Live TV
  1. Home
  2. पैसा
  3. बिज़नेस
  4. PM मोदी के 4 साल के...

PM मोदी के 4 साल के दौरान अंबानी, अडानी या टाटा नहीं बल्कि इस ग्रुप की कंपनियों को हुआ सबसे ज्यादा ‘लाभ’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सत्ता संभाले हुए पूरे 4 साल हो गए हैं और इस मौके पर उनके 4 साल में किए गए काम का लेखा जोखा किया जा रहा है। इसी कड़ी में आज हम बात करेंगें शेयर बाजार में लिस्ट उन बड़ी कंपनियों की जिनकी बाजार मूल्य में पिछले 4 साल के दौरान तेजी से इजाफा हुआ है

Manoj Kumar
Reported by: Manoj Kumar 27 May 2018, 15:39:42 IST

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सत्ता संभाले हुए पूरे 4 साल हो गए हैं और इस मौके पर उनके 4 साल में किए गए काम का लेखा जोखा किया जा रहा है। इसी कड़ी में आज हम बात करेंगें शेयर बाजार में लिस्ट उन बड़ी कंपनियों की जिनकी बाजार मूल्य में पिछले 4 साल के दौरान तेजी से इजाफा हुआ है। शेयर बाजार में लिस्ट सभी कंपनियों के कुल बाजार मूल्य की बात करें तो 4 साल के दौरान कुल लिस्टेड कंपनियों के बाजार मूल्य में 50 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा का इजाफा हुआ है, 4 साल पहले बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्ट कंपनियों का कुल बाजार मूल्य लगभग 95 लाख करोड़ रुपए होता था जो अब 147 लाख करोड़ करोड़ रुपए के पार है।

HDFC की कंपनियों को सबसे ज्यादा फायदा

मौजूदा समय में देश की 5 बड़ी कंपनियों में से 2 कंपनियां HDFC ग्रुप की हैं, HDFC बैंक तीसरी सबसे बड़ी कंपनी है और पिछले 4 साल के दौरान HDFC बैंक के बाजार मूल्य में करीब 155 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। 4 साल पहले HDFC बैंक के शेयर का भाव 789 रुपए के करीब था और उसका बाजार मूल्य 2.05 लाख करोड़ रुपए के करीब था लेकिन आज HDFC बैंक के शेयर का भाव 2011 रुपए के ऊपर है और उसका बाजार मूल्य भी 5.22 लाख करोड़ रुपए को पार कर गया है। इसी ग्रुप की कंपनी हाउसिंग डेवलप्मेंट फाइनेंस कार्पोरेशन (HDFC) के बाजार मूल्य में भी पिछले 4 साल के दौरान 95 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है और यह 1.56 लाख करोड़ रुपए से बढ़कर 3.05 लाख करोड़ रुपए हो गया है।

मुकेश अंबानी की कंपनी को भी पहुंचा लाभ

देश के सबसे धनी व्यक्ति मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्री के बाजार मूल्य में पिछले 4 साल के दौरान 63.45 प्रतिशत का इजाफा हुआ है। मौजूदा समय में रिलायंस इंडस्ट्री के शेयर का भाव 921 रुपए के ऊपर है और इसके आधार पर कंपनी का बाजार मूल्य 5.84 लाख करोड़ रुपए के करीब है, 4 साल पहले जब नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बने थे तो उस समय रिलायंस इंडस्ट्री के शेयर का भाव 563 रुपए के ऊपर और बाजार मूल्य 3.57 लाख करोड़ रुपए के करीब था।

टाटा की कई कंपनियों को फायदा तो कुछ को नुकसान

टाटा ग्रुप और देश की सबसे बड़ी कंपनी टीसीएस है, पिछले 4 साल के दौरान टीसीएस के बाजार मूल्य में करीब 69 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है, 4 साल पहले टीसीएस के शेयर का भाव 2127 रुपए के करीब था और उसका बाजार मूल्य 4.07 लाख करोड़ रुपए के करीब था, लेकिन अब शेयर बढ़कर 3590 रुपए के करीब आ गया है और बाजार मूल्य भी बढ़कर 6.9 लाख करोड़ रुपए के करीब है। हालांकि टाटा ग्रुप की बड़ी कंपनी टाटा मोटर्स को पिछले 4 साल के दौरान बाजार मूल्य के लिहाज से नुकसान हुआ है, 4 साल पहले टाटा मोटर्स का बाजार मूल्य लगभग 1.23 लाख करोड़ रुपए के करीब था जो अब 85000 करोड़ रुपए के करीब है, टाटा ग्रुप की एक अन्य बड़ी कंपनी टाटा स्टील की बात करें तो उसके बाजार मूल्य में 4 साल के दौरान करीब 26 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है और यह 50700 करोड़ रुपए से बढ़कर 63900 करोड़ रुपए के करीब पहुंचा है।

अडानी की कुछ कंपनियों को फायदा और कुछ को नुकसान

पिछले 4 साल के दौरान अडानी ग्रुप की कुछेक कंपनियों को फायदा हुआ है तो कुछेक को नुकसान हुआ है। अडानी एंटरप्राइसेस का बाजार मूल्य करीब 38 प्रतिशत बढ़कर 13670 करोड़ रुपए तक पहुंचा है जबकि अडानी पोर्ट्स के बाजार मूल्य में 67 प्रतिशत बढ़ोतरी हुई है और यह 78700 करोड़ रुपए के करीब है। हालांकि अडानी पावर का बाजार मूल्य 69 प्रतिशत घटकर सिर्फ 7733 करोड़ रुपए रह गया है।

ITC का बाजार मूल्य 19 प्रतिशत बढ़ा

देश की चौथी बड़ी कंपनी आईटीसी (ITC) को भी पिछले 4 साल के दौरान लाभ पहुंचा है जिस वजह से 4 साल में कंपनी का बाजार मूल्य करीब 19 प्रतिशत बढ़कर 3.31 लाख करोड़ रुपए हो गया है। 4 साल पहले कंपनी का बाजार मूल्य लगभग 2.78 लाख करोड़ रुपए था।

Web Title: PM मोदी के 4 साल के दौरान अंबानी, अडानी या टाटा नहीं बल्कि इस ग्रुप की कंपनियों को हुआ सबसे ज्यादा ‘लाभ’