1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. बाजार
  5. सोने में दो दिन से जारी तेजी पर लगा ब्रेक, मांग घटने से 60 रुपए गिरकर भाव हुआ 29,050 रुपए/दस ग्राम

सोने में दो दिन से जारी तेजी पर लगा ब्रेक, मांग घटने से 60 रुपए गिरकर भाव हुआ 29,050 रुपए/दस ग्राम

कमजोर संकेत और स्थानीय आभूषण निर्माताओं की मांग घटने से स्थानीय सर्राफा बाजार में आज सोना 60 रुपए गिरकर 29,050 रुपए प्रति दस ग्राम रह गया।

Abhishek Shrivastava [Published on:20 Jul 2017, 7:28 PM IST]
सोने में दो दिन से जारी तेजी पर लगा ब्रेक, मांग घटने से 60 रुपए गिरकर भाव हुआ 29,050 रुपए/दस ग्राम- IndiaTV Paisa
सोने में दो दिन से जारी तेजी पर लगा ब्रेक, मांग घटने से 60 रुपए गिरकर भाव हुआ 29,050 रुपए/दस ग्राम

नई दिल्ली। वैश्विक बाजारों के कमजोर संकेत और स्थानीय आभूषण निर्माताओं की मांग घटने से स्थानीय सर्राफा बाजार में आज सोना 60 रुपए  गिरकर 29,050 रुपए प्रति दस ग्राम रह गया। पिछले दो दिन की लगातार तेजी के बाद आज कीमती धातुओं के भाव गिरे हैं। उठाव कमजोर पड़ने से चांदी का भाव भी 50 रुपए गिरकर 38,500 रुपए प्रति किलो रह गया।

अमेरिका में आर्थकि आंकड़ों के विश्लेषकों के अनुमान से भी बेहतर आने से डॉलर में मजबूती आ गई, जिससे कीमती धातुओं का आकर्षण कम हुआ। वैश्विक बाजारों में सिंगापुर में आज सोना 0.28 प्रतिशत गिरकर 1,237.50 डॉलर प्रति औंस रह गया, जबकि चांदी 0.49 प्रतिशत घटकर 16.18 डॉलर प्रति औंस रह गई।

व्यापारियों के अनुसार स्थानीय आभूषण निर्माताओं और खुदरा विक्रेताओं की मांग कमजोर पड़ने से भी कीमती धातुओं पर असर पड़ा। राष्ट्रीय राजधानी में आज 99.9 प्रतिशत शुद्धता वाले सोने का भाव 60 रुपए घटकर 29,050 रुपए और 99.5 प्रतिशत शुद्धता वाले सोने का भाव भी 60 रुपए गिरकर 28,900 रुपए प्रति दस ग्राम रह गया। पिछले दो दिनों के कारोबार में सोना 160 रुपए चढ़ गया था। गिन्नी का भाव 24,400 रुपए प्रति आठ ग्राम पर स्थिर रहा।

सोने की राह पर चलते हुए चांदी में भी गिरावट का रुख रहा। हाजिर चांदी का भाव 50 रुपए गिरकर 38,500 रुपए किलो और साप्ताहिक डिलीवरी चांदी का भाव 37,550 रुपए किलो पर स्थिर रहा। चांदी सिक्का, हालांकि, लिवाल 71,000 रुपए और बिकवाल 72,000 रुपए प्रति सैकड़ा पर स्थिर रहा।

 

Web Title: सोने में दो दिन से जारी तेजी पर लगा ब्रेक, 60 रुपए गिरा भाव
Promoted Content
Write a comment
atal-bihari-vajpayee
monsoon-climate-change