1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. भारत का 30 करोड़ टन इस्पात उत्पादन का लक्ष्य, इस क्षेत्र में भारत चौथे स्थान पर

भारत का 30 करोड़ टन इस्पात उत्पादन का लक्ष्य, इस क्षेत्र में भारत चौथे स्थान पर

केंद्रीय इस्पात एवं खान राज्यमंत्री विष्णु देव साई ने कहा कि सरकार का स्टील उत्पादन बढ़ाकर 30 करोड़ टन करने का लक्ष्य है।

Dharmender Chaudhary [Published on:29 May 2016, 9:20 PM IST]
भारत का 30 करोड़ टन इस्पात उत्पादन का लक्ष्य, इस क्षेत्र में भारत चौथे स्थान पर- IndiaTV Paisa
भारत का 30 करोड़ टन इस्पात उत्पादन का लक्ष्य, इस क्षेत्र में भारत चौथे स्थान पर

नागपुर। केंद्रीय इस्पात एवं खान राज्यमंत्री विष्णु देव साई ने कहा कि सरकार का स्टील उत्पादन बढ़ाकर 30 करोड़ टन करने का लक्ष्य है। वह यहां सार्वजनिक क्षेत्र की मैंगनीज ओर इंडिया लि. (एमओआईएल) के कामकाज की समीक्षा के लिए यहां आए थे। मंत्री ने कहा, भारत दुनिया में चौथा सबसे बड़ा इस्पात उत्पादक देश है और नरेंद्र मोदी सरकार का दृष्टिकोण 30 करोड़ टन इस्पात उत्पादन के साथ तीसरा स्थान हासिल करना है। हालांकि वर्ल्ड स्टील एसोसिएशन (डब्ल्यूएसए) के अनुसार भारत 2015 में 8.94 करोड़ टन के उत्पादन के साथ पहले ही तीसरा स्थान हासिल कर चुका है। चीन पिछले वर्ष 80.38 करोड़ टन उत्पादन के साथ दुनिया का सबसे बड़ा इस्पात उत्पादक देश है।

साई ने दावा किया कि भाजपा नीत सरकार पूर्व संप्रग शासन के मुकाबले तेजी से काम कर रही है। उन्होंने कहा कि जब नई सरकार सत्ता में आई, तब लाइसेंस से लेकर पट्टे के नवीनीकरण समेत विभिन्न कार्यों से संबद्ध 60,000 आवेदन उनके मंत्रालय के समक्ष लंबित थे। उन्होंने कहा कि सरकार ने नीलामी प्रक्रिया शुरू की और छत्तीसगढ़, झारखंड तथा अन्य स्थानों पर स्थित ब्लाकों की नीलामी की गई।

मंत्री ने कहा कि खान एवं खनिज (विकास एवं नियमन) कानून 1957 की समीक्षा की गई और कई सुधार किए गए। एक सवाल के जवाब में मंत्री ने कहा कि खनिज संसाधन से मालामाल राज्यों द्वारा जिला स्तर पर जिला खनिज फाउंडेशन (डीएमएफ) का गठन किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें- ब्रिटेन में टाटा स्टील के कारखाने को खरीदना चाहते हैं संजीव गुप्ता, ब्रिटिश सरकार करेगी संकटग्रस्त प्लांटों की मदद

Promoted Content
auto-expo