Live TV
  1. Home
  2. जॉब्‍स-एजुकेशन
  3. न्‍यूज
  4. मध्य प्रदेश: बोर्ड की परीक्षा में...

मध्य प्रदेश: बोर्ड की परीक्षा में फेल होने पर 8 विद्यार्थियों ने की आत्महत्या

मध्य प्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल की 10वीं एवं 12वीं की बोर्ड की परीक्षा में फेल होने के बाद 8 परीक्षार्थियों ने खुदकुशी कर ली...

Edited by: Khabarindiatv.com 15 May 2018, 17:54:35 IST
Khabarindiatv.com

भोपाल: बोर्ड परीक्षा में असफल होने के बाद कई परीक्षार्थी तनाव को झेल नहीं पाते और मौत को गले लगाते हैं। ऐसा ही कुछ मध्य प्रदेश में हुआ है जहां 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा में फेल होने के बाद 8 परीक्षार्थियों ने खुदकुशी कर ली। रिपोर्ट्स के मुताबिक, मध्य प्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल की 10वीं एवं 12वीं की बोर्ड की परीक्षा में फेल होने के बाद प्रदेश के 5 जिलों में सोमवार को 8 विद्यार्थियों ने कथित रूप से आत्महत्या कर ली, जिनमें से 6 छात्राएं एवं 2 छात्र हैं।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, भोपाल, सीहोर एवं भिण्ड जिलों में 2-2 विद्यार्थियों ने खुदकुशी की, जबकि उज्जैन एवं छतरपुर जिलों में एक-एक विद्यार्थियों ने अपनी जान दे दी। इनके अलावा सोमवार को एक अन्य छात्रा ने छिन्दवाड़ा जिले में एवं एक ने दमोह जिले में खुदकुशी करने की कोशिश की थी। दोनों की हालत गंभीर बनी हुई है। मृतकों में 4 विद्यार्थी 10वीं के और 4 12वीं के थे। पुलिस के अनुसार आत्महत्या करने वाली इन घटनाओं के संबंध में मामले दर्ज किए गए हैं और विस्तृत जांच जारी है।

गौरतलब है कि मध्य प्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल की 10वीं एवं 12वीं की बोर्ड की परीक्षा का परिणाम सोमवार को ही घोषित हुआ था। इस साल कक्षा 10वीं में 66 फीसदी स्टूडेंट्स पास हुए जबकि 12वीं में 68 फीसदी स्टूडेंट्स पास हुए हैं। 12वीं की परिक्षाएं 1 मार्च से शुरू हुई थी और 3 अप्रैल को समाप्त हुई थी। वहीं दसवीं की परिक्षाएं 5 मार्च से 31 मार्च तक चली थी। एमपी बोर्ड में इस बार करीब 20 लाख बच्चों ने रजिस्ट्रेशन किया था। इसमें 10वीं के 7.69 लाख बच्चों ने और 12वीं के 11.48 लाख बच्चों ने हिस्सा लिया था।

Khabar IndiaTv पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी रीड करते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। News News in Hindi के लिए क्लिक करें khabarindiaTv का जॉब्‍स-एजुकेशन सेक्‍शन
Web Title: Madhya Pradesh: Eight students commit suicide after being failed in board exams