Live TV
  1. Home
  2. पैसा
  3. बिज़नेस
  4. रिलायंस का मार्केट कैप पहली बार...

रिलायंस का मार्केट कैप पहली बार 7 लाख करोड़ के पार, टीसीएस के बाद मुकाम पाने वाली बनी दूसरी कंपनी

गुरुवार को 100 करोड़ डॉलर के क्‍लब में दोबारा शामिल होने वाली रिलायंस इंडस्‍ट्रीज़ ने शुक्रवार को एक और मुकाम हासिल कर लिया। रिलायंस इंडस्‍ट्रीज़ का बाजार पूंजीकरण (मार्केट कैप) 7 लाख करोड़ रुपए के पार पहुंच गया।

India TV Paisa
Written by: India TV Paisa 13 Jul 2018, 10:51:10 IST

नई दिल्‍ली। गुरुवार को 100 करोड़ डॉलर के क्‍लब में दोबारा शामिल होने वाली रिलायंस इंडस्‍ट्रीज़ ने शुक्रवार को एक और मुकाम हासिल कर लिया। रिलायंस इंडस्‍ट्रीज़ का बाजार पूंजीकरण (मार्केट कैप) 7 लाख करोड़ रुपए के पार पहुंच गया। मुकेश अंबानी के नेतृत्‍व वाली रिलायंस इंडस्‍ट्रीज़ ने पहली बार यह मुकाम हासिल किया है। इससे पहले सिर्फ टाटा कंसल्‍टेंसी सर्विसेज़ (टीसीएस) ही एकमात्र भारतीय कंपनी थी जो इस स्‍तर के पार पहुंची थी।

गुरुवार को जबदस्‍त तेजी के बाद आज फिर रिलायंस के शेयरों में उछाल के साथ शुरुआत की। बाजार के शुरुआत घंटे में ही बीएसई पर रिलायंस का शेयर 2.5 फीसदी की तेजी के साथ 1107 अंकों पर पहुंच गया। इसी के साथ ही सुबह 9.52 बजे रिलायंस की मार्केट कैप भी 7.01 लाख करोड़ हो गई। हालांकि कंपनी कंपनी कुछ ही देर इस स्‍तर पर टिक सकी और कंपनी के शेयरों में मामूली दबाव देखा गया। आपको बता दें कि बीएसई के डाटा के मुताबिक 7.55 लाख करोड़ के मार्केट कैप के साथ टीसीएस भारत की सबसे बड़ी कंपनी है।

बीएसई के आंकड़ों पर गौर करें तो पिछले 6 ट्रेडिंग सपें में रिलायंस का शेयर 15 फीसदी चढ़ चुका है। 5 जुलाई को कंपनी की 41वीं एजीएम के बाद से कंपनी की मार्केट कैप में 902 अरब रुपए का इजाफा देखने को मिला है। इसी एजीएम में कंपनी ने अपने अगले उत्‍पाद यानि कि हाईस्‍पीड फिक्‍स लाइन ब्रॉडबैंड सर्विस को लॉन्‍च किया था। कंपनी ने इसे जियो गीगाफाइबर नाम दिया है।

रिलायंस इंडस्ट्री की तरफ से जल्दी ही जून तिमाही के लिए तिमाही नतीजे घोषित होंगे, बाजार के जानकार इस बार जून तिमाही में कंपनी को अच्छा मुनाफा होने की उम्मीद जता रहे है जिस वजह से निवेशक रिलायंस इंडस्ट्री के शेयर में दबा कर खरीदारी कर रहे हैं। निवेशकों और कारोबारियों की खरीदारी बढ़ने की वजह से कंपनी के शेयर में उछाल आया है और कंपनी के बाजार मूल्य में भी बढ़ोतरी हुई है।