1. Home
  2. खेल
  3. अन्य खेल
  4. विजेंदर फिर बने रिंग के किंग, चीनी बॉक्सर जुल्फिकार को दी मात, प्रो-बॉक्सिंग में लगातार 9वीं जीत

विजेंदर फिर बने रिंग के किंग, चीनी बॉक्सर जुल्फिकार को दी मात, प्रो-बॉक्सिंग में लगातार 9वीं जीत

भारतीय मुक्केबाजी स्टार विजेंदर सिंह ने चीनी प्रतिद्वंद्वी जुल्फिकार मैमेतिअली को करीबी मुकाबले में हराकर डब्ल्यूबीओ एशिया पेसीफिक सुपर मिडिलवेट खिताब जीत लिया।

Edited by: Khabarindiatv.com [Updated:05 Aug 2017, 11:53 PM IST]
विजेंदर फिर बने रिंग के किंग, चीनी बॉक्सर जुल्फिकार को दी मात, प्रो-बॉक्सिंग में लगातार 9वीं जीत

मुंबई: भारतीय मुक्केबाजी स्टार विजेंदर सिंह ने चीनी प्रतिद्वंद्वी जुल्फिकार मैमेतिअली को करीबी मुकाबले में हराकर डब्ल्यूबीओ एशिया पेसीफिक सुपर मिडिलवेट खिताब जीत लिया। विजेंदर सिंह अपनी 9वीं प्रोफेशनल फाइट में भी अजेय रहे। विजेंदर के प्रशंसकों के लिये यह दोहरी खुशी का पल था क्योंकि उन्होंने डब्ल्यूबीओ ओरिएंटल सुपर मिडिलवेट खिताब भी जीता। बीजिंग ओलंपिक के कांस्य पदक विजेता विजेंदर की पेशेवर कैरियर में यह लगातार नौवीं जीत थी। विजेंदर ने अपने कद और अनुभव का बखूबी इस्तेमाल करके विरोधी को दबाव बनाने का कोई मौका नहीं दिया । चीनी मुक्केबाज को रक्षात्मक रणनीति अपनानी पड़ी । उसने विजेंदर को पांच बार नीचे पंच लगाने की कोशिश की और रैफरी ने उन्हें चेतावनी भी दी। 

विजेंदर का यह नौवां पेशेवर मुकाबला था और अभी तक उन्हें सभी मुकाबलों में जीत मिली है। वहीं चीनी मुक्केबाज की यह पेशेवर मुकाबले में पहली हार है।जुल्पिकार अपने पिछले नौ पेशेवर मुकाबलों में अजेय थे। दोनों के बीच बराबरी का मुकाबला खेला गया। शुरुआती दो राउंड में जुल्पिकार आक्रामक दिखे , लेकिन भारतीय खिलाड़ी ने शानदार बचाव किया। विजेंदर ने अपनी लंबाई का अच्छा फायदा उठाया और चीनी मुक्केबाज को कुछ अच्छे पंच जड़े। 

अगले कुछ राउंड में भी बराबर का खेल देखने को मिला, हालांकि चीन के मुक्केबाज को विजेंदर के कुछ अच्छे पंचों का सामना करना पड़ा। यहां से विजेंदर चीनी खिलाड़ी पर हावी होने लगे। बचाव में जुल्पिकार ने कुछ दफा विजेंदर के कमर के नीचे कुछ पंच मारे। ऐसा करने के दौरान नौवें राउंड में रैफरी ने मैच रोक दिया था। आखिरी राउंड में जुल्पिकार ने वापसी की कोशिश की, लेकिन विजेंदर ने अपना आक्रामण जारी रखा और मुकाबला जीत ले गए। इससे पहले, भारत के अन्य मुक्केबाजों ने अंडरकार्ट मुकाबलों में जीत हासिल की।

राष्ट्रमंडल खेल-2006 के विजेता अखिल कुमार, जितेंद्र कुमार, अशद आसिफ, कुलदीप ढांडा, धर्मेद्र गिरेवाल, प्रदीप खारेरा ने अपने मुकाबालों में विजयी रहे।अखिल इस मैच से पेशेवर मुक्केबाजी में कदम रख रहे थे। उन्होंने पदापर्ण मैच में आस्ट्रेलिया के टाइ ग्रिलक्रिस्ट को वाल्टरवेट वर्ग में तकनीकि नॉक आउट में मात दी।जितेंद्र का भी यह पेशेवर मुक्केबाजी में पदार्पण मैच था। उन्होंने थाईलैंड के थानेट लखिट्कामपोर्न को लाइटवेट वर्ग में तकनीकि नॉकआउट से मात दी।वर्ल्ड बॉक्सिंग काउंसिल (डब्ल्यूबीसी) एशिया पैसिफिक वेल्टरवेट चैम्पियन नीरज गोयट ने अपने खिताब को सफलता पूर्वक अपने पास ही रखा है। उन्होंने 12 राउंड के मुकाबले में फिलीपिंस के एलान टांडा को मात देते हुए अपने खिताब की रक्षा की। आसिफ ने फिलीपिंस के लैरी अबारा को मात दी तो कुलदीप ने हमवतन सचिव बोट को हराया। धर्मेद्र ने आस्ट्रेलिया के इसाक स्लैड को हराया। 

Related Tags:

You May Like