1. Home
  2. Events
  3. Income Tax Series
income tax series
  • PAN CARD - इनकम टैक्स रिटर्न भरने की पहली सीढ़ी

    PAN CARD - इनकम टैक्स रिटर्न भरने की पहली सीढ़ी

    नई दिल्ली. इनकम टैक्स डिपार्टमेंट में आपकी नुमाइंदगी पैन कार्ड ही करता है। अगर आप के पास पैन कार्ड नहीं तो मान लीजिए कि आयकर दफ्तर की फाइलों में आपका अस्तित्व ही नहीं है। समझ लीजिए इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की पहली सी़ढ़ी ही पैन कार्ड है। इसलिए आज से शुरु होने वाली इस टैक्स सीरीज में पहले बात पैन कार्ड की। ... और पढ़ें

  • इन पांच तरीकों से हुई आय तो देना होगा टैक्स

    इन पांच तरीकों से हुई आय तो देना होगा टैक्स

    नई दिल्ली. इनकम टैक्स रिटर्न भरते समय फॉर्म के दूसरे हिस्से में बतायी जाने वाली आय मुख्यत: 5 रूप में होती है। सीधे शब्दों में कहें तो इनकम टैक्स की भाषा में आय के मुख्यत: पांच स्रोत होते हैं। पहला भाग सैलरी और पेंशन से होने वाली आय है। जो आपके नियोक्ता द्वारा प्रदान की जाती है। आय का दूसरा स्रोत हाउस या प्रॉपर्टी से होनी वाली आय है। ... और पढ़ें

  • सैलरी सिर्फ CTC नहीं होती समझिए इसकी पूरी ABCD

    सैलरी सिर्फ CTC नहीं होती समझिए इसकी पूरी ABCD

    नई दिल्ली. सैलरी वह एकमुश्त राशि होती है जिसे हमारे काम के एवज में दिया जाता है। जब मालिक-सेवक, नियोक्ता और कर्मचारी के बीच संबध के कारण आपको कुछ राशि दी जाती है तो उसे वेतन, मेहनताना और तनख्वाह कहा जाता है। अगर तकनीकी भाषा में समझाया जाए तो जहां कहीं भी आपसे सेवाएं ली जाती हैं और आपके द्वारा सेवाएं दी जाती हैं ... और पढ़ें

  • पूरी सीटीसी नहीं, सैलरी के कुछ हिस्से पर लगता है टैक्स, जाने

    पूरी सीटीसी नहीं, सैलरी के कुछ हिस्से पर लगता है टैक्स

    नई दिल्ली. जब कोई कंपनी आपको किसी खास पद के लिए चुनती है तो वह एक लेटर देती है जिसमें इन हैंड सैलेरी से लेकर उन तमाम सुविधाओं का डेटा मौजूद होता है जो कंपनी अपने हर कर्मचारी को मुहैया कराती है। इस पूरे डाटा को HR की भाषा में CTC कहा जाता है। जैसा कि आप जानते है आपकी सैलेरी पर एक निश्चित राशि करयोग्य होती है ... और पढ़ें

  • सैलरी से टीडीएस कटौती के बाद भी रिटर्न भरना जरूरी

    सैलरी से टीडीएस कटौती के बाद भी रिटर्न भरना जरूरी

    नई दिल्ली. आमतौर पर कुछ लोग यह मान लेते हैं कि उनकी सैलरी से टीडीएस कट जाने के बाद इनकम टैक्स रिटर्न भरना जरूरी नहीं होता, लेकिन ऐसा नहीं है। टीडीएस कटौती के बाद भी आपकी देनदारी बनती है। खबर इंडिया टीवी के टैक्स एक्सपर्ट बलवंत जैन के मुताबिक अगर आपकी सैलरी में से टीडीएस काटा जा चुका है ... और पढ़ें

  • फॉर्म 16 और 16ए क्यों है जरूरी समझिए टैक्स की नजर से

    फॉर्म 16 और 16ए क्यों है जरूरी समझिए टैक्स की नजर से

    नई दिल्ली. नौकरीपेशा लोग आमतौर पर इस बात से अनजान होते हैं कि उनके नौकरी करने के सबूत के तौर पर भी एक फॉर्म भरवाया जाता है। दो तरीके के फॉर्म यह बताने के लिए काफी हैं कि आप किसी संस्थान में फलां पद पर कार्यरत हैं। इन फॉर्म के इस्तेमाल से कंपनी के जरिए आपको मिलने वाली तमाम सेवाओं की जानकारी प्राप्त की जा सकती है। ... और पढ़ें

