1. Home
  2. टेक
  3. न्यूज़
  4. हेल्थ ऐप ‘vHealth by Aetna’ लॉन्च, बार-बार डॉक्टर के पास जाने की जरूरत नहीं

हेल्थ ऐप ‘vHealth by Aetna’ लॉन्च, बार-बार डॉक्टर के पास जाने की जरूरत नहीं

अग्रणी स्वास्थ्व सेवा प्रदाता 'एटना इंटरनेशनल' ने भारत में अपनी स्वास्थ्य सेवा ‘vHealth by Aetna’ लांच कर दी। Aetna इस सेवा के तहत मरीजों को मोबाइल ऐप के जरिए डॉक्टरों से परामर्श लेने की सुविधा देगी।

IANS [Published on:18 May 2017, 7:29 PM]
हेल्थ ऐप ‘vHealth by Aetna’ लॉन्च, बार-बार डॉक्टर के पास जाने की जरूरत नहीं - India TV

नई दिल्ली: अग्रणी स्वास्थ्व सेवा प्रदाता 'एटना इंटरनेशनल' ने भारत में अपनी स्वास्थ्य सेवा ‘vHealth by Aetna’ लांच कर दी। Aetna इस सेवा के तहत मरीजों को मोबाइल ऐप के जरिए डॉक्टरों से परामर्श लेने की सुविधा देगी। इसमें वीडियो कॉल या टेलीफोन कॉल के जरिए डॉक्टर के साथ बातचीत की जा सकती है। कंपनी ने वर्ष 2020 तक 40 लाख लोगों तक अपनी स्वास्थ्य सेवा पहुंचाने का लक्ष्य तय किया है।

भारत में एटना इंटरनेशनल की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी 'इंडियन हेल्थ ऑर्गनाइजेशन' (IHO) ने 300 करोड़ रुपये का निवेश करते हुए 2020 तक 40 लाख सदस्यों से जुड़ने का लक्ष्य रखा है। 'vHealth by Aetna' ऐप का इस्तेमाल कर मरीजों को बार-बार अस्पताल जाने की समस्या से निजात मिलेगी और इस ऐप में उनके सारे स्वास्थ्य दस्तावेज भी सुरक्षित रखे जा सकेंगे। भारत में 'vHealth by Aetna' 4 सदस्यों वाले परिवार के लिए 2,400 रुपये के सालाना खर्च पर उपलब्ध होगी।

एटना इंटरनेशनल में पॉपुलेशन हेल्थ के अध्यक्ष स्नेह खेमका ने कहा, ‘यह सदस्यों को प्राथमिक देखभाल से संबंधित असीमित परामर्श में सक्षम बनाएगी, जिसमें गंभीर स्थिति से निपटने, मामूली रोगों के उपचार, वैकल्पिक उपचार विकल्पों पर सलाह, जांच रिपोर्टों का अर्थ जानने और स्वस्थ रहने के लिए मार्गदर्शन जैसी सुविधाएं शामिल होंगी। डायग्नोस्टिक टेस्ट सदस्य के घर पर ही किए जा सकेंगे और इसकी रिपोर्ट भी उनके घर पहुंचाई जा सकेगी।’

इंडियन हेल्थ ऑर्गनाइजेशन और एटना इंडिया के प्रबंध निदेशक मानसीज मिश्रा ने कहा, ‘हमारे डॉक्टर प्रशिक्षित हैं और स्विस टेली-मेडिसिन मानकों के तहत मान्यता प्राप्त हैं। वे 15 वर्षो से टेली-मेडिसिन में स्विस बाजार दिग्गज मेडगेट ए. जी. द्वारा तैयार विशेष क्लीनिकल प्रोटोकॉल पर अमल करते हैं। भारत को ध्यान में रखकर तैयार किए गए ये प्रोटोकॉल चिकित्सकों को प्रमाण-आधारित जांच एवं देखभाल सुविधा प्रदान करने में सक्षम बनाते हैं।’

Related Tags:
Write a comment