इरादा

Irada Movie Review starrer Naseeruddin Shah, Arshad Warsi, Divya Dutta, Sharad Kelkar, Sagarika Ghatge

India Tv Entertainment Desk [Published on:17 Feb 2017, 5:13 PM IST]
Irada
Irada
  • फिल्म रिव्यू: Irada
  • स्टार रेटिंग: 2 / 5
  • पर्दे पर: Feb 17, 2017
  • डायरेक्टर: अपर्णा सिंह
  • शैली: ड्रामा फिल्म

बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता नसीरुद्दीन शाह और अरशद वारसी के अभिनय से सजी फिल्म 'इरादा' शुक्रवार को सिनेमाघरों में रिलीज हो चुकी है। यह फिल्म समाज के एक गंभीर मुद्दे पर आधरित है। नसीरुद्दीन और अरशद की जोड़ी 'इश्कियों' और 'ढ़ेड इश्किया' जैसी फिल्मों में धमाल मचा चुकी है। अब देखना है कि इस फिल्म में इन दोनों ने क्या कमाल किया है। वैसे दर्शकों को इनसे काफी उम्मीदें हैं।

कहानी:-

फिल्म की कहानी के बारे में बात करें तो यह पंजाब की एक बड़ी कैमिकल कंपनी के इर्द गिर्द घूमती है। इस कंपनी की गैस का पानी ज़मीन के काफी नीचे जाकर लोगों के पीने के पीना में मिल रहा है। इसी पानी के कारण रिटायर्ड आर्मी ऑफिसर परबजीत वालिया (नसीरुद्दीन शाह) की बेटी रिया (रूमान मोल्ला) भी बीमार पड़ जाती है। लेकिन फैक्टरी के इस काम में मुख्यमंत्री रमनदीप (दिव्या दत्ता) और बिजनेसमैन पैडी (शरद केलकर) शामिल है। लेकिन एक दिन अचानक इस फैक्टरी में ब्लास्ट हो जाता है, जिसके बाद इस मामले की जांच के लिए एक इंटेलिजेंस ऑफिसर अर्जुन मिश्रा (अरशद वारसी) को बुलाया जाता है। इस मामले की जांच करते हुए अर्जुन के सामने रिवर्स बोरिंग के साथ और भी कई चौंकाने वाले खुलासे होते हैं। इस दौरान फिल्म में कई तरह से ट्विस्ट आते हैं।

अभिनय:-

फिल्म में नसीरुद्दीन शाह के अभिनय की बात करें तो उन्होंने एक बार फिर अपनी प्रतिभा दिखाने में कोई कमी नहीं छोड़ी है। रिटायर्ड आर्मी अफसर की भूमिका में नसीरुद्दीन काफी शानदार दिख रहे हैं। वहीं अरशद वारसी जैसे प्रभावशाली अभिनेता इंटेलिजेन्स ऑफिसर की भूमिका में किसी से कम नहीं दिख रहे। एक भ्रष्ट नेता के किरदार में दिव्या दत्ता वाकई जबरदस्त नजर आ रही हैं। शरद केलकर भी ठीक ठाक कोशिश करते हुए दिख रहे हैं।

निर्देशन:-

अपर्णा सिंह के निर्देशन में बनी इस फिल्म में जिस कॉन्सेप्ट को उठाया गया है वह काफी शानदार है, लेकिन इसे उस मजबूती के साथ पर्दे पर पेश नहीं किया गया, जिसकी उम्मीद की जा रही थी। नसीरुद्दीन शाह और दिव्य दत्ता के फिल्म में होने की वजह से इससे काफी उम्मीदें बढ़ गई थीं, लेकिन बेहतरीन किरदारों के होने के बावजूद भी फिल्म में जान नहीं डाली गई। पहले हाफ तक फिल्म दर्शकों पर थोपने जैसी लगती है, लेकिन इंटरवल के बाद यह कुछ स्पीड पकड़ती है।

क्यो देखें:-

फिल्म में एक नया कॉन्सेप्ट देखने को मिलेगा। फिल्म की कहानी काफी नई है। वहीं अगर आप एक बार फिर नसीरुद्दीन और अरशद को साथ देखना चाहते हैं तो इस फिल्म को देखने के लिए सिनेमाघरों का रुख कर सकते हैं।

Promoted Content
auto-expo