1. Home
  2. विदेश
  3. एशिया
  4. राहिल शरीफ को फील्ड मार्शल का रैंक प्रदान किए जाने पर सुप्रीम कोर्ट में दी गई चुनौती

राहिल शरीफ को फील्ड मार्शल का रैंक प्रदान किए जाने पर सुप्रीम कोर्ट में दी गई चुनौती

इस्लामाबाद: अगले सप्ताह जनरल राहील शरीफ की पाकिस्तान के सेना प्रमुख पद से सेवानिवृति से पहले उन्हें फील्ड मार्शल का रैंक प्रदान करने का निर्देश दिये जाने की मांग निचली अदालत से खारिज होने के

India TV News Desk [Published on:22 Nov 2016, 5:57 PM IST]
राहिल शरीफ को फील्ड मार्शल का रैंक प्रदान किए जाने पर सुप्रीम कोर्ट में दी गई चुनौती

इस्लामाबाद: अगले सप्ताह जनरल राहील शरीफ की पाकिस्तान के सेना प्रमुख पद से सेवानिवृति से पहले उन्हें फील्ड मार्शल का रैंक प्रदान करने का निर्देश दिये जाने की मांग निचली अदालत से खारिज होने के बाद इस फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गयी है। सेवा विस्तार या यह पद प्रदान किये जाने को एक बहुत बड़ा राष्ट्रहित करार देते हुए अपीलकर्ता ने कल सुप्रीम कोर्ट से इस्लामाबाद हाईकोर्ट का आदेश खारिज करने का अनुरोध किया। (विदेश की खबरों के लिए पढ़ें)

अपीलकर्ता रावलपिंडी बार एसोसिएशन के सदस्य अदनान माजरी ने इस मामले में प्रधानमंत्री नवाज शरीफ, सरकार और रक्षा मंत्रालय को प्रतिवादी बनाया है। साठ वर्षीय राहील 29 नवंबर को सेवानिवृत हो जाएंगे। माजरी ने दलील दी है कि इस्लामाबाद हाईकोर्ट का आदेश अवैध, गैरकानूनी एवं असंवैधानिक है क्योंकि इसमें इस पद के गुण-दोष पर विचार नहीं किया गया है जो दुनियाभर में मान्यताप्राप्त है एवं पाकिस्तान कोई अपवाद नहीं है।

उन्होंने कहा, शांति और युद्धकाल में शानदार, असाधारण एवं पेशेवर प्रदर्शन, उनका पूर्ण समर्पण तथा रणभूमि में उच्चमापदंड एवं महारत के साथ हमारे वर्तमान सेना प्रमुख के लिए राष्ट्रीय सराहना, पुरस्कार एवं पहचान की जरूरत है और पाकिस्तान के हमारे संविधान में सेना प्रमुख का कार्यकाल कहीं उल्लेखित नहीं है। जनरल राहील इस माह के आखिर तक अगले सेना प्रमुख को सेना की कमान सौंप सकते हैं। राहिल ने जनवरी में घोषणा की थी कि वह कार्यकाल विस्तार नहीं मांगेंगे।

पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल राहील शरीफ ने अपने रिटायरमेंट से एक सप्ताह पहले सोमवार से विभिन्न सैन्य प्रतिष्ठानों का विदाई दौरा (Farewell Tour) शुरू कर दिया है। शरीफ के अगले सप्ताह रिटायर होने की संभावना है। इंटर-सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस ने यह घोषणा की। सेना प्रमुख ने दौरे की शुरुआत लाहौर छावनी से की, जहां उन्होंने पाकिस्तानी सेना व रेंजरों के एक बड़े समूह को संबोधित किया।

सैनिकों को संबोधित करते हुए जनरल शरीफ ने कहा, "शांति व स्थिरता बनाए रखना कोई साधारण काम नहीं है।" उन्होंने कहा, "हमारे बलिदान और संयुक्त राष्ट्रीय संकल्प ने देश के खिलाफ सभी खतरों से निपटने में हमारी मदद की।" इससे पहले, जनवरी महीने में सेना के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट जनरल असीम बाजवा ने चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ के रूप में जनरल शरीफ के सेवाविस्तार की खबरों को खारिज किया था। उन्होंने सेना प्रमुख का संदर्भ देते हुए कहा कि वह इस साल नवंबर में तय समय पर ही सेवानिवृत्त होंगे।

 

Related Tags: