Live TV
  1. Home
  2. भारत
  3. राजनीति
  4. फिल्म और राजनीति को छोड़ आध्यात्म...

फिल्म और राजनीति को छोड़ आध्यात्म की दुनिया में लीन हुए सुपरस्टार रजनीकांत, कर रहे हैं शिव की साधना

देवता की तरह लोग रजनीकांत को चाहते हैं। दावा किया जा रहा है कि वो भगवान शिव की शरण में चले गए और हिमालय की गुफाओं में गुप्त साधना कर रहे हैं।

Written by: Khabarindiatv.com 13 Mar 2018, 10:47:00 IST
Khabarindiatv.com

नई दिल्ली : सुपरस्टार रजनीकांत के बारे में ऐसी खबर है जिसे सुन कर आप दंग रह जाएंगे। सोशल मीडिया में दावा किया जा रहा है कि सुपरस्टार रजनीकांत इनदिनों हिमालय की गुफाओं में साधना कर रहे हैं। बताया ये जा रहा है कि वो एक शिवभक्त हैं इसलिए राजनीति की पारी शुरु करने से पहले शिव की आराधना में लीन हैं। सोशल मीडिया में कोई ये कह रहा है कि वो हरिद्वार में है तो कोई उन्हें हिमाचल प्रदेश के किसी पवित्र गुफा में तप करते देखने का दावा कर रहा है तो कुछ लोग ये भी लिख रहे हैं कि वो जम्मू कश्मीर में भोलेनाथ के एक मंदिर में गुप्ता साधना कर रहे हैं। मतलब ये कि वो हिमालय की गोद में भटक रहे हैं। सुपर स्टार रजनीकांत तमिलनाडू से हिमालय की पहाडियों में क्या कर रहे हैं। इसके बारे में सोशल मीडिया में बताया जा रहा है कि क्या वो अपनी आने वाली फिल्म की सफलता के लिए भगवान शिव का आशीर्वाद लेने यहां पहुंचे हैं तो कोई ये कह रहा है कि शिव साधना के जरिए रजनीकांत पूरे देश को एक राजनीतिक संदेश देने में जुटे हैं।

साउथ इंडियन फिल्म ही नहीं बल्कि देश भर में अपनी स्टाइल के लिए भी फेमस हैं सुपरस्टार रजनीकांत। अपने फैन्स की नजरों में रजनीकांत सिर्फ एक एक्टर नहीं, स्टार नहीं, सुपरस्टार भी नहीं बल्कि एक डेमी गॉड हैं। देवता की तरह लोग रजनीकांत को चाहते हैं। दावा किया जा रहा है कि वो भगवान शिव की शरण में चले गए और हिमालय की गुफाओं में गुप्त साधना कर रहे हैं। कुछ लोगों ने तो गुफा में गुप्त साधना करते रजनीकांत की तस्वीरों को भी शेयर कर रहे हैं। दावा ये किया जा रहा है कि रजनीकांत कुछ दिनों तक हिमालय की गुफाओं में ही रहेंगे, वहां भगवान शिव की आराधना करेंगे।

सोशल मीडिया में उनकी गुप्त साधना के पीछे दो वजह दी जा रही है। पहला ये कि उनकी एक फिल्म रिलीज होने वाली है जिसकी सफलता के लिए वो भगवान शिव की पूजा कर रहे हैं लेकिन कुछ लोग ये मान रहे हैं कि रजनीकांत की शिव भक्ति उनकी राजनीति का आगाज है। वो तमिलनाडू की राजनीति में सफल होने के लिए हिमालय की गुफाओं में साधना कर रहे हैं। सोशल मीडिया में रजनीकांत के बारे में जो दावे किए जा रहे हैं उससे तो यही लगता है कि वो दुनिया की नजरों से बच कर हिमाचल में साधना कर रहे हैं। ये संभव ही नहीं है क्योंकि सुपरस्टार रजनीकांत की फैन-फोलोविंग हर जगह है। लोगों को अगर ये पता चल जाए की उनके इलाके मे रजनीकांत हैं तो भीड़ लग जाए।

हिंदू मान्याताओं में हिमालय केवल पर्वत नहीं है बल्कि साक्षात देवता हैं, जिनके दर्शन मात्र से अस्तित्व में शांति पसरने लगती है। हिमालय अनेकों तीर्थस्थलों को धारण किए हुए है। अनेकों शक्तिपीठ हिमालय की गोंद में ही स्थित हैं। यहां भगवान शिव की प्रचीन मंदिरो की भरमार है। यही वजह है कि हिमालय साधकों की आदर्श तपोभूमि रहा है। शांति की तलाश में यहां दुनिया भर से लोग आते हैं। हिमालय की गोद में बसे ऐसे ही एक तीर्थस्थल पर हमें रजनीकांत मिले। इंडिया टीवी की कैमरे में कैद सुपरस्टार रजनीकांत की ये तस्वीरे जम्मू में शिवखोड़ी की है। इनके साथ उनकी बेटी ऐश्वर्या भी है। रजनीकात यहां बाबा भोले की शरण में ठीक वैसे ही पहुंचे जैसे आम जनता पहुंचती है। इससे एक बात तो साफ हो जाती है कि वो वाकई हिमालय में एक आध्यात्मिक यात्रा पर हैं।

शिवखोड़ी के दरबार की यात्रा के दौरान हर कोई अपने इस चहेते स्टार को देखने के लिए बेताब था। हर कोई कैमरे में रजनी को कैद करना चाहता था। सुपर स्टार रजनीकांत की इस बात के लिए तारीफ होनी चाहिए कि वो अपने फैन्स को जरा भी निराश नहीं किया। बड़ी ही सादगी के साथ वो वहां लोगों के साथ पेश आए। आध्यात्मिक यात्रा में हिमालय पर साधना करने निकले रजनीकांत हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर और फिर उत्तराखंड पहुंचेंगे। इस दौरान कई आध्यात्मिक गुरूओं से मिलेंगे और जगह जगह मंदिरों में पूजा-पाठ भी करेंगे। जम्मू आने से पहले रजनीकांत हिमाचल प्रदेश के पालमपुर में थे जहां उन्होंने शिव मंदिर बैजनाथ व महाकाल मंदिर में माथा टेका था।

हिमाचल और कश्मीर के बाद वो ऋषिकेश भी जाने वाले हैं लेकिन बड़ा सवाल ये कि उन्होंने हिमालय को ही क्यों चुना? रजनीकांत की बातों से एक बात तो साफ है कि वो एक आध्यात्मिक यात्रा पर है। इंडिया टीवी ने उनसे इस यात्रा के मकसद के बारे में पूछताछ की लेकिन उन्होंने राजनीति पर एक भी शब्द नहीं कहा। उन्होंने हर बार यही कहा कि ये एक स्पिरिचुअर टूअर है। इस दौरान वो राजनीति पर बात नहीं करना चाहते। रजनीकांत ने राजनीति में आने का ऐलान कर दिया है। वो अब तक तीन रैलियां भी कर चुके हैं। साथ ही ये घोषणा की है कि वो तमिलनाडू विधानसभा चुनाव में हर सीट पर अपने उम्मीदवार को खड़ा करने वाले हैं इसलिए कई लोग ये मानते हैं कि रजनीकांत का मंदिरों में जाना उनकी राजनीति का हिस्सा है।

Khabar IndiaTv पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी रीड करते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Politics News in Hindi के लिए क्लिक करें khabarindiaTv का भारत सेक्‍शन
Web Title: फिल्म और राजनीति को छोड़ आध्यात्म की दुनिया में लीन हुए सुपरस्टार रजनीकांत, कर रहे हैं शिव की साधना - Rajinikanth leaves for Himalayas on annual spiritual pilgrimage