1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. डकैतों ने 3 साल में बैंकों का 180 करोड़ रुपए लूटा, 2600 से ज्यादा डकैती के मामले

डकैतों ने 3 साल में बैंकों का 180 करोड़ रुपए लूटा, 2600 से ज्यादा डकैती के मामले

वित्तवर्ष 2014-15 से लेकर वित्तवर्ष 2016-17 के दौरान 3 साल में डकैतों ने बैंकों की 2,632 डकैतियां की हैं और 180 करोड़ लूटा है

Manoj Kumar [Published on:19 Jul 2017, 9:39 AM IST]
डकैतों ने 3 साल में बैंकों का 180 करोड़ रुपए लूटा, 2600 से ज्यादा डकैती के मामले- IndiaTV Paisa
डकैतों ने 3 साल में बैंकों का 180 करोड़ रुपए लूटा, 2600 से ज्यादा डकैती के मामले

नई दिल्ली। देश के बैंकों के डूबते कर्ज की खबरें तो कई बार सुर्खियां बटोर चुकी हैं लेकिन इस बार बैंकों में पैसों की डकैती की खबर सुर्खियों में आई है। सरकार ने खुद माना है कि बीते 3 साल (वित्तवर्ष) के दौरान डकैतों ने बैकों के करीब 180 करोड़ रुपए लूटे हैं। मंगलवार को केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री संतोष कुमार गंगवार ने राज्यसभा में एक लिखित जबाव में कहा है कि वित्तवर्ष 2014-15 से लेकर वित्तवर्ष 2016-17 के दौरान डकैतों ने बैंकों की 2,632 डकैतियां की हैं और 180 करोड़ लूटा है।

यह भी पड़ें: बढ़ने वाला है आपका मोबाइल बिल, एयरटेल, आइडिया और वोडाफोन ने IUC चार्ज डबल करने का बनाया दबाव

वित्त राज्यमंत्री की तरफ से दी गई जानकारी के मुताबिक देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में 3 साल के दौरान 344 डकैतियां दर्ज की गई हैं जिसमें 30 करोड़ रुपए लूटे गए हैं। इसके बाद बैंक ऑफ बड़ौदा में हुई 188 डकैतियों में 13 करोड़ रुपए, आईसीआईसीआई बैंक से 17.25 करोड़ रुपए, एक्सिज बैंक से 37.34 करोड़ रुपए और एचडीएफसी बैंक से 10.21 करोड़ रुपए की लूट हुई है।

वित्त राज्यमंत्री ने बताया की सरकार ने पहले ही रिजर्व बैंक को कह दिया है कि वह बैंकों को अपनी शाखाओं और एटीएम की सुरक्षा को बढ़ाने के लिए निर्देश जारी करें। बैंकों को लूट की हर घटना की जानकारी रिजर्व बैंक को देने का निर्देश है। साथ में बैंकों के लॉकर में होने वाली चोरियों की जानकारी भी रिजर्व बैंक को देना जरूरी है। बैंक के लॉकर्स में होने वाली चोरियां रोकने के लिए बैंक अपने ग्राहकों से अधिक चार्ज भी नहीं वसूल सकते हैं।

Web Title: डकैतों ने 3 साल में बैंकों का 180 करोड़ रुपए लूटा
Promoted Content
Write a comment
atal-bihari-vajpayee