1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वैश्विक उद्यमियों को दिया भारत में निवेश का न्यौता, बोले माहौल को बनाया है अनुकूल

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वैश्विक उद्यमियों को दिया भारत में निवेश का न्यौता, बोले माहौल को बनाया है अनुकूल

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि सरकार ने देश में निवेश अनुकूल माहौल बनाने के लिए टैक्‍स समेत विभिन्न क्षेत्रों में सुधारों को आगे बढ़ाया है।

Manish Mishra [Published on:29 Nov 2017, 9:18 AM IST]
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वैश्विक उद्यमियों को दिया भारत में निवेश का न्यौता, बोले माहौल को बनाया है अनुकूल- IndiaTV Paisa
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वैश्विक उद्यमियों को दिया भारत में निवेश का न्यौता, बोले माहौल को बनाया है अनुकूल

हैदराबाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वैश्विक उद्यमियों को भारत में निवेश का न्यौता दिया है। उन्होंने कहा कि सरकार ने देश में निवेश अनुकूल माहौल बनाने के लिए टैक्‍स समेत विभिन्न क्षेत्रों में सुधारों को आगे बढ़ाया है। वैश्विक उद्यमिता सम्मेलन, 2017 को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि 1,200 से अधिक पुराने पड़ चुके कानूनों को समाप्त किया गया, 21 क्षेत्रों में विदेशी निवेश के लिये 87 नियमों को सरल बनाया गया और कई सरकारी प्रक्रियाओं को ऑनलाइन किया गया है। सम्मेलन में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की बेटी और उनकी आधिकारिक सलाहकार इवांका ट्रंप भी भाग ले रही हैं।

मोदी ने कहा कि उनकी सरकार के प्रयासों से व्यापार माहौल सुधरा है और इसी का नतीजा है कि विश्‍व बैंक की कारोबार सुगमता रिपोर्ट मे भारत की रैंकिंग पिछले तीन साल में 142 से 100 पर पहुंच गई। इसके अलावा वैश्विक रेटिंग एजेंसी मूडीज ने भी भारत की साख को उन्नत किया है।

प्रधानमंत्री ने देश के युवा उद्यमियों से कहा कि,

आपमें से हर एक किसी के पास 2022 तक नये भारत के निर्माण में योगदान के लिये कुछ मूल्यवान चीजे हैं। आप बदलाव के वाहक तथा देश के रूपांतरण का जरिया हैं।

प्रधानमंत्री बोले कि  दुनिया भर में अपने उद्यमी दोस्तों से मैं कहना चाहूंगा, आइए और भारत तथा दुनिया के लिये भारत में विनिर्माण कीजिए। मैं भारत की वृद्धि की कहानी में भागीदारी के लिए आप सभी को आमंत्रित करता हूं। और एक बार फिर आपको तहे दिल से समर्थन का आश्‍वासन देता हूं।

मोदी ने कहा कि वृहत आर्थिक नजरिये से स्थिर निवेश अनुकूल माहौल की जरूरत है और उनकी सरकार राजकोषीय तथा चालू खाते के घाटे के साथ मुद्रास्फीति को नियंत्रित करने में सफल रही है। उन्होंने कहा, हमारा विदेशी मुद्रा भंडार 400 अरब डॉलर को पार कर गया है और हम लगातार बड़े पैमाने पर पूंजी प्रवाह आकर्षित कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें : जेटली ने किया पेटीएम पेमेंट्स बैंक का उद्घाटन, पेटीएम विस्तार पर करेगी 20,000 करोड़ रुपए का निवेश

यह भी पढ़ें : I-T डिपार्टमेंट ने 1.16 लाख लोगों को दिया नोटिस, नोटबंदी के बाद किए थे 25 लाख रुपए से अधिक जमा

Promoted Content
auto-expo