1. You Are At:
  2. होम
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. WhatsApp से बातचीत के साथ-साथ अब आप कर सकेंगे पैसे ट्रांसफर

WhatsApp से बातचीत के साथ-साथ अब आप कर सकेंगे पैसे ट्रांसफर

अब आप Whatsapp से वित्‍तीय लेनदेन भी कर सकेंगे। NPCI ने Whatsapp को UPI के जरिये वित्‍तीय लेनदेन की सुविधा उपलब्‍ध कराने की मंजूरी दे दी है।

Edited by: Khabarindiatv.com [Published on:11 Jul 2017, 11:20 PM IST]
whatsapp- Khabar IndiaTV
whatsappPhoto:PTI

नई दिल्ली: अब आप Whatsapp से वित्‍तीय लेनदेन भी कर सकेंगे। NPCI ने Whatsapp को UPI के जरिये वित्‍तीय लेनदेन की सुविधा उपलब्‍ध कराने की मंजूरी दे दी है।

नई दिल्‍ली। अब आप Whatsapp (व्‍हाट्सएप) से दोस्‍तों के साथ बातचीत करने के साथ ही साथ वित्‍तीय लेनदेन भी कर सकेंगे। नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) ने Whatsapp को यूनीफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (UPI) के जरिये वित्‍तीय लेनदेन की सुविधा उपलब्‍ध कराने हेतु बैंकों के साथ गठजोड़ करने की मंजूरी दे दी है।

NPCI ने UPI को लॉन्‍च किया है और यह एक मोबाइल एप्‍लीकेशन है, जो 24 घंटे मोबाइल फोन के जरिये तेज मनी ट्रांसफर में मदद करती है। एक मोबाइल एप के जरिये ग्राहक कई सारे बैंक एकाउंट को एक्‍सेस कर सकता है। एनपीसीआई के एमडी और सीईओ एपी होता ने इस खबर की पुष्‍टी की है। व्‍हाट्सएप अब एक्सिस बैंक, आईसीआईसीआई बैंक और पंजाब नेशनल बैंक के साथ गठजोड़ के लिए बातचीत कर रहा है।

वहीं दूसरी ओर गूगल ने भी अपने यूपीआई पेमेंट्स सर्विस की टेस्टिंग पूरी कर ली है और उसे अब आरबीआई से मंजूरी मिलने का इंतजार है। एनपीसीआई ने यह भी बताया कि फेसबुक भी यूपीआई पेमेंट सर्विस शुरू करने के लिए बातचीत कर रही है। अधिकारियों ने बताया कि गूगल अपने एंड्रॉयड पे एप्‍लीकेशन क साथ एक अलग से एप ला जा सकती है।

होता के मुताबिक 50 बैंक यूपीआई के सदस्‍य हैं, जिसमें से 37 ने स्‍वयं के यूपीआई एप्‍लीकेशन विकसित किए हैं। कुछ बैंकों ने यूपीआई के लिए आवेदन करने के बजाये अपने थर्ड पार्टी सर्विस प्रदाताओं से एप विकसित करने के लिए कहा है। ट्रूकॉलर, फोनपे, चिल्‍लर जैसी 16 फि‍नटेक कंपनियां यहां मौजूद हैं। सरकार ने वित्‍त वर्ष 2017-18 तक 25 अरब डिजिटल पेमेंट्स का लक्ष्‍य रखा है। पिछले साल डिजिटल पेमेंट्स की संख्‍या 9.2 अरब थी, जिसमें एनपीसीआई की हिस्‍सेदारी 3.5 अरब की थी।

Promoted Content
auto-expo