Live TV
  1. Home
  2. पैसा
  3. मेरा पैसा
  4. वित्त वर्ष 2017-18 के लिए ब्याज...

वित्त वर्ष 2017-18 के लिए ब्याज दरों में बदलाव नहीं करेगा EPFO, 5 करोड़ अंशधारकों को इस साल भी मिलेगा 8.65% का ब्‍याज

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) अपने करीब 5 करोड़ अंशधारकों के लिए 2017-18 को लेकर भविष्य निधि पर ब्याज दर 8.65 प्रतिशत पर अपरिवर्तित रख सकता है। न्यासी बोर्ड (CBT) की बैठक 21 फरवरी 2018 को होने वाली है।

Manish Mishra
Edited by: Manish Mishra 12 Feb 2018, 20:18:46 IST

नई दिल्ली कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) अपने करीब 5 करोड़ अंशधारकों के लिए 2017-18 को लेकर भविष्य निधि पर ब्याज दर 8.65 प्रतिशत पर अपरिवर्तित रख सकता है। न्यासी बोर्ड (CBT) की बैठक 21 फरवरी 2018 को होने वाली है। EPFO ने चालू वित्त वर्ष के लिए ब्याज दर 8.65 प्रतिशत बनाए रखने के लिए अंतर को पूरा करने को लेकर इस महीने की शुरूआत में 2,886 करोड़ रुपए मूल्य के एक्सचेंज ट्रेडेड फंड बेच चुका है।

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ने 2016-17 के लिये 8.65 प्रतिशत ब्याज दर की घोषणा की थी। यह 2015-16 में यह 8.8 प्रतिशत थी। सूत्रों ने कहा कि EPFO ने 1,054 करोड़ रुपए पर 16 प्रतिशत रिटर्न कमाया है। यह चालू वित्त वर्ष के लिये अंशधारकों को 8.65 प्रतिशत ब्याज देने के लिए पर्याप्त है।

चालू वित्त वर्ष के लिये आय अनुमान को न्यासियों के एजेंडे में वितरित नहीं किया गया है और इसे बैठक के दौरान रखा जाएगा। उसने कहा कि EPFO द्वारा चालू वित्त वर्ष के लिए आय अनुमान के बाद ईटीएफ बेचने का फैसला किया गया।

EPFO अगस्त 2015 से ईटीएफ में निवेश कर रहा है और अबतक ईटीएफ निवेश का लाभ नहीं उठाया। EPFO ने अबतक ईटीएफ में 44,000 करोड़ रुपए का निवेश किया है। न्यासियों की बैठक के एजेंडे में चालू वित्त वर्ष के लिये ईपीएफ जमा पर ब्याज दर निर्धारण का प्रस्ताव भी शामिल हैं।

Web Title: वित्त वर्ष 2017-18 के लिए ब्याज दरों में बदलाव नहीं करेगा EPFO, 5 करोड़ अंशधारकों को इस साल भी मिलेगा 8.65% का ब्‍याज