Live TV
  1. Home
  2. पैसा
  3. बिज़नेस
  4. IPL के इतिहास में पहली बार...

IPL के इतिहास में पहली बार सभी 8 टीमों को हो सकता है फायदा, जानिए कहां से आते हैं पैसे और कहां होता है खर्च

इंडियन प्रीमियर लीग यानि IPL के 11 सीजन के इतिहास में ऐसा पहली बार होने जा रहा है कि सभी 8 टीमों को फायदा पहुंचे, पिछले 10 सीजन में ऐसा कभी नहीं हुआ है कि सभी 8 टीमें कमाई करके निकली हों, लेकिन इस बार यह तय है कि टीम चाहे पहले नंबर पर हो या फिर आठवें नंबर पर, कमाई तो जरूर होगी

Reported by: Manoj Kumar 02 May 2018, 13:07:06 IST
Manoj Kumar

नई दिल्ली। इंडियन प्रीमियर लीग यानि IPL के 11 सीजन के इतिहास में ऐसा पहली बार होने जा रहा है कि सभी 8 टीमों को फायदा पहुंचे, पिछले 10 सीजन में ऐसा कभी नहीं हुआ है कि सभी 8 टीमें कमाई करके निकली हों, लेकिन इस बार यह तय है कि टीम चाहे पहले नंबर पर हो या फिर आठवें नंबर पर, कमाई तो जरूर होगी। एक IPL टीम में वरिष्ठ पद पर काम कर चुके एक अधिकारी ने नाम नहीं छापने की शर्त पर यह जानकारी दी है।

हर टीम कम से कम करेगी इतनी कमाई

पिछले 10 IPL सीजन में कुछ टीमें ऐसी भी रहीं हैं जब सीजन खत्म होने के बाद उनको घाटा होता था, लेकिन अधिकारी के मुताबिक इस बार अनुमान लगाया जा रहा है कि हर टीम को कम से कम 75 करोड़ रुपए का लाभ होगा, कुछ टीमें 100-125 करोड़ रुपए तक की कमाई भी कर सकती हैं।

सभी IPL टीमो को मिलेंगे ज्यादा पैसे

दरअसल इस बार BCCI ने IPL के प्रसारण के लिए जो मीडिया अधिकार बेचे हैं उनमें पिछले सीजनों के मुकाबले बढ़ोतरी हुई है और BCCI को मिलने वाली रकम में IPL टीमों की जो हिस्सेदारी है उसमें भी बढ़ोतरी हुई है, पहले IPL टीमों को मीडिया अधिकारों से होने वाली कमाई से 65 करोड़ रुपए मिलते थे लेकिन इस बार 200-250 करोड़ रुपए मिलने का अनुमान है।

इन जगहों से आती हे मुख्य कमाई

BCCI ने स्टार इंडिया को 16347.5 करोड़ रुपए में 5 साल के लिए मीडिया अधिकार बेचे हैं, इसके अलावा मुख्य प्रायोजक Vivo के साथ भी 5 साल के लिए करार हुआ है और इसके तहत Vivo 2199 करोड़ रुपए देगा। इन सबके अलावा टीमों के खुद के प्रायोजक भी हैं जिससे टीमों को 20-25 करोड़ रुपए की कमाई होने का अनुमान है, साथ में दर्शकों को बेचे जाने वाले टिकटों से भी हर टीम को 10-15 करोड़ रुपए की कमाई का अनुमान है।

इन जगहों पर होता है ज्यादा खर्च

खर्चों की बात करें तो हर IPL टीम को फ्रेंचाइज फीस के तौर पर अपनी कमाई का 20 प्रतिशत हिस्सा BCCI को देना होता है, इसके अलावा क्रिकेट स्टेडियम और अन्य सुविधाओं के इस्तेमाल के लिए स्थानीय क्रिकेट एसोसिएशनों को भी उनकी फीस चुकानी होती है। इन सबके अलावा खिलाड़ियों की फीस और बाकी स्टाफ का खर्च, विज्ञापन तथा प्रचार और प्रसार का खर्च भी होता है।