1. Home
  2. विदेश
  3. एशिया
  4. प्रक्षेपण के असफल होने का कारण मिसाइल में विस्फोट था: सोल

प्रक्षेपण के असफल होने का कारण मिसाइल में विस्फोट था: सोल

सोल: उत्तर कोरिया की मध्यम दूरी की शक्तिशाली मिसाइल के ताजा परीक्षण के असफल रहने का कारण इसके प्रक्षेपण के लगभग तत्काल बाद हुआ विस्फोट है। दक्षिण कोरिया की सेना ने आज इस बात की

India TV News Desk [Published on:17 Oct 2016, 12:49 PM]
प्रक्षेपण के असफल होने का कारण मिसाइल में विस्फोट था: सोल - India TV

सोल: उत्तर कोरिया की मध्यम दूरी की शक्तिशाली मिसाइल के ताजा परीक्षण के असफल रहने का कारण इसके प्रक्षेपण के लगभग तत्काल बाद हुआ विस्फोट है। दक्षिण कोरिया की सेना ने आज इस बात की पुष्टि की। उत्तर कोरिया ने कुसोंग में एक एयरबेस के निकट शनिवार मध्याह्न के कुछ ही देर बाद मिसाइल गुआम तक के अमेरिकी अड्डों तक को निशाना बनाने में सक्षम मुसुदन मिसाइल का परीक्षण किया।

दक्षिण कोरिया और अमेरिकी सैन्य निरीक्षक अमूमन कुछ ही घंटों या यहां तक कि कुछ ही मिनटों बाद इस प्रकार के प्रक्षेपण की खबर दे देते हैं लेकिन शनिवार को किए गए परीक्षण का समाचार घटना के करीब 16 घंटों बाद दिया गया। दक्षिण कोरिया के ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ के एक अधिकारी ने आज संवाददाताओं से कहा, उत्तर कोरिया की मिसाइल का प्रक्षेपण इसे प्रक्षेपित किए जाने के कुछ ही देर बार असफल हो गया था इसलिए इसका विश्लेषण करने के लिए काफी समय की आवश्यकता थी।

रक्षा मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने प्रक्षेपण के कुछ ही देर बाद, बहुत शुरूआती चरण में मिसाइल में विस्फोट होने की पुष्टि की। मुसुदन का अक्तूबर 2010 में प्योंगयांग में एक सैन्य परेड के दौरान एक स्वदेशी मिसाइल के रूप में अनावरण किया गया था। मुसुदन की सैद्धांतिक रूप से 2500 से 4000 किलोमीटर के बीच मार करने की क्षमता है। इसकी निचली मारक क्षमता में पूरा दक्षिण कोरिया एवं जापान आता है जबकि उपरी क्षमता में गुआम के अमेरिकी सैन्य अड्डे शामिल हैं।

 

Write a comment