1. Home
  2. विदेश
  3. एशिया
  4. ‘रोहिंग्या मुसलमानों ने 1,500 हिंदुओं की जान ली, हिंदू महिलाओं के साथ गैंगरेप किया’

‘रोहिंग्या मुसलमानों ने 1,500 हिंदुओं की जान ली, हिंदू महिलाओं के साथ गैंगरेप किया’

कैंप में ऐसी कई महिलाएं थीं जिनके साथ गैंगरेप किया गया था। एक महिला तो ऐसी थी जिसका लगातार 23 दिनों तक गैंगरेप हुआ...

Reported by: Anupam Mishra [Published on:29 Sep 2017, 9:50 AM IST]
‘रोहिंग्या मुसलमानों ने 1,500 हिंदुओं की जान ली, हिंदू महिलाओं के साथ गैंगरेप किया’

ढाका: म्यांमार की सेना द्वारा रोहिंग्या मुसलमानों पर अत्याचार के बाद लाखों ने म्यांमार छोड़ दिया है। वहीं इंडिया टीवी की एक एक्सक्लूसिव रिपोर्ट में म्यांमार से भागे हिंदुओं ने रोहिंग्या मुसलमानों पर गंभीर इल्जाम लगाए हैंं। म्यांमार से भागकर बांग्लादेश पहुंचे हिंदुओं के मुताबिक रोहिंग्या मुसलमानों ने म्यांमार में सैकड़ों हिंदुओं का कत्ल किया है। उन्होंने कहा कि रखाइन प्रांत के रोहिंग्या मुसलमानों ने हिंदू महिलाओं के साथ गैंगरेप जैसे घिनौने काम किए।

इंडिया टीवी के रिपोर्टर अनुपम मिश्रा ने बांग्लादेश के उखिया में स्थित एक शरणार्थी कैंप में जाकर म्यांमार से भागकर आए हिंदुओं से बात की। इस कैंप में लगभग 800 हिंदू रह रहे हैं। यहां रह रहे हिंदू शरणार्थियों ने बताया कि रोहिंग्या मुसलमान हिंदुओं को इसलिए मार रहे हैं क्योंकि उनके पास म्यांमार की नागरिकता है। उन्होंने बताया कि रोहिंग्या मुसलमान अब तक 1,500 हिंदुओं को मार चुके हैं। रोहिंग्या मुसलमान इसी बात से जलन रखते हैं कि संख्या में ज्यादा होने के बावजूद उनके पास म्यांमार की नागरिकता नहीं है।

शरणार्थियों में से एक ने कहा, 'हम रोहिंग्या मुसलमानों की वजह से जान बचाकर भागे हैं। म्यांमार की सेना नहीं बल्कि रोहिंग्या मुसलमान हमारे ऊपर जुल्म कर रहे हैं। वे अपने चेहरे पर मास्क लगाकर हमला करते हैं। वे हमें टुकड़ों में काट रहे हैं। हमारे ऊपर हमला इसलिए किया जा रहा है क्योंकि हमारे पास नागरिकता के दस्तावेज हैं।' कैंप में ऐसी कई महिलाएं थीं जिनके साथ गैंगरेप किया गया था। एक महिला तो ऐसी थी जिसका लगातार 23 दिनों तक गैंगरेप हुआ।

इनमें से एक महिला ने कहा, 'मैंने कई बार उनसे जान की भीख मांगी। रोहिंग्या मुसलमानों ने कहा कि यदि तुम इस्लाम अपना लेती हो तो हम तुम्हें छोड़ देंगे। उन्होंने मुझसे साड़ी की बजाय बुर्का पहनने के लिए कहा। उन्होंने मुझसे कलमा पढ़ने के लिए जबर्दस्ती की।'

You May Like