1. You Are At:
  2. होम
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. करीब आधी रात को गुजरात में दस्तक देगा चक्रवाती तूफान ‘ओखी’

करीब आधी रात को गुजरात में दस्तक देगा चक्रवाती तूफान ‘ओखी’

चक्रवात अब धीरे-धीरे गुजरात की तरफ बढ़ रहा है और सूरत से महज 390 किलोमीटर अरब सागर में केंद्रित है। इसके उत्तर-उत्तर पश्चिमी दिशा की तरफ बढ़ने की बहुत संभावना है...

Reported by: Bhasha [Updated:05 Dec 2017, 4:14 PM IST]
cyclone- Khabar IndiaTV
cyclone

अहमदाबाद: चक्रवाती तूफान ओखी आज गुजरात में सूरत के पास दक्षिणी तट के करीब पहुंच गया और करीब आधी रात के समय राज्य में इसके दस्तक देने की संभावना है। स्थानीय मौसम केंद्र की ओर से जारी ताजा पूर्वानुमान के मुताबिक चक्रवात अब सूरत से महज 390 किलोमीटर दूर है।

मौसम केंद्र के एक अधिकारी ने बताया कि चक्रवात अब धीरे-धीरे गुजरात की तरफ बढ़ रहा है और सूरत से महज 390 किलोमीटर अरब सागर में केंद्रित है। इसके उत्तर-उत्तर पश्चिमी दिशा की तरफ बढ़ने की बहुत संभावना है।

आज भारतीय मौसम विभाग की ओर से जारी ताजा बुलेटिन के मुताबिक, चक्रवात आज रात सूरत के पास तटरेखा तक पहुंचने की आशंका है। बुलेटिन के मुताबिक, ‘‘इसके उत्तर-उत्तरपश्चिम की तरफ बढ़ने, धीरे-धीरे कमजोर पड़ने और फिर पांच दिसंबर की रात गहरे दबाव के रूप में दक्षिण गुजरात एवं सूरत के पास महाराष्ट्र के तटों तक पहुंचने की बहुत अधिक संभावना है।’’

मौसम विभाग ने ज्यादातर जगहों पर मध्यम बारिश का पूर्वानुमान किया है जबकि सौराष्ट्र एवं दक्षिण गुजरात में कुछ जगहों पर भारी बारिश होगी। विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक, कई जिलों में आज सुबह से ही हल्की बारिश हुई। हालांकि, पूरे राज्य में बादल छाए हुए हैं। मौसम केंद्र ने चेतावनी दी है कि जब चक्रवात गुजरात तट पर पहुंचेगा तो हवा की रफ्तार 50 एवं 60 किलोमीटर प्रति घंटे के बीच रहेगी और दक्षिण गुजरात में 70 किलोमीटर प्रति घंटे तक पहुंच सकती है।

गुजरात के राजस्व विभाग के प्रधान सचिव पंकज कुमार के मुताबिक, कम से कम नौ जिलों में आज सुबह से हल्की बारिश हुई है या फुहारें पड़ी हैं। कुमार ने बताया कि दक्षिणी गुजरात के धर्मारपुर में अधिकतम बारिश (25 मिमी) दर्ज की गई।

बोटाड, अरवल्ली, छोटा उदयपुर, दाहोद, महिसागर, साबरकांठा, नवसारी और राजकोट जिलों में भी हल्की बारिश हुई। कुमार ने बताया कि गुजरात के मुख्य सचिव जे एन सिंह ने तटीय जिलों के कलेक्टरों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए होने वाली बैठक बुलाई है ताकि किसी भी स्थिति से निपटने के लिए उनकी तैयारियों की समीक्षा की जा सके।

Promoted Content
auto-expo