Live TV
  1. Home
  2. पैसा
  3. मेरा पैसा
  4. SBI सहित पांच बैंकों ने 0.9...

SBI सहित पांच बैंकों ने 0.9 फीसदी तक घटाईंं ब्‍याज दरें, होम और कार लोन लेना हुआ सस्‍ता

SBI ने जहां विभिन्‍न परिपक्‍वता वाली बेचमार्क लेंडिंग रेट में 0.9 फीसदी तक की कटौती की है। PNB और यूनियन बैंक ऑफ इंडिया ने भी की है ब्‍याज दरों में कटौती।

Manish Mishra
Manish Mishra 02 Jan 2017, 11:40:35 IST

नई दिल्‍ली। नव वर्ष की पूर्व संध्‍या पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा की गई अपील के अगले ही दिन यानि रविवार को बैंकों ने अपने ग्राहकों को नए साल का उपहार ब्‍याज दरें घटा कर दिया है। देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने जहां विभिन्‍न परिपक्‍वता वाली बेचमार्क लेंडिंग रेट में 0.9 फीसदी तक की कटौती की है वहीं पंजाब नेशनल बैंक (PNB) ने 0.7 फीसदी और यूनियन बैंक ऑफ इंडिया ने अपने MCLR (मार्जिनल कॉस्‍ट लेंडिंग रेट) में 0.65 फीसदी की कटौती की है।

ब्‍याज दरें घटने से होम, ऑटो और पर्सनल लोन लेने पर ब्‍याज का भुगतान कम करना होगा। पिछले सप्ताह SBI के सहायक बैंक स्टेट बैंक आफ त्रावणकोर ने कर्ज की दरों में 0.3 प्रतिशत की कटौती की थी। वहीं IDBI बैंक ने इसमें 0.6 प्रतिशत की कटौती की थी।

यह भी पढ़ें : नए साल पर महंगाई का पहला झटका, पेट्रोल 1.29 रुपए और डीजल 97 पैसे हुआ महंगा

अब इतनी हो गई हैं ब्‍याज दरें

  • SBI की ब्याज दर 10 साल में सबसे कम हो गई है। नई दरें रविवार से लागू भी हो गईं हैं।
  • इस रेट कट के बाद बैंक का एक साल का मार्जिनल कॉस्ट लेंडिंग रेट (MCLR) 8.90 से घटकर 8 फीसदी के स्तर पर आ गया है।
  • PNB ने भी एक साल के एमसीएलआर में 0.7 फीसदी की कटौती की है। अब यह 8.45 फीसदी होगा।
  • इसके अलावा यूनियन बैंक ऑफ इंडिया ने MCLR को 0.65 फीसदी घटाकर 8.65 फीसदी कर दिया है।

तस्‍वीरों में समझिए कि क्‍या होता है एटीएम कार्ड पर लिखे अंकों के मतलब

ATM card number

IndiaTV Paisa

IndiaTV Paisa

IndiaTV Paisa

IndiaTV Paisa

दूसरे बैंक भी घटा सकते हैं ब्‍याज दर

  • प्रतिस्‍पर्धा के इस माहौल में दूसरे बैंकों को भी अपनी बाजार हिस्‍सेदारी बरकरार रखने केे लिए ब्याज दरों में कटौती करनी पड़ेगी।
  • नई दरों का फायदा नए ग्राहकों को मिलेगा, जबकि पुराने ग्राहक लॉक-इन पीरियड खत्म होने के बाद नए MCLR रेट पर शिफ्ट हो सकते हैं।
  • लॉक इन पीरियड लोन एग्रीमेंट के हिसाब से एक महीने से तीन साल तक का हो सकता है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 31 दिसंबर को राष्ट्र के नाम अपने संदेश में कहा था

इतिहास गवाह है कि भारतीय बैंकिंग सिस्टम में इससे पहले इतने कम समय में इतना अधिक फंड कभी नहीं आया था। बैंकों की स्‍वायत्‍तता का सम्मान करते हुए मैं उनसे ट्रेडिशनल प्रायरिटी से आगे देखने की अपील करता हूं। वे गरीब, लोअर मिडल क्लास और मिडल क्लास पर फोकस करें।

यह भी पढ़ें : जनधन खातों में जमा धन दोगुना होकर 87,000 करोड़ रुपए के स्‍तर पर पहुंची

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने ट्वीट कर कहा

ब्याज दरों में कटौती का असर गरीबों और मिडिल क्लास को मिलेगा, इससे देश की अर्थव्यवस्था को भी तेजी मिलेगी। करीब एक फीसदी तक कटौती के बाद घर, गाड़ी और दूसरे कर्ज सस्ते हो जाएंगे, ये पीएम नरेंद्र मोदी का ही विजन है जिसका फायदा देश के लोगों को मिल रहा है।

Web Title: SBI सहित पांच बैंकों ने 0.9 फीसदी तक घटाईंं ब्‍याज दरें