1. Home
  2. विदेश
  3. एशिया
  4. काम के प्रेशर से गई CEO की जान! स्टार्टअप्स के वर्क कल्चर पर उठे सवाल

काम के प्रेशर से गई CEO की जान! स्टार्टअप्स के वर्क कल्चर पर उठे सवाल

चीन में मोबाइल हेल्थ ऐप कंपनी के फाउंडर और सीईओ की काम के अत्यधिक दबाव के चलते महज 44 साल की उम्र में मौत हो गई। इस मौत की वहज से पूरे देश में स्टार्टअप कल्चर को लेकर बहस शुरू हो गई है।...

Khabarindiatv.com [Updated:18 Oct 2016, 11:01 PM IST]
काम के प्रेशर से गई CEO की जान! स्टार्टअप्स के वर्क कल्चर पर उठे सवाल

चीन में मोबाइल हेल्थ ऐप कंपनी के फाउंडर और सीईओ की काम के अत्यधिक दबाव के चलते महज 44 साल की उम्र में मौत हो गई। इस मौत की वहज से पूरे देश में स्टार्टअप कल्चर को लेकर बहस शुरू हो गई है। स्टार्टअप "'चुनयू डॉक्टर" के फाउंडर और CEO झांग रुई की हार्ट अटैक के चलते 5 अक्टूबर को मौत हो गई थी। झांग रुई हफ्ते में 70 घंटे काम करते थे।

देश-दुनिया की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

चीन में स्टार्टअप से जुड़े लोगों वर्किंग ऑवर 12 घंटे की होती है। कामयाबी के लिए बॉस और अन्य कर्मचारी भी 12 से भी ज्यादा घंटे तक काम करते हैं। झांग की मौत के बाद अब इस वर्किंग कल्चर पर सवाल उठने शुरू हो गए हैं। 

हालांकि चुनयू डॉक्टर के प्रवक्ता का कहना है कि इस बात का कोई सबूत नहीं है कि झांग की मौत काम के अत्यधिक दबाव के चलते हुई है। कई लोगों ने इंडस्ट्री में बढ़ती प्रतिस्पर्धा के चलते स्वास्थ्य पर पड़नेवाले कुप्रभाव को लेकर चिंता जताई है। स्टार्टअप्4 से जुड़े लोगों का मानना है कि इसके फाउंडर्स को जितना तनाव झेलना पड़ता है उसकी तुलना समान्य लोगों से नहीं की जा सकती है।

एक्सपर्ट्स का कहना है कि इंटरनेट सेक्टर से जुड़े स्टार्टअप्स में ज्यादा समस्याएं हैं। यहां एंट्री लेवल पर प्रतिस्पर्धा बहुत अधिक है। अलीबाबा के उभार से प्रभावित तमाम स्टार्ट अप्स ऐसे हैं जो कैपिटल और टैलंट को आकर्षित करने की होड़ मे हैं। 

You May Like