1. Home
  2. खेल
  3. क्रिकेट
  4. चेज़ करने में तेज़ फिर भी टीम इंडिया ने दी कंगारुओं को पटख़नी

चेज़ करने में तेज़ फिर भी टीम इंडिया ने दी कंगारुओं को पटख़नी

India TV Sports Desk [ Updated 10 Mar 2017, 14:42:29 ]
चेज़ करने में तेज़ फिर भी टीम इंडिया ने दी कंगारुओं को पटख़नी - India TV

200 रन से कम लक्ष्य का पीछा कर जीतने की 18 कोशिशों में बेंगलुरु टेस्ट में पहली बार हुआ कि ऑस्ट्रेलिया इसमे नाकाम रही। बेंगलुरु टेस्ट में ऑस्ट्रलिया को जीत के लिए 188 रन बनाने थे लेकिन उसकी पूरी टीम 112 पर ढेर हो गई और मैच 75 रन से हार गई। इसके बाद उस ज़ामाने की याद ताज़ा हो गई जब ऑस्ट्रेलिया छोटे लक्ष्य का पीछा करते हुए लुढ़क गई। 

80 और 90 के दशक में ऑस्ट्रेलिया कई बार छोटे लक्ष्य का पीछा करते हुए लड़खड़ाई है। 1981 में हेडिंग्ले में ऑस्ट्रेलिया के सामने जीत के लिए 130 का लक्ष्य था लेकिन पूरी टीम 112 पर निपट गई। इसी तरह  1994 में सिडनी में साउथ अफ़्रीका ने 117 का मामूली लक्ष्य रखा था लेकिन कंगारु लक्ष्य से 6 रन से चूक गए थे। कुल मिलाकर 1980 और 2000 के बीच ऑस्ट्रेलिया  200 रन से कम के लक्ष्य का पीछा करते हुए 34 बार लड़खड़ाई है। इसी दौरान वेस्ट इंडीज़ ने 30 बार इस तरह के लक्ष्य का सफलतापूर्वक पीछा किया है। 

बहरहाल हाल ही के इतिहास पर अगर नज़र डालें तो इस ट्रेंड में बदलाव आया है। बेंगलुरु टेस्ट के पहले ऑस्ट्रेलिया सिर्फ एक ही बार छोटे लक्ष्य का पीछा करने में नाकाम हुई है जबकि 31 बार उसे सफलता मिली है। 2004 में भारत दौरे पर मुंबई में उसे जीत के लिए 113 रन बनाने थे लेकिन वह 104 रन ही बना पाई थी। इसके बाद से 17 ऐसे मौक़े आए जब ऑस्ट्रेलिया को  200 से कम रन के लक्ष्य का पीछा करना पड़ा और 17 बार उसे सफलता मिली। इसमें छह बार उसने 100 रन से कम के लक्ष्या का पीछा किया। 2004 के बाद से ऑस्ट्रेलिया 22 प्रयासों में सिर्फ एक बार ही असफल रही है। 2011 में हॉबर्ट में न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ वह लक्ष्य से 7 रन पीछे रह गई थी। 

ऑस्ट्रेलिया का मुंबई टेस्ट 2004 के बाद 100 से 200 के बीच लक्ष्य का पीछा करने का रिकॉर्ड:

            स्थान         वर्ष       लक्ष्य          टीम                    नतीजा
          बेंगलुरु       2017     188        इंडिया          112 ऑल आउट
         एडीलेड       2016     127    द. अफ़्रीका           7 विकेट से जीत
         एडीलेड       2015     187      न्यूज़ीलैंड                3 से जीत
         ब्रिस्बेन       2014     128        इंडिया           4 विकेट से जीत
        सिडनी       2013     141      श्रीलंका           5 विकेट से जीत
      बारबाडोस       2012     192    वेस्ट इंडीज़           3 विकेट से जीत
        वेलिंग्टन       2010     106     न्यूज़ीलैंड         10 विकेट से जीत
       एडीलैड       2006     168        इंग्लैंड           6 विकेट से जीत
       एडीलैड       2005     182     वेस्ट इंडीज़           7 विकेट से जीत
     ऑकलैंड       2005     164      न्यूज़ीलैंड           9 विकेट से जीत
     क्राइस्टचर्च       2005     133      न्यूज़ीलैंड           9 विकेट से जीत
        मेलबर्न       2004     126     पाकिस्तान           9 विकेट से जीत

 

Read Complete Article
X
Gold Contest 2017