1. Home
  2. खेल
  3. क्रिकेट
  4. खराब फॉर्म से जूझ रहे लोकेश राहुल के समर्थन में कैप्टन कोहली ने कही यह बात

खराब फॉर्म से जूझ रहे लोकेश राहुल के समर्थन में कैप्टन कोहली ने कही यह बात

के. एल. राहुल भले ही पिछले कुछ अर्से से वनडे क्रिकेट में खराब फॉर्म में जूझ रहे हैं लेकिन कप्तान विराट कोहली को पूरा विश्वास है कि...

Edited by: Khabarindiatv.com [Published on:16 Sep 2017, 7:48 PM IST]
खराब फॉर्म से जूझ रहे लोकेश राहुल के समर्थन में कैप्टन कोहली ने कही यह बात

चेन्नई: के. एल. राहुल भले ही पिछले कुछ अर्से से वनडे क्रिकेट में खराब फॉर्म में जूझ रहे हैं लेकिन कप्तान विराट कोहली को पूरा विश्वास है कि वह चौथे नंबर पर उम्दा बल्लेबाजी करेंगे। राहुल के फॉर्म के बारे में कोहली ने कहा, ‘केएल राहुल बेहतरीन प्रतिभा के धनी हैं। उन्होंने सभी प्रारूपों में खुद को साबित किया है। उनका साथ देने की जरूरत है क्योंकि हमारा मानना है कि उनमें क्षमता है। एक बार इस क्रम पर जमने के बाद वह हमारे लिए मैच जरूर जीतेंगे। हमें इसका यकीन है।’ कोहली का मानना है कि राहुल ही नहीं बल्कि टीम के हर खिलाड़ी को लचीला होना होगा।

उन्होंने कहा, ‘यदि आप ऐसा सोचें कि एक फॉर्मैट में आप जिस क्रम पर बल्लेबाजी करते हैं, सभी फॉर्मैट्स में उसी क्रम पर करेंगे तो टीम के लिए सही संतुलन बनाना मुश्किल हो जाता है। खिलाड़ियों को टीम की जरूरतों के मुताबिक खुद को ढालना होगा। मैंने टी20 क्रिकेट में पारी की शुरूआत की है। मुझे इतना लचीला होना होगा। यह खिलाड़ी पर निर्भर करता है कि वह टीम की जरूरत के अनुसार उतर सके।’ उन्होंने कहा कि किसी भी बल्लेबाज को नए क्रम पर जमने में समय लगता है। उन्होंने कहा, ‘इसमें समय लगता है। यह आसान नहीं है। अजिंक्य रहाणे ने वनडे में मध्यक्रम पर खेला और टेस्ट में भी वह खेलते हैं। उन्होंने वनडे में पारी का आगाज भी किया। उन्हें भी दिक्कत हुई लेकिन हमने उनका साथ दिया। उन्हें पता है कि रणनीति साफ है।’

यह पूछने पर कि ऑस्ट्रेलिया के कठिन प्रतिद्वंद्वी होने के कारण क्या उनकी रणनीति अलग होगी, उन्होंने कहा, ‘मुझे नहीं लगता कि हमें अलग नजरिए की जरूरत है। मैने श्रीलंका के खिलाफ सीरीज से पहले भी कहा था कि आपका विरोधी नहीं बल्कि आपकी तैयारी अहम है। आप सभी टीमों की ताकतों और कमजोरियों का आकलन करते हैं।’ ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पिछली टेस्ट सीरीज काफी तनावपूर्ण थी और कोहली ने कहा कि हर सीरीज में प्रतिस्पर्धी होना जरूरी है। यह पूछने पर कि क्या अधिक प्रतिस्पर्धी होने से खिलाड़ी आपा खो देते हैं, उन्होंने कहा, ‘मुझे ऐसा नहीं लगता। आप कुछ भी कहने के लिए स्वतंत्र हैं। आप सारा समय बोलते रहिए लेकिन मैदान पर नतीजा नहीं निकलता तो सब बेकार है। मानसिक द्वंद्व की बातें दर्शकों के लिए भी रोमांच पैदा करती है।’