1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. बजट 2018
  5. Budget 2018: अब ट्रेन में भी मिल सकती हैं 50% तक सस्‍ती टिकटें, सरकार कर रही है प्‍लानिंग

Budget 2018: अब ट्रेन में भी मिल सकती हैं 50% तक सस्‍ती टिकटें, सरकार कर रही है प्‍लानिंग

जल्‍द ही रेलवे में भी आपको 20 से 50 फीसदी तक सस्‍ती टिकटों के ऑफर देखने को मिल सकते हैं।

Written by: India TV Paisa [Updated:23 Jan 2018, 5:20 PM IST]
Railways - IndiaTV Paisa
Railways Photo:PTI

नई दिल्‍ली। एयरलाइंस कंपनियों की ओर से सस्‍ते किराए के ऑफर तो आप अक्‍सर देखते होंगे। लेकिन अब रेलवे भी आम बजट के बाद इसी ओर कदम बढ़ाने की तैयारी कर रही है। जी हां, जल्‍द ही रेलवे में भी आपको 20 से 50 फीसदी तक सस्‍ती टिकटों के ऑफर देखने को मिल सकते हैं। दरअसल रेलवे किराया स‍मीक्षा समिति ने ऐसी ही सिफारिश रेलवे बोर्ड को भेजी है। पिछले कुछ दिनों से शताब्‍दी राजधानी जैसी लक्‍जरी ट्रेनों में सीटें खाली होने की खबरें आ रही थीं, इसे देखते हुए माना जा रहा है कि रेल बोर्ड इस योजना पर विचार कर सकता है।

रेलवे सूत्रों के मुताबिक फिलहाल एयरलाइंस कंपनियां भारी छूट वाले ऑफर्स की मदद से कई महीनों पहले ही सीटें बुक कर लेते हैं। रेलवे भी इसी ओर कदम बढ़ा सकता है। हालांकि यह छूट कितनी होगी यह बात खाली पड़ी सीटों की संख्‍या पर निर्भर करेगा। समिति ने इस बात का सुझाव दिया कि हवाई जहाज में जहां विंडो सीट या फिर आगे की सीट के लिए या‍त्री ज्‍यादा पैसे चुकाते हैं वैसे ही रेलवे भी निचली सीटों के लिए ज्‍यादा पैसे चार्ज कर सकती है। लेकिन समिति ने यह भी सुझाव दिया है कि निचली सीटों का चयन वरिष्ठ नागरिकों, विकलांगों और गर्भवती महिलाओं के लिए पहले की तरह ही नि‍शुल्‍क रहेगा।

इसके अलावा रेलवे बोर्ड के पास ट्रेनों के समय के आधार पर किराया तय करने का सुझाव भी मिला है। सूत्रों के अनुसार समिति ने यह भी सुझाव दिया कि वे ट्रेनें जो कि सुबह के समय अपने गंतव्‍य तक पहुंचती हैं यात्रियों की अतिरिक्‍त सुविधा को देखते हुए उनका किराया रेलवे बढ़ा सकती है। समिति ने यह भी सिफारिश की है कि सीटों की डिमांड एवं सप्‍लाई पर निर्णय जोनल रेलवे पर ही छोडना होगा। इसके अलावा पर्व एवं त्‍योहारों के मौके पर वृद्धिमय प्रणाली लागू की जा सकती है। जिससे रेलवे को अतिरिक्‍त लाभ हो सकता है। 

Promoted Content
Write a comment
monsoon-climate-change
Sanju