1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. पाकिस्‍तान की सात कंपनियां अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरे वाली सूची में

पाकिस्‍तान की सात कंपनियां अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरे वाली सूची में, परमाणु कारोबार में लिप्‍त होने की है आशंका

अमेरिकी सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरे वाली सूची में पाकिस्तान की सात कंपनियों का नाम शामिल किया है। इन कंपनियों के बारे में कहा गया है कि ये कथित तौर पर परमाणु कारोबार में संलिप्त हैं।

Edited by: Manish Mishra [Updated:26 Mar 2018, 8:18 PM IST]
US-Pakistan- IndiaTV Paisa

US-Pakistan

इस्लामाबाद/वाशिंगटन अमेरिकी सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरे वाली सूची में पाकिस्तान की सात कंपनियों का नाम शामिल किया है। इन कंपनियों के बारे में कहा गया है कि ये कथित तौर पर परमाणु कारोबार में संलिप्त हैं। यह परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह (एनएसजी) में शामिल होने के पाकिस्तान के प्रयासों पर कुठाराघात है। अमेरिका के ब्यूरो ऑफ इंडस्ट्री एंड सिक्योरिटी द्वारा पिछले सप्ताह प्रकाशित फेडरल रजिस्टर में कुल 23 कंपनियों को शामिल किया गया है। पाकिस्तानी कंपनियों के अलावा इस सूची में दक्षिणी सूडान की 15 कंपनियां और सिंगापुर की एक कंपनी शामिल है।

ब्यूरो ने कहा है कि सभी पाकिस्तानी कंपनियों के बारे में ऐसा माना जा रहा है कि ये अमेरिका की विदेश नीति के हितों अथवा राष्ट्रीय सुरक्षा के प्रतिकूल गतिविधियों में संलिप्त हैं या गंभीर संकट पैदा कर रही हैं। अब इन सभी 23 कंपनियों को निर्यात नियंत्रण के कड़े प्रावधानों का सामना करना पड़ेगा जो इन्हें अंतरराष्ट्रीय व्यापार से रोक भी सकता है।

सात पाकिस्तानी कंपनियों में तीन के बारे में कहा गया है कि वे असुरक्षित परमाणु गतिविधियों के प्रसार में संलिप्त हैं जो राष्ट्रीय सुरक्षा तथा अमेरिका की विदेश नीति से जुड़े हितों के प्रतिकूल है। दो कंपनियों पर आरोप है कि वे पहले से सूची में शामिल कंपनियों के साथ आपूर्ति-खरीद कर रही हैं। शेष दो कंपनियों के बारे में कहा गया है कि वे सूची में शामिल कंपनियों के मुखौटे की तरह काम कर रही हैं। आठवीं पाकिस्तानी कंपनी सिंगापुर आधारित है। पाकिस्तान ने अभी तक अमेरिका के इस कदम पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।

Promoted Content
Write a comment
international-yoga-day-2018
monsoon-climate-change
Sanju