Ford Assembly election results 2017 Akamai CP Plus
  1. You Are At:
  2. होम
  3. विदेश
  4. अमेरिका
  5. इस वजह से FBI पर भड़क उठे ट्रंप, की कड़ी आलोचना

इस वजह से FBI पर भड़क उठे ट्रंप, की कड़ी आलोचना

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने FBI और न्याय विभाग की आलोचना करते हुए दावा किया कि निजी इमेल सर्वर के लिए जांच के घेरे में आयीं पूर्व विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन के साथ जो व्यवहार हुआ था...

Edited by: India TV News Desk [Published on:04 Dec 2017, 11:53 AM IST]
donald trump criticised fbi- Khabar IndiaTV
donald trump criticised fbi

वाशिंगटन: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने FBI और न्याय विभाग की आलोचना करते हुए दावा किया कि निजी इमेल सर्वर के लिए जांच के घेरे में आयीं पूर्व विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन के साथ जो व्यवहार हुआ था, उनके पूर्व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार माइकल फ्लिन से उससे कहीं ज्यादा कड़ाई से निपटा जा रहा है। ट्रम्प ने ट्विटर पर लिखा कि एफबीआई से कई बार झूठ बोलने वालीं हिलेरी के साथ ‘‘कुछ नहीं हुआ’’ जबकि जनरल फ्लिन ने एजेंसी से झूठ बोला और उनकी जिंदगी बर्बाद कर दी गयी।

गौरतलब है कि फ्लिन ने रूसी राजदूत के साथ संबंध को लेकर एफबीआई से झूठ बोलने के आरोपों को लेकर कल एक अमेरिकी अदालत में अपना दोष कबूल किया था। ट्रम्प ने ट्वीट किया, ‘‘जनरल फ्लिन एफबीआई से झूठ बोलते हैं और उनकी जिंदगी बर्बाद कर दी जाती है लेकिन एफबीआई की जांच का सामना करने वालीं कुटिल हिलेरी क्लिंटन कई बार झूठ बोलती हैं और उनके साथ कुछ नहीं होता? इसे क्या कहें, भ्रष्ट तंत्र या फिर दोहरा मापदंड?’’ उन्होंने एक दूसरे ट्वीट में कहा, ‘‘हमारे देश में बहुत सारे लोग पूछ रहे हैं कि ‘‘न्याय’’ विभाग इस बात को लेकर क्या करेगा कि बेहद कुटिल हिलेरी ने अमेरिकी कांग्रेस द्वारा तलब किए जाने के बाद 33,000 ईमेल डिलीट कर दिए, उनका नामो निशान मिटा दिया? कोई न्याय नहीं हुआ।’’

राष्ट्रपति ने साथ ही ट्विटर पर यह भी बताया कि उन्होंने रूसी राजदूत के साथ संबंध को लेकर उपराष्ट्रपति और एफबीआई से झूठ बोलने के लिए फ्लिन को पद से हटाया। उन्होंने लिखा, ‘‘मुझे जनरल फ्लिन को हटाना पड़ा क्योंकि उन्होंने उपराष्ट्रपति और एफबीआई से झूठ बोला। उन्होंने झूठ बोलने का दोष कबूल किया। यह शर्मनाक है क्योंकि नयी सरकार के गठन के दौरान उनकी कार्रवाइयां कानूनी थीं। कुछ भी छिपाने जैसा नहीं था।’’

You May Like