1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. अमेरिका ने की अतिरिक्त H2B वीजा देने की घोषणा, H1B वीजा नीति की हो रही समीक्षा

अमेरिका ने की अतिरिक्त H2B वीजा देने की घोषणा, H1B वीजा नीति की हो रही समीक्षा

ट्रंप प्रशासन ने फैसला इस आकलन के बाद किया है कि अमेरिकी कंपनियों की जरूरत को सिर्फ अमेरिकी कर्मचारियों से पूरा नहीं किया जा सकता है इसलिए H2B वीजा जरूरी है

Manoj Kumar [Published on:19 Jul 2017, 10:51 AM IST]
अमेरिका ने की अतिरिक्त H2B वीजा देने की घोषणा, H1B वीजा नीति की हो रही समीक्षा- IndiaTV Paisa
अमेरिका ने की अतिरिक्त H2B वीजा देने की घोषणा, H1B वीजा नीति की हो रही समीक्षा

वाशिंगटनवीजा नीति को लेकर अमेरिका से अच्छी खबर आई है। ट्रंप प्रशासन ने कम वेतन वाले विदेशी कामगारों के लिए एकबारगी 15,000 अतिरिक्त H2B वीजा देने की घोषणा की है। ट्रंप प्रशासन ने यह फैसला इस आकलन के बाद किया है कि अमेरिकी कंपनियों की जरूरत को सिर्फ अमेरिकी कर्मचारियों से पूरा नहीं किया जा सकता है।

ट्रंप प्रशासन की दलील है कि यह कदम अमेरिकी कंपनियों के बेहतर हित में उठाया गया है। अमेरिका के आंतरिक सुरक्षा विभाग ने मंगलवार को कहा कि अस्थायी गैर कृषि श्रमिकों की कमी की वजह से अमेरिकी कंपनियों को काफी नुकसान का अंदेशा था। अब ये कंपनियां 15,000 अतिरिक्त अस्थायी गैर कृषि कर्मचारियों की H2B कार्यक्रम के तहत नियुक्ति कर सकेंगी।

हालांकि अमेरिका में भारतीय आईटी कंपनियों की तरफ से भारतीय को काम में रखने के लिए ज्यादा इस्तेमाल होने वाले H1B वीजा पर अभी तक किसी तरह का फैसला नहीं हुआ है। उल्लेखनीय है कि अमेरिका अभी अपनी H1B वीजा नीति की समीक्षा कर रहा है। अमेरिका के नए राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपने चुनाव प्रचार में H1B वीजा पर लगाम लगाने का बयान दिया था। ट्रंप ने चुनाव प्रचार के दौरान कहा था कि वह अमेरिका में काम करने वाली कंपनियों पर दबाव बनाएंगे कि ज्यादा से ज्यादा अमेरिकियों को नौकरी पर रखें। ट्रंप के इस बयान से भारतीय आईटी कंपनियों पर दबाव बढ़ा था। भारतीय आईटी कंपनियां अमेरिका में ज्यादातर H1B वीजा पर ही भारतीयों को नौकरियां देती हैं।

Web Title: अमेरिका ने की अतिरिक्त H2B वीजा देने की घोषणा
Promoted Content
Write a comment
independence-day-2018