1. Home
  2. विदेश
  3. अमेरिका
  4. थैंक्सगिविंग परंपरा के तहत ओबामा ने टर्की पक्षियों को दिया जीवन दान

थैंक्सगिविंग परंपरा के तहत ओबामा ने टर्की पक्षियों को दिया जीवन दान

वाशिंगटन: अमेरिका के राष्ट्रपति ओबामा ने थैंक्सगिविंग परंपरा के तहत अपने कार्यकाल में आखिरी बार टर्की पक्षियों को जीवन दान दिया। थैंक्सगिविंग सालाना आयोजित की जाने वाली एक परंपरा है जिसमें अमेरिकी नेता दो टर्की

India TV News Desk [Published on:24 Nov 2016, 12:29 PM IST]
थैंक्सगिविंग परंपरा के तहत ओबामा ने टर्की पक्षियों को दिया जीवन दान

वाशिंगटन: अमेरिका के राष्ट्रपति ओबामा ने थैंक्सगिविंग परंपरा के तहत अपने कार्यकाल में आखिरी बार टर्की पक्षियों को जीवन दान दिया। थैंक्सगिविंग सालाना आयोजित की जाने वाली एक परंपरा है जिसमें अमेरिकी नेता दो टर्की पक्षियों को जीवनदान देता है। इससे पहले थैंक्सगिविंग में हर साल ओबामा के साथ खड़ी होने वाली उनकी बेटियां साशा और मालिया इस साल इस अवसर पर मौजूद नहीं थीं। (विदेश की खबरों के लिए पढ़ें)

इस अवसर पर ओबामा के साथ उनकी बेटियों की जगह उनके भतीजे आस्टिन एवं आरोन रॉबिन्सन शामिल हुए। ओबामा ने हंसी के ठहाकों के बीच कहा, मालिया एवं साशा की तरह वाशिंगटन ने अभी उन्हें परेशान नहीं किया है। ओबामा ने इस साल के अपने दोनों टर्की से सभी को परिचित कराया। इस बार परंपरा में शामिल किए गए टर्की पक्षियों का नाम टेटर एवं टोट है। इन पक्षियों की आयु 18 सप्ताह है और उनका वजन 40 पौंड है।

उन्होंने कहा, थैंक्सगिविंग अपने प्रियजन के साथ मुलाकात करने और हमें मिलीं नेमतों का शुक्रिया अदा करने का अवसर होता है। यह लंबी प्रचार मुहिम के बाद अंतत: चुनाव से ध्यान हटाकर पक्षियों पर ध्यान देने का समय है। ओबामा ने कहा, थैंक्सगिविंग हमारी राष्ट्रीय ताकत के स्रोत की भी याद दिलाता है। यह इस बात की याद दिलाता है कि हम एक हैं और हम नस्ल या धर्म तक सीमित नहीं हैं। थैंक्सगिविंग हर साल नवंबर के आखिरी गुरूवार को मनाया जाता है। इस साल के टर्की अपना शेष जीवन वर्जीनिया टेक यूनिवर्सिटी की नवनिर्मित गोब्लर्स रेस्ट सुविधा में बिताएंगे।

Related Tags:

You May Like