1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. ऑटो
  5. मारुति की कारों के लिए घटेगा इंतजार, 18% से ज्यादा बढ़ा उत्पादन

मारुति की कारों के लिए घटेगा इंतजार, 18% से ज्यादा बढ़ा उत्पादन

मारुति ने फरवरी में मिनी सेग्मेंट में 38544 और युटिलीटी सेग्मेंट में 22789 गाड़ियों का उत्पादन किया है। मिनी सेग्मेंट में ऑल्टो और वेगन आर मॉडल आते हैं जबकि युटिलिटी सेग्मेंट में विटारा ब्रेजा, एस-क्रॉस, अर्टिगा और जिप्सी मॉडल आते हैं

Reported by: Manoj Kumar [Updated:07 Mar 2018, 11:23 AM IST]
Maruti Cars- IndiaTV Paisa
Maruti Cars production rose 18 percent during February

नई दिल्ली। अगर आपने भी मारुति की कार बुक करा रखी है और डिलिवरी के लिए लंबा इंतजार हो रहा है तो जल्दी ही आपका इंतजार खत्म हो सकता है। मारुति सुजुकी की तरफ से दी गई जानकारी के मुताबिक फरवरी के दौरान उसके कार उत्पादन में 18 प्रतिशत से ज्यादा की बढ़ोतरी हुई है। उत्पादन में सबसे ज्यादा ग्रोथ कॉम्पेक्ट सेग्मेंट में दर्ज की गई है, फरवरी के दौरान कॉम्पेक्ट सेग्मेंट में कार उत्पादन 29 प्रतिशत से ज्यादा बढ़ा है।

फरवरी में 18% ज्यादा उत्पादन

मारुति सुजुकी की तरफ से जारी किए गए फरवरी उत्पादन के आंकड़ों के मुताबिक कुल 1,62,524 गाड़ियों का उत्पादन हुआ है जबकि पिछले साल फरवरी के दौरान 1,37,155 गाड़ियों का उत्पादन हुआ था। मारुति कि सियाज को छोड़ बाकी सभी सेग्मेंट में कारों का उत्पादन बढ़ा है।

कॉमपेक्ट सेग्मेंट में 29% बढ़ा प्रोडक्सन

फरवरी के दौरान मारुति ने सबसे ज्यादा गाड़ियों कॉम्पेक्ट सेग्मेंट में तैयार की हैं, कॉम्पेक्ट सेग्मेंट में स्विफ्ट, डिजायर, सिलेरियो, बलेनो, इग्निस और इजायर टूअर मॉडल आते हैं और इन सभी मॉडल्स को मिलाकर फरवरी के दौरान कुल 80529 कारों का उत्पादन हुआ है, पिछले साल फरवरी के दौरान 62341 कारों का उत्पादन दर्ज किया गया था।

युटिलिटी मॉडल्स का उत्पादन भी बढ़ा

कॉम्पेक्ट सेग्मेंट के अलावा मिनी सेग्मेंट और युटिलिटी गाड़ियों के उत्पादन में भी इजाफा दर्ज किया गया है। आंकड़ों के मुताबिक फरवरी के दौरान मिनी सेग्मेंट में 38544 और युटिलीटी सेग्मेंट में 22789 गाड़ियों का उत्पादन हुआ है। कंपनी के मिनी सेग्मेंट में ऑल्टो और वेगन आर मॉडल आते हैं जबकि युटिलिटी सेग्मेंट में विटारा ब्रेजा, एस-क्रॉस, अर्टिगा और जिप्सी मॉडल आते हैं।

Promoted Content
Write a comment
international-yoga-day-2018
monsoon-climate-change
Sanju