  • जानिए किन तरीकों से बचा सकते हैं अपना टैक्सं

    जानिए किन तरीकों से बचा सकते हैं अपना टैक्स

    नई दिल्ली. आप साल भर कमाई करने के बाद आखिरी महीनों में इसी उधेड़बुन में लगे रहते हैं कि आपको टैक्स भरना है। टैक्स भरने के दौरान ही हममे से काफी सारे लोग बड़ी गलती करते हैं। अधिकांश लोग सिर्फ सामान्य सा गणित लगाकर अपना टैक्स भरकर पिंड छुड़ा लेते हैं, लेकिन उन्हें मालूम ही नहीं होता कि वो कई तरीकों से कर छूट प्राप्त कर सकते हैं। ... और पढ़ें

  • इन स्त्रोतों से आयपर कोई कर नहीं

    इन स्त्रोतों से आयपर कोई कर नहीं

    नई दिल्ली. इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने के दौरान इस उलझन में हैं कि आय के किन किन स्त्रोतों पर कर लगता है, तो अब परेशान मत होइए क्योंकि हम अपनी खबर में आपके उन तमाम सवालों का जवाब देने की कोशिश करेंगे जो आप जैसे ही तमाम करदाताओं की परेशानी का सबब बनते हैं। इस खबर के जरिए विस्तार से जानिए ... और पढ़ें

  • आपके लिए कौन सा आईटीआर फॉर्म जरूरी, जानें

    आपके लिए कौन सा आईटीआर फॉर्म जरूरी, जानें

    नई दिल्ली. अगर आप ITR फाइल करने जा रहे हैं तो पहले यह खबर पढ़ लें। यह खबर आपको बताएगी कि ITR फॉर्म कितने तरीके का होता है और किन किन वजहों से कौन कौन से फॉर्म करदाताओं को भरने होते हैं। इस खबर में संक्षेप में बताने की कोशिश की गई है कि बतौर करदाता आमदनी के लिहाज से कौन सा फॉर्म भरना आपके लिए जरूरी होता है। ... और पढ़ें

  • आयकर कानून में सीनियर सिटिजन को कितनी सहूलियत?

    आयकर कानून में सीनियर सिटिजन को कितनी सहूलियत?

    नई दिल्ली. आयकर विभाग के तमाम नियम कायदों को समझना आसान नहीं होता। हर उम्र वर्ग के लिए आयकर विभाग अलग अलग नियम बनाता है। सबसे ज्यादा रियायत और सहूलियत वरिष्ठ और वरिष्ठतम नागरिकों को दी जाती है। यह एक ऐसा वर्ग है जो आमतौर पर मिलने वाली सहूलियतों से अनजान होता है।और पढ़ें

  • क्या आप भी वेल्थ टैक्स के दायरे में आते हैं?, ऐसे समझें

    क्या आप भी वेल्थ टैक्स के दायरे में आते हैं?, ऐसे समझें

    नई दिल्ली. वेल्थ टैक्स के बारे में ज्यादा लोग नहीं जानते हैं। काफी कम लोग यह टैक्स अदा हैं। अगर किसी ऐसेट की मार्केट वैल्यू 30 लाख से ज्यादा है, तो उस पर यह टैक्स लगता है। ऐसेट की कुल वैल्यू का 1 फीसदी वैल्थ टैक्स के रूप में देना पड़ता है। वेल्थ टैक्स अनप्रॉडक्टिव, गैर-जरूरी और बेकार ऐसेट्स को टारगेट करता है। ... और पढ़ें

