Movie Review Fanney Khan: अंत तक आते-आते रास्ते से भटक गई 'फन्ने खां'

Movie Review Fanney Khan: उम्मीदों और सपनों की कहानी है ‘फन्ने खां’। एक ऐसा पिता जो खुद मोहम्मदर रफी तो नहीं बन पाया लेकिन अपनी बेटी को लता मंगेशकर बनाना चाहता है। वो अपनी बेटी को एक बड़ा मंच दिलाने के लिए किसी भी हद तक जाने के लिए तैयार है।

Jyoti Jaiswal [Updated:03 Aug 2018, 4:04 PM IST]
Movie Review Fanney Khan

Movie Review Fanney Khan

Photo:TWITTER
  • फिल्म रिव्यू: फन्ने खां
  • स्टार रेटिंग: 2.5 / 5
  • पर्दे पर: 3 अगस्त 2018
  • डायरेक्टर: अतुल मांजरेकर
  • शैली: म्यूजिकल ड्रामा

Movie Review Fanney Khan: उम्मीदों और सपनों की कहानी है ‘फन्ने खां’। एक ऐसा पिता जो खुद मोहम्मदर रफी तो नहीं बन पाया लेकिन अपनी बेटी को लता मंगेशकर बनाना चाहता है। वो अपनी बेटी को एक बड़ा मंच दिलाने के लिए किसी भी हद तक जाने के लिए तैयार है।

Movie Review Fanney Khan

सुपरस्टार बनने का ख्वाब देखने वाला प्रशांत शर्मा (अनिल कपूर) को उनके दोस्त फन्ने खां नाम से बुलाते हैं। वो शम्मी कपूर को भगवान की तरह पूजता था। लेकिन उसे सफलता नहीं मिलती है अब वो अपने सपने अपनी बेटी से पूरे करवाना चाहता है। बेटी का नाम भी वो लता रखता है। वो गाती भी बहुत अच्छा है, लेकिन प्लस साइज होने की वजह से उसे स्टेज पर बॉडी शेमिंग का शिकार होना पड़ता था।

Movie Review Fanney Khan

फिल्म में कई-उतार चढ़ाव आते हैं, जिसे अनिल कपूर और उनकी बेटी बनी लता (पीहू) बखूबी जीते हैं। राजकुमार राव और दिव्या दत्ता भी अपने रोल में फिट हैं। हालांकि ऐश्वर्या राय के किरदार पर ज्यादा मेहनत नहीं की गई है। फिल्म में वो एक सिंगर बनी हैं, और काफी खूबसूरत भी लगी हैं। लेकिन किडनैपिंग के बाद जिस तरह उनका मेकअप कभी खराब नहीं होता, आईलैशेज और ब्लश वैसा का वैसा ही रहता है। ये सब चीजें थोड़ी खटकती हैं। फिल्म में कॉमेडी अच्छी है लेकिन इमोशन्स की कमी है। इसलिए एक बेहतरीन कहानी होने के बावजूद बहुत ज्यादा प्रभाव छोड़ने में यह फिल्म असफल रही है।

Movie Review Fanney Khan

यह एक म्यूजिकल फिल्म है इसके बावजूद ‘अच्छे दिन’ गाने को छोड़कर गाने कुछ खास नहीं लगे हैं। अनिल कपूर और राजकुमार राव के फैन हैं तो ये फिल्म एक बार देख सकते हैं। इंडिया टीवी इसे दे रहा है 2.5 स्टार।

Promoted Content
atal-bihari-vajpayee