1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. रामदेव के पदचिन्‍हों पर चल HUL ने Q3 में कमाया 1326 करोड़ का मुनाफा, GST के फायदे को ग्राहकों तक नहीं पहुंचाने पर दी ये सफाई

रामदेव के पदचिन्‍हों पर चल HUL ने Q3 में कमाया 1326 करोड़ का मुनाफा, GST के फायदे को ग्राहकों तक नहीं पहुंचाने पर दी ये सफाई

पर्सनल केयर सेगमेंट में डव तथा पीयर्स साबुन के साथ फेयर एंड लवली क्रीम के कारोबार में भी अच्छी ग्रोथ दर्ज की गई है। इंदुलेखा ब्रांड के तहत इंदुलेखा भ्रिंगा शैंपू लॉन्च किया है जो बालों को झड़ने से रोकने के लिए एक आयुर्वेदिक दवा है

Reported by: Manoj Kumar [Updated:17 Jan 2018, 6:28 PM IST]
HUL shift focus towards ayurvedic products- IndiaTV Paisa
HUL shift focus towards ayurvedic products net profit rose 28 percent during December quarter, रामदेव की राह पर हिंदुस्तान यूनिलीवर

नई दिल्ली। तेल, साबुन, शैंपू और टूथपेस्ट जैसे FMCG प्रोडक्ट बनाने वाली बड़ी कंपनी हिंदुस्तान यूनिलीवर (HUL) को दिसंबर तिमाही में 28 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 1326 करोड़ रुपए का शानदार मुनाफा हुआ है। कंपनी की तरफ से दी गई जानकारी के मुताबिक दिसंबर तिमाही में उसका शुद्ध लाभ 1326 करोड़ रुपए दर्ज किया गया है, जबकि 2016-17 में समान तिमाही में कंपनी को 1038 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ हुआ था।

आयुर्वेदिक प्रोडक्ट्स पर ध्यान

कंपनी की तरफ से दी गई जानकारी के मुताबिक उसके इंदुलेखा ब्रांड के तहत इंदुलेखा भ्रिंगा शैंपू लॉन्च किया है जो बालों को झड़ने से रोकने के लिए एक आयुर्वेदिक दवा है। HUL के इस कदम से लग रहा है कि वह पतंजलि की राह पर चलते हुए अब आयुर्वेदिक प्रोडक्ट्स की तरफ अपना कारोबार बढ़ा रही है।

इन जगहों से HUL ने की कमाई

HUL के मुताबिक दिसंबर तिमाही के दौरान उसके होम केयर कारोबार में वॉल्यूम के लिहाज से डबल डिजिट ग्रोथ देखने को मिली है। लाउंजरी, हाउसहोल्ड केयर और प्यूरीफायर के कारोबार में ग्रोथ दर्ज की गई है। इसके अलावा पर्सनल केयर सेगमेंट में डव तथा पीयर्स साबुन के साथ फेयर एंड लवली क्रीम के कारोबार में भी अच्छी ग्रोथ दर्ज की गई है। इसके अलावा फूड सेग्मेंट में किसान केचप और जैम के कारोबार में भी अच्छी ग्रोथ दर्ज की गई है।

इस लिए ग्राहकों तक नहीं पहुंच सका घटे हुए GST का फायदा

इस बीच GST का फायदा ग्राहकों तक नहीं पहुंचाने को लेकर HUL को सरकार की तरफ से जो नोटिस आया है, कंपनी ने उसका भी जवाब दिया है। HUL ने कहा है कि सरकार की तरफ से 15 नवंबर को कुछ वस्तुओं पर GST की दर को 28 प्रतिशत से घटाकर 18 प्रतिशत किया गया था और कंपनी ने इस बदलाव को तुरंत प्रभाव से लागू भी किया था। लेकिन काफी मात्रा में स्टॉक पाइपलाइन में होने की वजह से कंपनी के लिए संभव नहीं है कि तुरंत प्रभाव से इसका फायदा ग्राहकों तक पहुंचा दिया जाए। HUL का कहना है कि GST में कटौती से उसने 119 करोड़ रुपए बचाए हैं और इस रकम को कंपनी ने अपने राजस्व में शामिल नहीं किया है बल्कि इसे देनदारी में ही रखा गया है। 

Promoted Content
Write a comment
monsoon-climate-change
Sanju