Live TV
  1. Home
  2. पैसा
  3. बिज़नेस
  4. Under Lens: BoB ने अपने टॉप...

Under Lens: BoB ने अपने टॉप मैनेजर्स को बांटे iPhone, 6000 करोड़ के मनीलॉन्ड्रिंग में फंसा है बैंक

6,000 करोड़ रुपए का काधालन विदेश भेजने के आरोपों का सामना कर रहे बैंक ऑफ बड़ौदा ने अपने बोर्ड डायरेक्‍टर्स व सीनियर मैनेजमेंट अधिकारियों को आईफोन बांटे हैं।

Abhishek Shrivastava
Abhishek Shrivastava 28 Oct 2015, 12:04:10 IST

नई दिल्‍ली। देश्‍ा का दूसरा सबसे बड़ा सार्वजनिक बैंक बैंक ऑफ बड़ौदा कीमुश्किलें कम होती नजर नहीं आ रही हैं। 6,000 करोड़ रुपए का काधालन विदेश भेजने के आरोपों का सामना कर रहे बैंक ऑफ बड़ौदा ने हाल ही में अपने बोर्ड डायरेक्‍टर्स और सीनियर मैनेजमेंट अधिकारियों को आईफोन बांटे हैं। बैंक के इस कदम की खूब आलोचना हो रही है। मीडिया रिपोर्ट में कहा जा रहा है कि चालू वित्‍त वर्ष की पहली तिमाही में बैंक का नेट प्रॉफि‍ट 23 फीसदी घटा है, दूसरी ओर बैंक मनीलॉन्ड्रिंग आरोपों से घिरा है और वह अपने अधिकारियों को आईफोन बांटने में लगी है।

Insight of BoB : जानिए क्‍या हुआ देश के दूसरे सबसे बड़े बैंक ‘बैंक ऑफ बड़ौदा’ के साथ

बैंक के इतिहास में पहली बार बंटे महंगे फोन

बैंक के दो अधिकारियों ने पहचान न बताने की शर्त पर कहा कि यह पहली बार है, जब 107 साल पुराने इस सार्वजनिक बैंक ने अपने टॉप मैनेजमेंट को इस तरह का पर्क ऑफर किया है। शायद यह पहली बार है कि किसी सार्वजनिक बैंक ने अपने टॉप मैनेजर्स को इतने महंगे फोन दिए हैं।

बैंक ने ली थी मंजूरी

जब बैंक से इस बारे में पूछा गया तो उसने कहा कि आईफोन बांटने पर आए खर्च को पीएंडएल स्‍टेटमेंट में विविध खर्च में डाला गया है। आईफोन बांटने पर बैंक ऑफ बड़ौदा ने कहा कि वह एक टेक्‍नोलॉजी द्वारा संचालित बैंक है, इसलिए उसके टॉप मैनेजमेंट को बेहतर व उन्‍नत टेक्‍नोलॉजी से लेस होना जरूरी है। बैंक ने आगे कहा कि फाइनेंशियल सर्विस इंडस्‍ट्री में टेक्‍नोलॉजी एक प्रमुख कारक है और इसलिए बैंक ने टॉप मैनेजमेंट को यह स्‍मार्टफोन वितरित किए हैं। बैंक ने कहा कि आईफोन वितरित करने से पहले सभी आवश्‍यक मंजूरियां ली गई थीं। यह फोन जनरल मैनेजर और उनसे ऊपर के अधिकारियों को दिए गए हैं। चालू वित्‍त वर्ष की पहली तिमाही के दौरान बोर्ड बैठक में स्‍मार्टफोन बांटने पर फैसला लिया गया था।

D-Code: Swiss Bank की खुली पोल, फि‍ल्‍मों की तरह कोड-वर्ड का होता था इस्‍तेमाल

नेट प्रॉफि‍ट 23 फीसदी घटा

अप्रैल-जून तिमाही में बैंक ऑफ बड़ौदा का नेट प्रॉफि‍ट 23 फीसदी घटकर 1052 करोड़ रुपए रहा है। इस तिमाही में बैंक का कर्मचारी खर्च 22 फीसदी बढ़कर 1345 करोड़ रुपए रहा है। बैंक का कहना है कि उसने सैलरी रिवीजन के एरियर का भुगतान किया है, इस वजह से यह खर्च बढ़ा है। 64 जीबी स्‍टोरेज क्षमता वाले आईफोन की कीमत तकरीबन 60,000 रुपए है और पहली तिमाही में बैंक ने ऐसे 60 आईफोन बांटे हैं। बैंक ने बताया कि चेयरमैन रवि वेंकाटेशन, बैंक बोर्ड में सरकार के प्रतिनिधी मोहम्‍मद मुस्‍तफा और मैनेजिंग डायरेक्‍टर व सीईओ पीएस जयकुमार ने आईफोन नहीं लिए हैं।

Web Title: कालाधन विदेश भेजने के आरोपी बैंक ऑफ बड़ौदा ने बांटे एप्‍पल आईफोन