  • गिफ्ट पर भी लग सकता है टैक्स, जानें कैसे

    गिफ्ट पर भी लग सकता है टैक्स, जानें कैसे

    नई दिल्ली. कार्पोरेट जगत में काम करते हैं तो बतौर करदाता एक सवाल आपको जरूर परेशान करता होगा कि क्या किसी के जरिए मिला गिफ्ट भी टैक्स के दायरे में आता है। इस सवाल का जवाब हम आपको अपनी खबर के जरिए देने की कोशिश करेंगे। खबर इंडिया टीवी की यह खबर आपको सीमित शब्दों में बताने की कोशिश ... और पढ़ें

alt
  • जाने क्यों देना पड़ता है एडवांस टैक्स

    जाने क्यों देना पड़ता है एडवांस टैक्स

    नई दिल्ली. आप अक्सर सुनते होंगे कि फलां बड़े आदमी ने अपना टैक्स एडवांस में जमा करा दिया है, क्या आपने कभी सोचा है कि एडवांस टैक्स किस सूरत में अदा करना पड़ता है। इसके लिए आपको अपने माथे पर बल देने की जरूरत नहीं है, हमारी खबर पढ़कर ही आपका काम हो जाएगा, तो जानिए किन किन सूरत में करदाताओं को देना होता है एडवांस टैक्स। ... और पढ़ें

  • आयकर विभाग की नोटिस का कुछ यूं दे जवाब

    आयकर विभाग की नोटिस का कुछ यूं दे जवाब

    नई दिल्ली. आयकर विभाग का आपको नोटिस भेजना हमेशा नकारात्मक नहीं होता। विभाग का नोटिस मिल जाने के बाद अक्सर घबरा जाने वाले लोगों के लिए हमारी यह खबर बेहद काम की है। खबर इंडिया टीवी की इस खबर में हम आपको बताएंगे कि आपको अगर आयकर विभाग नोटिस थमाता है तो आप घबराने के बजाए क्या करें। ... और पढ़ें

  • टैक्स अधिकारी न सुने तो क्या करें?

    टैक्स अधिकारी न सुने तो क्या करें?

    नई दिल्ली. आयकर विभाग की किसी गलती को लेकर परेशान है या वहां से आए नोटिस के जवाब के रुप में विभाग में कोई भी आपकी सुनवाई को तैयार नहीं है तो घबराएं नहीं हम अपनी खबर में आपको बताएंगे कि आप इस स्थिति में क्या कर सकते हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि सबपर निगाह रखने वाले आयकर विभाग का भी अपना एक नियामक होता है ... और पढ़ें

  • टैक्स नहीं भरते तो जुर्माने को रहें तैयार

    टैक्स नहीं भरते तो जुर्माने को रहें तैयार

    नई दिल्ली. वित्त वर्ष के आखिरी महीनों में अक्सर लोग इस बात से परेशान रहते हैं कि अगर उन्होंने अपना इनकम टैक्स रिटर्न फाइल नहीं किया तो न जाने कौन-कौन सी सजा भुगतनी पड़े। आमतौर पर लोग अपनी सालभर की आदमनी को देखते हुए रिटर्न की भी बेहतर तैयारी कर लेते हैं, लेकिन कुछ ऐसे भी होते हैं रिटर्न फाइल करने को इतना ... और पढ़ें

  • संभलिए, ब्लैक मनी पर भी रहती है आयकर विभाग नजर

    संभलिए, ब्लैक मनी पर भी रहती है आयकर विभाग नजर

    नई दिल्ली. आमतौर पर नौकरीपेशा लोग यही मानते हैं कि आयकर विभाग सिर्फ उन जैसे लोगों पर ही पैनी नजर रखता है, लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि कालेधन को लेकर भी आयकर विभाग काफी सतर्कता बरत रहा है। हाल ही में पास हुए एक कानून के जरिए काले धन पर आयकर विभाग का शिकंजा भी मजबूत जान पड़ता है। ... और पढ़ें

  • सवाल-जवाब से समझिए टैक्स का गणित

    सवाल-जवाब से समझिए टैक्स का गणित

    नई दिल्ली. करदाता अक्सर तमाम तरह की मुश्किलों से घिरे रहते हैं, उनकी परेशानियों की वजहें काफी छोटी-छोटी होती हैं। ऐसे में हम अपनी खबर के जरिए आपको सवाल-जवाब के माध्यम से उन तमाम उलझनों का हल देने की कोशिश करेंगे, जिनसे हर तरह का करदाता परेशान रहता है, तो जरूर पढ़िए यह खबर, क्योंकि यह बेहद काम की है। ... और पढ़ें

