1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. NSE पर नहीं हुआ साइबर हमला, सिर्फ सॉफ्टवेयर की दिक्कत से रुकी थी ट्रेडिंग

NSE पर नहीं हुआ साइबर हमला, सिर्फ सॉफ्टवेयर की दिक्कत से रुकी थी ट्रेडिंग

सेबी ने कहा है कि NSE पर सोमवार को जो भी सौदे हुए है फिर चाहे वह कैश सेगमेंट में हों या डेरिवेटिव सेगमेंट में, सभी मान्य होंगे

Manoj Kumar [Published on:11 Jul 2017, 12:57 PM IST]
NSE पर नहीं हुआ साइबर हमला, सिर्फ सॉफ्टवेयर की दिक्कत से रुकी थी ट्रेडिंग- IndiaTV Paisa
NSE पर नहीं हुआ साइबर हमला, सिर्फ सॉफ्टवेयर की दिक्कत से रुकी थी ट्रेडिंग

मुंबई। सोमवार को नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ( NSE ) के 3 घंटे बंद रहने पर शेयर बाजार रेग्युलेटर सेबी ने जबाव दिया है। सेबी ने एक्सचेंज बंद होने पर NSE से जो जबाव मांगा था उसके आधार पर अपनी रिपोर्ट जारी की है। रिपोर्ट में सेबी ने कहा है कि शुरुआती तौर पर यह कहा जा सकता है कि ट्रेडिंग रुकने की वजह साइबर सिक्योरिटी में हुई चूक नहीं बल्कि सॉफ्टवेयर में दिक्कत थी।

सेबी ने कहा है कि NSE पर सोमवार को जो भी सौदे हुए है फिर चाहे वह कैश सेगमेंट में हों या डेरिवेटिव सेगमेंट में, सभी मान्य होंगे।

यह भी  पढ़ें: NSE में कारोबार 3 घंटे ठप होने पर वित्‍त मंत्रालय ने मांगी रिपोर्ट, स्थिति पर SEBI की है करीबी नजर

सेबी ने नेशनल स्टॉक एक्सचेंज को इस पुरे मुद्दे पर डिटेल रिपोर्ट सौंपने को कहा है और निर्देश दिया है कि भविष्य में इस तरह की घटनाओं पर रोक लगाने के लिए अपने बैकअप प्लान की समीक्षा करें और उसपर भी डिटेल रिपोर्ट सौंपें, साथ में यह भी बताएं कि भविष्य में इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए एक्सचेंज क्या कदम उठाने जा रहा है।

सोमवार को नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर तकनीकी खराबी की वजह से करीब सवा तीन घंटे ट्रेडिंग रुकी रही, सामान्य तौर पर सुबह 9 बजे एक्सचेंज पर प्री मार्केट ओपन सत्र की शुरुआत होती है और 9.15 बजे ट्रेडिंग शुरू हो जाती है। लेकिन सोमवार को दोपहर 12.15 बजे प्री ओपन मार्केट सत्र की शुरुआत हुई और 12.30 बजे ट्रेडिंग शुरू हो सकी। 9 से 12 बजे के दौरान एक्सचेंज ने 2 बार तकनीकी दिक्कत दूर करने की कोशिश की लेकिन दोनो बार फेल हुई और आखिर में 12.15 बजे तीसरे प्रयास में ट्रेडिंग शुरू हो सकी।

Web Title: NSE पर साइबर हमला नहीं सिर्फ सॉफ्टवेयर दिक्कत से रुकी थी ट्रेडिंग
Promoted Content
Write a comment
atal-bihari-vajpayee
monsoon-climate-change