ford
  1. You Are At:
  2. होम
  3. विदेश
  4. अमेरिका
  5. अमेरिका: 70 नोबेल पुरस्कार विजेताओं ने किया हिलेरी का समर्थन

अमेरिका: 70 नोबेल पुरस्कार विजेताओं ने किया हिलेरी का समर्थन

वाशिंगटन: कम से कम 70 नोबेल पुरस्कार विजेताओं ने डेमोक्रेटिक पार्टी की ओर से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन का समर्थन किया है। उन्होंने कहा है कि आजादी को सुरक्षित रखने और संवैधानिक सरकार

India TV News Desk [Published on:19 Oct 2016, 6:48 PM IST]
70 nobel prize winner support hillary clinton- Khabar IndiaTV
70 nobel prize winner support hillary clinton

वाशिंगटन: कम से कम 70 नोबेल पुरस्कार विजेताओं ने डेमोक्रेटिक पार्टी की ओर से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन का समर्थन किया है। उन्होंने कहा है कि आजादी को सुरक्षित रखने और संवैधानिक सरकार को बचाए रखने के लिए उनका चुना जाना अत्यंत महत्वपूर्ण है। न्यूयार्क टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, यह सशक्त समर्थन एक पत्र के जरिए मंगलवार को मिला है जिस पर विज्ञान, औषधि और अर्थशास्त्र जैसे क्षेत्रों की इन महान हस्तियों के हस्ताक्षर हैं। उन्होंने कहा है कि हिलेरी ऐसी उम्मीदवार हैं जो सबसे अच्छे ढंग से विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में निवेश के महत्व को समझती हैं, खासकर ऐसे समय में जब दुनिया कई मोर्चो पर चुनौतियों का सामना कर रही है।

इस पत्र में हिलेरी के प्रतिद्वंद्वी डोनाल्ड ट्रंप के नाम का कोई जिक्र नहीं किया गया है लेकिन कहा गया है कि ऐसी नीतियां जिनमें वैज्ञानिक ज्ञान के मूल्यांकन का अभाव झलकता है, वे अमेरिका की प्रतिष्ठा और राष्ट्रीय सुरक्षा को नुकसान पहुंचा सकती हैं। पत्र में कहा गया है कि हमें एक ऐसे राष्ट्रपति की जरूरत है जो ऐसी नीतियों का समर्थन करे और उन्हें आगे बढ़ाए जिससे विज्ञान और प्रौद्योगिकी हमारे देश में फैले और महत्वपूर्ण नीतिगत फैसले का आधार मुहैया कराए।

नोबेल पुरस्कार विजेताओं में रसायनशास्त्री पीटर अग्रे, अर्थशास्त्री रॉबर्ट जे. शिलर और भौतिकशास्त्री राबर्ट व्रुडो विल्सन जैसे प्रमुख नाम शामिल हैं। इन लोगों ने पूरी दुनिया के लिए चिंता के विषय जैसे कैंसर और अल्जाइमर जैसी बीमारियां और जलवायु परिवर्तन जैसी समस्याओं का उल्लेख किया है जिनमें अमेरिकियों को निवेश करने और नवोन्मेष की जरूरत है। नोबेल पुरस्कार विजेताओं का हिलेरी को समर्थन देना कोई आश्चर्य की बात नहीं है। शिक्षाविदों का डेमोक्रेटिक उम्मीदवारों के प्रति झुकाव रहता है। पत्र में कहा गया है कि होने वाले राष्ट्रपति चुनाव का हमारे देश और दुनिया के भविष्य पर बहुत गहरा प्रभाव पड़ेगा।

You May Like