1. You Are At:
  2. होम
  3. लाइफस्टाइल
  4. हेल्थ
  5. फेफड़े के कैंसर से महिलाएं भी हो सकती है शिकार

आने वाले समय में महिलाओं को भी हो सकता है फेफड़े का कैंसर

 नई दिल्ली: फेफड़ों का कैंसर अब केवल धूम्रपान करने वाले लोगों तक ही सीमित नहीं है। इस खतरनाक और जानलेवा बीमारी की चपेट में सबसे ज्यादा भारतीय पुरुष हैं और आने वाले कुछ सालों में

IANS [Updated:18 Nov 2015, 2:44 PM IST]
फेफड़े के कैंसर से...- Khabar IndiaTV
फेफड़े के कैंसर से महिलाएं भी हो सकती है शिकार

 नई दिल्ली: फेफड़ों का कैंसर अब केवल धूम्रपान करने वाले लोगों तक ही सीमित नहीं है। इस खतरनाक और जानलेवा बीमारी की चपेट में सबसे ज्यादा भारतीय पुरुष हैं और आने वाले कुछ सालों में इसका असर महिलाओं में भी देखने को मिल सकता है। डॉक्टरों का कहना है कि जितनी जल्दी इस बीमारी का पता चलता है, उतना ही बेहतर इलाज किया जा सकता है।

ये भी पढ़े- जानिए, किसे नही करना चाहिए हल्दी वाला दूध का सेवन

सर गंगा राम हॉस्पिटल के सेंटर फॉर चेस्ट सर्जरी के चेयरमैन अरविंद कुमार ने बताया कि पूरे विश्व में फेफड़ों के कैंसर से पीड़ितों में सबसे अधिक संख्या भारतीय पुरुषों की है जिसकी सबसे बड़ी वजह समय रहते इलाज न मिल पाना है और आने वाले समय में इसका असर महिलाओं में भी देखने को मिल सकता है।


कुल मिलाकर आने वाले समय में हमारा देश फेफड़ों की बीमारियों से ग्रसित हो सकता है। ठीक समय पर बीमारी की पहचान और सही इलाज से इस बीमारी को वश में किया जा सकता है।

डॉक्टरों और वैज्ञानिकों की तरह पूरी दुनिया इस बीमारी को बेहतर तरीके से समझने की कोशिश कर रही है। रोगियों में इस खतरनाक बीमारी के प्रति जागरूकता की कमी होना ही चिंता का सबसे बड़ा विषय है।

अरविंद कुमार कहते हैं कि तगड़ी सर्दी, बलगम और कफ जैसे लक्षण दिखाई देने पर सावधानी बरतते हुए किसी अच्छे डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए, लेकिन जागरूकता की कमी की वजह से लोग अक्सर मौसम को जिम्मेदार बताते हुए हल्दी दूध और घरेलू नुस्खों को आजमाते हैं।

ये भी पढ़े- खजूर खानें से पाएं स्ट्रोक जैसी बीमारियों से निजात

अगली स्लाइड में पढ़े पूरी जानकारी

Khabar IndiaTv पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी रीड करते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Health News in Hindi के लिए क्लिक करें khabarindiaTv का लाइफस्टाइल सेक्‍शन
Web Title: फेफड़े के कैंसर से महिलाएं भी नहीं अछूती
Promoted Content
Write a comment
independence-day-2018