1. You Are At:
  2. होम
  3. भारत
  4. उत्तर प्रदेश
  5. योगी राज में मंदिरों पर चला बुलडोजर, काशी में सौ से ज्यादा मंदिरों को तोड़ा गया!

योगी राज में मंदिरों पर चला बुलडोजर, काशी में सौ से ज्यादा मंदिरों को तोड़ा गया!

दावा किया जा रहा है कि काशी में मंदिर तोड़े जाने के बाद यहां शहर में आंदोलन शुरु हो गया है और अलग-अलग इलाके में लोग जुलूस निकले रहे हैं। इतना ही नहीं जिन जगहों पर मंदिर पर बुल्डोजर चला है वहां जाकर कुछ लोग प्रदर्शन कर रहे हैं।

Written by: Khabarindiatv.com [Published on:13 Jun 2018, 1:44 PM IST]
Hundreds of temple demolished in Varanasi and Kashi- Khabar IndiaTV
योगी राज में मंदिरों पर चला बुलडोजर, काशी में सौ से ज्यादा मंदिरों को तोड़ा गया!

नई दिल्ली: सोशल मीडिया में दावा किया जा रहा है कि वाराणसी में 100 से ज्यादा हिंदू मंदिरों पर बुलडोजर चला दिया गया है। प्राचीन मंदिरों को पूरी तरह नेश्तोनाबूत कर दिया गया है जिससे वाराणसी के लोग नाराज़ हैं। लोग सोशल मीडिया में टूटे हुए प्राचीन मंदिरों की तस्वीरें भी अपलोड कर रहे हैं। मलबें में पड़े शिवलिंगो के फोटो शेयर कर रहे हैं। दावा ये किया जा रहा है कि बनारस में मंदिरों के साथ-साथ सैकड़ो साल पुरानी इमारतों को भी गिराया गया है। इन तस्वीरों के सामने आने के बाद सोशल मीडिया में सनसनी मच गई।

फेसबुक, ट्विटर और व्हाट्सऐप पर लोग इन तस्वीरों को देखकर हैरान हैं। वाराणसी में मंदिर के तोड़े जाने से लोग नाराज हैं। लोगों का ये मानना है कि सरकार के इस कदम से काशी की पहचान और प्राचीन धरोहर को नष्ट किया जा रहा है। सोशल मीडया में ऐसे कई वीडियो वायरल हो रहे हैं जिसमें ये दावा किया जा रहा है कि काशी में मंदिर तोड़े जाने के बाद यहां शहर में आंदोलन शुरु हो गया है और अलग-अलग इलाके में लोग जुलूस निकले रहे हैं। इतना ही नहीं जिन जगहों पर मंदिर पर बुल्डोजर चला है वहां जाकर कुछ लोग प्रदर्शन कर रहे हैं।

विरोध कर रहे इन तमाम वीडियो में एक सन्यासी नजर आ रहे हैं। बताया जा रहा है कि इनका नाम स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद है। विरोध करने वालों का मानना है कि बनारस में जिस तरह से मंदिरों पर बुल्डोजर चले हैं और जिस तरह से लोगों के घरों को तोड़ा जा रहा है उससे काशी की पहचान ही खत्म हो जाएगी। सोशल मीडिया में दावा किया जा रहा है कि बनारस में पिछले कुछ महीनों में 100 से ज्यादा मंदिरों को तोड़ा जा चुका है। उन मंदिरों को भी गिराया गया है जो 500 साल तक पुराने हैं। बताया जा रहा है कि सरकार के इस रवैये से शहर के लोग नाराज हैं और जिन लोगों के घरों को तोड़ा गया है वो अब आंदोलन कर रहे हैं।

सोशल मीडिया के दावे हैरान करने वाले हैं। बनारस ही क्या, देश के किसी भी शहर में 100 से ज्यादा मंदिर तोड़ देना, सैकड़ों घरों में बुल्डोजर चला देना कोई मामूली बात नहीं है। काशी हिंदुओं की आस्था के सबसे बड़े केंद्रो में से एक है। बनारस अपनी आध्यात्मिकता के लिए पूरी दुनिया में मशहूर है। यहां हर चौराहे पर मंदिर, घरों और गलियों में मंदिर है। ये शहर मंदिरों का शहर है। यहां के पतली घुमावदार संकरी गलियों में हर तरफ मंदिर ही मंदिर है। वायरल खबर का रिश्ता इसी बनारस शहर से है इसलिए इंडिया टीवी ने फौरन इस खबर की तहकीकात काशी में शुरु की। तहकीकात में क्या आया सामने, जानने के लिए देखिए वीडियो...

Khabar IndiaTv पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी रीड करते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Uttar Pradesh News in Hindi के लिए क्लिक करें khabarindiaTv का भारत सेक्‍शन
Web Title: योगी राज में मंदिरों पर चला बुलडोजर, काशी में सौ से ज्यादा मंदिरों को तोड़ा गया! - Hundreds of temple demolished in Varanasi and Kashi
Promoted Content
Write a comment
international-yoga-day-2018
monsoon-climate-change
Sanju