी करने की मांग की है। फिलहाल इस पर 12 प्रतिशत की दर लगाई गई है। संगठन का मानना है कि ऊंची दर से GST लगाने से महंगाई बढ़ेगी और मकानों की बिक्री प्रभावित होगी। Naredco ने कहा कि सस्ते मकानों को GST से छूट मिलनी चाहिए। सरकार की तरफ से सस्ते मकानों की योजनाओं को ढांचागत क्षेत्र का दर्जा मिलने और ब्याज सहायता उपलब्ध कराए जाने के बाद इस तरह की योजनाओं ने गति पकड़ी है। देश में GST एक जुलाई से लागू होने जा रहा है।

यह भी पढ़ें : एडवांस्ड सिक्यॉरिटी फीचर्स के साथ बाजार में जल्द आएगा 200 रुपए का नोट, RBI ने शुरू की प्रिंटिंग!

Naredco का कहना है कि GST व्यवस्था में निर्माणाधीन मकानों पर 12 प्रतिशत की दर से GST लगाए जाने का प्रस्ताव किया गया है। GST मकान की कुल कीमत पर लगेगा जिसमें जमीन की लागत भी शामिल है। इसके अलावा बिक्री मूल्य पर 5 से 6 प्रतिशत की दर से स्टांप शुल्क भी लगाया जाता है।

यह भी पढ़ें : HSBC ब्‍लैकमनी लिस्‍ट पर देश में हुई पहली कार्रवाई, ED ने जब्‍त किए चेन्‍नई के बिजनेसमैन के 1.59 करोड़ रुपए

Naredco के 17 जून को प्रधानमंत्री को भेजे पत्र में कहा गया है कि निर्माणाधीन रियल एस्टेट संपत्तियों पर इस प्रकार कुल मिलाकर 18 प्रतिशत की दर से कर बोझ पड़ेगा जिसके कारण मकान महंगे होंगे। प्रधानमंत्री को भेजे इस पत्र की एक कॉपी वित्त मंत्री अरुण जेटली और राजस्व सचिव हसमुख अधिया को भी भेजी गई है।

Promoted Content
IPL 2018