1. Home
  2. खेल
  3. क्रिकेट
  4. रांची टेस्ट, डे4, टी: पुजारा-साहा की रिकॉर्ड साझेदारी, भारत 503/6

रांची टेस्ट, डे4, टी: पुजारा-साहा की रिकॉर्ड साझेदारी, भारत 503/6

रांची: चेतेश्वर पुजारा और रिद्धिमन साहा के बीच सांतवे विकेट के लिए ऑस्ट्रिलाया के खिलाफ़ रिकॉर्ड साझेदारी (175 रन) की मदद से भारत ने आज यहां टेस्ट सिरीज़ के तीसरे मैच के चौथे दिन चायकाल

India TV Sports Desk [Updated:19 Mar 2017, 8:43 PM IST]
रांची टेस्ट, डे4, टी: पुजारा-साहा की रिकॉर्ड साझेदारी, भारत 503/6

रांची: चेतेश्वर पुजारा और रिद्धिमन साहा के बीच सांतवे विकेट के लिए  ऑस्ट्रिलाया के खिलाफ़ रिकॉर्ड साझेदारी (175 रन) की मदद से भारत ने आज यहां टेस्ट सिरीज़ के तीसरे मैच के चौथे दिन चायकाल तक अपनी पहली पारी में छह विकेट खोकर 503 रन बना लिए हैं और इस तरह उसे 52 रन की बढ़त मिल गई है। चायकाल पर पुजारा 190 और साहा 99 रन बनाकर खेल रहे थे। इसके पहले साझोदारी का रिकॉर्ड एंड्रयू साइमंड्स और ब्रेड हॉग का था जिन्होंने सांतवे विकेट के लिए 173 रन बनाए थे।

आज चेतेश्वर पुजारा ने एक नया रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया। पुजारा ने एक पारी में सबसे ज़्यादा गेंदों का सामना करने के मामले में राहुल द्रविड़ (495 गेंद) को पीछे छोड़ दिया। अब वह एक पारी सबसे ज़्यादा बॉलों का सामना करने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज़ बन गए हैं। 

साहा भी अपने तीसरे टेस्ट शतक से सिर्फ एक रन की दूरी पर हैं।

इसके पहले आज लंच तक भारत ने छह विकेट खोकर 435 रन बनाए थे। पुजारा और साहा के बीच 107 रन की साझेदारी हुई और एक समय जो मैच ड्रॉ की तरफ बढ़ता नज़र आ रहा था, वो अब भारत की तरफ झुकता दिखने लगा। लंच के समय पुजारा 165 और साहा 59 बनाकर खेल रहे थे।

भारत ने आज कल के स्कोर 6 विकेट पर 360 रन के आगे खेलना शुरु किया। पुजारा ने 150 रन पूरे करके अपने करिअर में पांचवी बार 150 का आंकड़ा पार किया। बॉलों का सामना करने के लिहाज़ से ये पुजारा की सबसे लंबी पारी है। पुजारा ने इससे पहले मुरली विजय (82) के साथ दूसरे विकेट के लिए 102 रनों की साझेदारी भी की थी। इन्हीं दो साझेदारियों के दम पर भारत, आस्ट्रेलिया के बड़े स्कोर का मजबूत जवाब देने में अभी तक सफल रहा है।

साहा-पुजारा की जोड़ी ने तीसरे दिन शनिवार को आखिरी सत्र में मैदान पर कदम रखा था। भारत ने तीसरे दिन की समाप्ति छह विकेट के नुकसान पर 360 रनों पर की थी। उसी स्कोर से आगे खेलने उतरी मेजबान टीम को चौथे दिन साहा और पुजारा ने और मजबूती प्रदान की। 

आस्ट्रेलिया इस कोशिश में था कि वह पहले सत्र में भारत के बाकी चार विकेट जल्दी चटका देगा, लेकिन साहा और पुजारा ने उनके मंसूबों को कामयाब नहीं होने दिया। इस जोड़ी ने चौथे दिन के पहले सत्र में 75 रन जोड़े। 

हालांकि दिन के दूसरे ओवर की पहली गेंद पर अंपायर ने साहा को पगबाधा करार दे दिया था, लेकिन साहा द्वारा रिव्यू लेने के बाद उन्हें अपना फैसला बदलना पड़ा। 

पुजारा को भी एक जीवनदान मिला। 150वें ओवर में स्टीव ओकीफ की गेंद ने पुजारा के बल्ले का बाहरी किनारा लिया, लेकिन विकेटकीपर मैथ्यू वेड उसे पकड़ नहीं पाए और गेंद वेड के पैड से टकरा कर चली गई। इससे पहले 149वें ओवर की आखिरी गेंद पर एक रन लेकर पुजारा ने अपने 150 रन पूरे किए। वह पांचवीं बार 150 का आंकड़ा छूने में सफल हुए हैं।

You May Like