Live TV
  1. Home
  2. पैसा
  3. बाजार
  4. सेंसेक्‍स की इन टॉप 6 कंपनियों...

सेंसेक्‍स की इन टॉप 6 कंपनियों में निवेशकों के डूबे 52,000 करोड़ रुपए, TCS के निवेशकों को हुआ सबसे अधिक नुकसान

बाजार पूंजीकरण (मार्केट कैप) के लिहाज से सेंसेक्‍स में शामिल टॉप 6 कंपनियों का बाजार पूंजीकरण बीते सप्ताह कुल मिलाकर 52,000 करोड़ रुपए से अधिक घटा। इनमें आईटी कंपनी टीसीएस के बाजार पूंजीकरण में सबसे अधिक गिरावट दर्ज की गई।

Manish Mishra
Edited by: Manish Mishra 18 Mar 2018, 12:40:40 IST

नई दिल्ली। बाजार पूंजीकरण (मार्केट कैप) के लिहाज से सेंसेक्‍स में शामिल टॉप 6 कंपनियों का बाजार पूंजीकरण बीते सप्ताह कुल मिलाकर 52,000 करोड़ रुपए से अधिक घटा। इनमें आईटी कंपनी टीसीएस के बाजार पूंजीकरण में सबसे अधिक गिरावट दर्ज की गई। आलोच्य सप्ताह में टीसीएस का बाजार पूंजीकरण 40,008.61 करोड़ रुपए घटकर 5,40,881.96 करोड़ रुपए रह गया। शुक्रवार को समाप्त आलोच्य सप्ताह में रिलायंस इंडस्ट्रीज, टीसीएस, एचडीएफसी, एचयूएल, ओएनजीसी तथा एसबीआई के बाजार पूंजीकरण में भी गिरावट दर्ज की गई।

वहीं इसी दौरान बाजार पूंजीकरण के हिसाब से दस शीर्ष कंपनियों में एचडीएफसी बैंक, आईटीसी, मारुति सुजुकी इंडिया व इन्फोसिस का बाजार पूंजीकरण बढ़ा। वहीं आरआईएल का बाजार पूंजीकरण 7,316.53 करोड़ रुपए घटकर 5,70,435.32 करोड़ रुपए तथा ओएनजीसी का बाजार पूंजीकरण 2,887.48 करोड़ रुपए घटकर 2,27,661.59 करोड़ रुपए रह गया।

इसी तरह एचडीएफसी का बाजार पूंजीकरण 989.2 करोड़ रुपए घटकर 2,99,893.64 करोड़ रुपए तथा एसबीआई का बाजार पूंजीकरण 474.76 करोड़ रुपए घटकर 2,18,045.68 करोड़ रुपए रह गया। हिंदुस्तान यूनीलीवर (एचयूएल) का बाजार पूंजीकरण 324.67 करोड़ रुपए घटकर 2,81,190.10 करोड़ रुपए रह गया।

दूसरी ओर इन्फोसिस का बाजार पूंजीकरण 1,987.55 करोड़ रुपए बढ़कर 2,56,087.40 करोड़ रुपए हो गया। आईटीसी का बाजार पूंजीकरण 1,577.79 करोड़ रुपए बढ़कर 3,17,976.53 करोड़ रुपए व एचडीएफसी बैंक का बाजार पूंजीकरण 1,115.32 करोड़ रपये बढ़कर 4,81,791.07 करोड़ रुपए हो गया। मारुति सुजुकी का बाजार पूंजीकरण इस दौरान 782.38 करोड़ रुपए बढ़कर 2,62,518.14 करोड़ रुपए हो गया।

आलोच्य सप्ताह में बाजार पूंजीकरण के लिहाज से दस शीर्ष कंपनियों में आरआईएल पहले स्थान पर रही। उसके बाद टीसीएस, एचडीएफसी बैंक, आईटीसी, एचडीएफसी, एचयूएल, मारुति, इन्फोसिस, ओएनजीसी व एसबीआई का नंबर रहा।