1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. फायदे की खबर
  5. 600 किमी/घंटे की स्‍पीड से दौड़ेंगी भारत में ट्रेन, रेल मंत्रालय कर रहा है Apple जैसी टेक कंपनियों के साथ काम

600 किमी/घंटे की स्‍पीड से दौड़ेंगी भारत में ट्रेन, रेल मंत्रालय कर रहा है Apple जैसी टेक कंपनियों के साथ काम

रेल मंत्रालय ट्रेनों की स्‍पीड बढ़ाकर 600 किमी/ घंटा करना चाहता है। इसके लिए भारतीय रेलवे एप्‍पल जैसी टेक्‍नोलॉजी कंपनियों के साथ मिलकर काम कर रही है।

Abhishek Shrivastava [Updated:22 Jul 2017, 11:40 AM IST]
600 किमी/घंटे की स्‍पीड से दौड़ेंगी भारत में ट्रेन, रेल मंत्रालय कर रहा है Apple जैसी टेक कंपनियों के साथ काम- IndiaTV Paisa
600 किमी/घंटे की स्‍पीड से दौड़ेंगी भारत में ट्रेन, रेल मंत्रालय कर रहा है Apple जैसी टेक कंपनियों के साथ काम

नई दिल्‍ली। अब आप जल्‍द ही देश में 600 किलोमीटर प्रति घंटे की स्‍पीड से चलने वाली ट्रेन में सफर कर सकेंगे। रेल मंत्रालय ट्रेनों की स्‍पीड बढ़ाकर 600 किलोमीटर प्रति घंटा करना चाहता है। इसके लिए भारतीय रेलवे एप्‍पल जैसी टेक्‍नोलॉजी कंपनियों के साथ मिलकर काम कर रही है। रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा कि सरकार की रेलगाड़ियों की गति बढ़ाकर 600 किलोमीटर प्रति घंटा करने पर नजर है आर इसके लिए वह एप्‍पल जैसी वैश्विक टेक्‍नोलॉजी कंपनियों के साथ बातचीत कर रही है।

रेल मंत्री ने यह भी कहा कि नीति आयोग ने दो व्यस्तम गलियारों दिल्ली-मुंबई और दिल्ली-कोलकाता मार्गों पर गतिमान एक्सप्रेस की स्‍पीड  बढ़ाने के लिए 18,000 करोड़ रुपए के प्रस्ताव को मंजूरी दी है। प्रभु ने कहा कि इस मंजूरी के साथ गतिमान एक्सप्रेस की रफ्तार बढ़कर 200 किलोमीटर प्रति घंटे से अधिक हो जाएगी। उन्होंने कहा, आप खुद से इसकी कल्पना कर सकते हैं कि इससे यात्रा समय में कितनी बचत होगी।

भविष्य की योजना साझा करते हुए प्रभु ने कहा कि सरकार ने छह-आठ महीने पहले ट्रेनों की गति 600 किलोमीटर प्रति घंटा से अधिक करने की दिशा में काम करने के लिए बड़ी टेक्‍नोलॉजी कंपनियों को बुलाया था। प्रभु ने कहा, हम एप्‍पल जैसी कंपनियों के साथ पहले से बातचीत कर रहे हैं, देश में टेक्‍नोलॉजी का आयात नहीं किया जाएगा बल्कि उसका यहां विकास किया जाएगा।

मंत्री ने कहा कि सुरक्षा भी महत्वपूर्ण चिंता का विषय है और भारतीय रेलवे ऐसे डिब्बों के उपयोग की योजना बना रहा है, जो अल्ट्रासोनिक टेक्‍नोलॉजी के जरिये रेल में टूट-फूट का पता लगा सके।

Web Title: रेल मंत्रालय कर रहा है Apple जैसी टेक कंपनियों के साथ काम
Promoted Content
Write a comment
independence-day-2018