Don’t Miss

  • नौकरी बदलें तो जरूर कर लें ये 3 काम, ITR फाइलिंग में मिलेगा आराम

    नई दिल्ली. सुरभि एक नौकरीपेशा पत्रकार हैं और हाल ही में उन्होंने अपनी नौकरी बदली है, उनकी कुछ गलतियों की वजह से अब उन्हें ITR फाइलिंग के दौरान मुश्किल हो रही हैं। ऐसे में आपके लिए यह जानना जरूरी है कि नौकरी बदलने के बाद अगर आप सिर्फ तीन काम करते हैं तो आपको रिटर्न फाइलिंग के दौरान किसी भी प्रकार की मुश्किल नहीं आएगी। ... और पढ़ें

  • इनकम टैक्स रिटर्न भरना हुआ आसान, वन टाइम पासवर्ड ने खोली राह

    इनकम टैक्स रिटर्न भरना हुआ आसान, वन टाइम पासवर्ड ने खोली राह

    नई दिल्ली. सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेस (सीबीडीटी) ने इनकम टैक्स भरने के लिए वन टाइम पासवर्ड की बेहतरीन सुविधा लॉन्च कर करदाताओं के लिए नई राहें खोल दी हैं। अब आपको ITR फाइलिंग के बाद हार्ड कॉपी बेंगलुरु नहीं भेजनी होगी, मगर इसके लिए भी कुछ शर्ते शामिल हैं, मसलन आपकी आय 5 लाख रुपए से ज्यादा नहीं होनी चाहिए। ...और पढ़ें

  • इनकम टैक्स रिटर्न गलत भर जाने पर भी होती है सुधार की गुंजाइश

    इनकम टैक्स रिटर्न गलत भर जाने पर भी होती है सुधार की गुंजाइश

    नई दिल्ली. डेट ऑफ बर्थ, पत्राचार का पता, बैंक अकाउंट डिटेल और एसेसमेंट इयर के चयन संबंधी गलतियां ITR फाइलिंग के दौरान आम होती हैं, लेकिन इस सूरत में घबराने के बजाए हमें धीरज से काम लेना चाहिए। आयकर विभाग रिटर्न फाइलिंग के दौरान होने वाली गलतियों में सुधार के कई मौके देता है, हालांकि यह समय सीमा के भीतर होनी चाहिए। ...और पढ़ें

  • सालाना कमाते हैं 7 लाख तो भी न दें टैक्स, ये है तरीका

    सालाना कमाते हैं 7 लाख तो भी न दें टैक्स, ये है तरीका

    नई दिल्ली. अगर आप सालाना अच्छी खासी कमाई करते हैं तो यह खबर आपके काम की है। मसलन अगर आप 12 या 13 लाख के आस पास की सालाना कमाई करते हैं तो भी आप कुछ स्मार्ट निवेश के जरिए 8 लाख से अधिक की आमदनी को आयकर के जरिए बचा सकते हैं। यानी आप बेहतर निवेश कम टैक्स देकर अपनी जेब में ज्यादा पैसे बचा पाएंगे। ...और पढ़ें

  • कैसे जल्दी हासिल करें अपना TDS रिफंड, ये है तरीका

    कैसे जल्दी हासिल करें अपना TDS रिफंड, ये है तरीका

    नई दिल्ली. तारीख तो याद ही होगी न आपको। 31 अगस्त 2015। यह आईटीआर भरने की अंतिम तारीख है। ऐसे में जब अभी कुछ दिन शेष बचे हैं तो आपको कुछ खास बाते बताना जरूरी है। हम अपनी खबर के जरिए आपको बताएंगे कि आप जब अपना आईटीआर भरें तो टीडीएस की जानकारी देना न भूलें। अगर आप ऐसा करते हैं ...और पढ़ें

  • चेक करें अपना इनकम टैक्स रिटर्न स्टेटस, ये है आसान तरीका

    चेक करें अपना इनकम टैक्स रिटर्न स्टेटस, ये है आसान तरीका

    नई दिल्ली. हाल ही में वित्त मंत्रालय द्वारा जारी किए गए फॉर्म को अधिकांश लोगों ने भरा होगा जिसे काफी संशोधन के बाद सामने लाया गया था, लेकिन क्या आप जानते हैं कि फॉर्म भरने के बाद अपने अपने फॉर्म का स्टेटस जान सकते हैं। अगर यह बात नहीं जानते तो यह खबर आपके काम की है। जाने आईटीआर फॉर्म का ऑनलाइन स्टेटस कैसे चेक किया जाता है। ...और पढ़ें

One Year of Modi Government