1. You Are At:
  2. होम
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. भैय्यू जी महाराज: एक मॉडल से संत बनने तक का सफर

भैय्यू जी महाराज: एक मॉडल से संत बनने तक का सफर

भैय्यूजी महाराज का असली नाम उदय सिंह शेखावत है। मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र में लोग उन्हें भैय्यूजी महाराज के नाम से जानते हैं।

Written by: Khabarindiatv.com [Updated:12 Jun 2018, 5:52 PM IST]
Bhaiyyuji Maharaj- Khabar IndiaTV
Bhaiyyuji Maharaj

नई दिल्ली:  भैय्यूजी महाराज देश में सुर्खियों में तब आए थे जब अन्ना का अनशन तुड़वाने में उन्होंने अहम भूमिका निभाई थी। भैय्यूजी महाराज का असली नाम उदय सिंह शेखावत है। मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र में लोग उन्हें भैय्यूजी महाराज के नाम से जानते हैं। इन इलाकों में उनके हजारों समर्थक हैं। वे अन्ना के सामाजिक कामों से प्रभावित रहे हैं और उनके काफी करीबी भी रहे हैं। आपको बता दें कि भैय्यूजी महाराज ने गोली मारकर खुदकुशी कर ली है। बताया जा रहा है कि उन्होंने इंदौर स्थित अपने आवास पर ही खुद को गोली मार ली। भैय्यूजी महाराज को निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां इलाज के दौरान उनकी मृत्यु हो गई।

भैय्यूजी महाराज का जन्म 29 अप्रैल 1968 में मध्य प्रदेश के शाजापुर जिले के शुजालपुर में हुआ था। कभी कपड़ों के एक ब्रांड के विज्ञापन के लिए मॉडलिंग कर चुके भैय्यू जी महाराज अब गृहस्थ संत हैं। सदगुरु दत्त धार्मिक ट्रस्ट उनके ही देखरेख में चलता है। भैय्यूजी का मुख्य आश्रम इंदौर के बापट चौराहे पर है। उनकी पत्नी माधवी का दो साल पहले देहांत हो चुका है।

Bhayyuji Maharaj

Bhayyuji Maharaj

भैय्यूजी महाराज गृहस्थ जीवन जीनेवाले संत थे। वह कभी ट्रैक सूट में तो कभी पैंट-शर्ट में भी दिखते थे। एक किसान की तरह वह अपने खेतों को जोतते-बोते थे तो बढ़िया क्रिकेट भी खेलते थे। घुड़सवारी और तलवारबाजी में भी वे अव्वल रहे। य़ुवा अवस्था में उन्होंने सियाराम शूटिंग-शर्टिंग के लिए मॉडलिंग भी की। 

उनकी पहली शादी से उनकी एक बेटी कुहू है, जो पुणे में रहकर पढ़ाई कर रही है। भैय्यूजी महाराज ने 30 अप्रैल 2017 को एमपी के शिवपुरी की डॉ. आयुषी के साथ दूसरा विवाह रचाया। मर्सीडीज जैसी महंगी गाड़ियों में चलने वाले भय्यू जी रोलेक्स ब्रांड की घड़ी पहनते हैं और आलीशान बिल्डिंग में रहते हैं।

भैय्यूजी महाराज तब चर्चा में आए थे जब 2011 में अन्ना हजारे के अनशन को खत्म करवाने के लिए तत्कालीन केंद्र सरकार ने अपना दूत बनाकर भेजा था। बाद में उन्होंने भैज्यूजी महाराज के हाथ से जूस पीकर अनशन तोड़ा था। 

प्रधानमंत्री बनने के पहले गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में नरेंद्र मोदी जब सद्भावना उपवास पर बैठे थे तब उपवास तुड़वाने के लिए उन्होंने भय्यू महाराज को आमंत्रित किया था। 

भैय्यूजी महाराज के राजनीतिक संपर्क भी अच्छे-खासे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत, उद्धव ठाकरे, राज ठाकरे, समेत कई राजनीतिक हस्तियों से उनके बेहतर ताल्लुकात हैं। 

Khabar IndiaTv पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी रीड करते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें khabarindiaTv का भारत सेक्‍शन
Web Title: भैय्यू जी महाराज: एक मॉडल से संत बनने तक का सफर
Promoted Content
Write a comment
international-yoga-day-2018
monsoon-climate-change
Sanju