1. Home
  2. खेल
  3. क्रिकेट
  4. Ind vs Aus, 2nd ODI: पहले मैच में औसत प्रदर्शन के बाद अब भारतीय टीम की निगाहें बड़ी जीत पर

Ind vs Aus, 2nd ODI: पहले मैच में औसत प्रदर्शन के बाद अब भारतीय टीम की निगाहें बड़ी जीत पर

वनडे सिरीज़ के पहले मैच में ऑस्ट्रेलिया की ख़राब बल्लेबाज़ी की वजह से 26 रनों से मिली मामूली जीत के बाद अब टीम इंडिया गुरुवार को होने वाले दूसरे वनडे में बड़ी जीत की उम्मीद के साथ उतरेगी।

Written by: India TV Sports Desk [Updated:21 Sep 2017, 8:37 AM IST]
Ind vs Aus, 2nd ODI: पहले मैच में औसत प्रदर्शन के बाद अब भारतीय टीम की निगाहें बड़ी जीत पर

कोलकाता : वनडे सिरीज़ के पहले मैच में ऑस्ट्रेलिया की ख़राब बल्लेबाज़ी की वजह से 26 रनों से मिली मामूली जीत के बाद अब टीम इंडिया गुरुवार को होने वाले दूसरे वनडे में बड़ी जीत की उम्मीद के साथ उतरेगी। उसे टॉप ऑर्डर के बल्लेबाज़ों से उनके ख़राब प्रदर्शन की भरपाई की भी आशा होगी। जहां तक बॉलिंग का सवाल है तो टीम इंडिया चाहेगी कि उसके स्पिनर आस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को परेशान करना जारी रखें।  

आस्ट्रेलियाई टीम को पहले वनडे में भारत के कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल की नयी स्पिन जोड़ी को खेलने में काफी मुश्किल हुई थी। यादव जहां आस्ट्रेलियाई बल्लेबाज़ों को गुगली से चकमा दे रहे थे वहीं चहल की स्लाइडर को भी समझाने में कंगारुओं को परेशानी हो रही थी। यही वजह है कि मेहमान खिलाड़ियों ने स्थानीय स्पिनरों की मदद ली ताकि कुलदीप और चहल को ठीक से खेल सकें। केरल के के.के जियास ने चेन्नई वनडे से पहले और यहां स्थानीय क्लब के दो गेंदबाजों आशुतोष शिवराम और रूपक गुहा ने आस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों को स्पिनरों से निपटने का कुछ अभ्यास कराया। 

बारिश से प्रभावित पहले वनडे में 21 ओवरों में 164 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए आस्ट्रेलियाई टीम ने 35 रन में चार विकेट गंवा दिये थे, इसके बाद ग्लेन मैक्सवेल ने शानदार शाट लगाकर उम्मीद तो जगायी लेकिन चहल और यादव ने शानदार गेंदबाजी प्रदर्शन करते हुए डकवर्थ लुईस पद्धति से भारत को 26 रन से जीत दिला दी। 
आस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों के लिये सबसे बड़ा खतरा हार्दिक पंड्या के रूप में हैं जिन्होंने भारत को छह विकेट पर 76 रन के स्कोर से सात विकेट पर 281 रन के सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाने में मदद की। 

पंड्या ने एक बार फिर छक्कों की हैट्रिक -अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में चार बार- लगाते हुए महेंद्र सिंह धोनी 88 गेंद में 79 रन के साथ 118 रन की मैच का रूख बदलने वाली साझेदारी के दौरान 66 गेंद में 83 रन की पारी खेली। आईपीएल 2015 के बाद से पंड्या का चढ़ाव शानदार रहा है। वह बेपरवाह हिटर से अब खिलाड़ी के तौर पर परिपक्व बनते जा रहे हैं। इसके साथ ही वह भारत के लिये मध्यम गति की गेंदबाजी करने वाले उपयोगी आल राउंडर के रूप में भी सामने आ रहे हैं जिसे भारत लंबे समय से खोज रहा था। 

चेन्नई में उनकी पारी ने भारत की ही मदद नहीं की बल्कि इससे आस्ट्रेलियाई स्पिनर एडम जम्पा के मनोबल पर भी काफी खराब असर पड़ा। यह भी देखना होगा कि आस्ट्रेलिया के स्पिनर भारत की मज़बूत बल्लेबाज़ी लाइन अप को कैसे चुनौती देते हैं। उनके पास ग्लेन मैक्सवेल, ट्रेविस और एशटन के रूप में कामचलाऊ स्पिनर भी हैं। 
जम्पा ने कहा, हमारे आक्रमण में काफी वैरिएशन है लेकिन बस यह रणनीति लागू करने की बात है। आस्ट्रेलिया में आप अपनी लेंथ में थोड़ा फेरबदल कर सकते हो और आप शायद मैदान के आकार से बच भी जाते हो। लेकिन लेंथ काफी अहम है। 

कप्तान स्टीव स्मिथ के लिये भी यह काफी चुनौतीपूर्ण समय है जिन्हें बेहतरीन तरीके से नेतृत्व करने की जरूरत है। डेविड वार्नर को भी आक्रामक खेलकर अच्छी नींव रखनी होगी। 

चेन्नई में शीर्ष क्रम में हिल्टन कार्टराइट के प्रदर्शन को देखते हुए ट्रेविस हेड को सलामी बल्लेबाज़ का स्थान देना गलत फैसला नहीं होगा। हेड ने बोर्ड अध्यक्ष एकादश के खिलाफ अभ्यास मैच में 103 रन की जीत के दौरान 65 रन की पारी खेली। अगर हेड पारी का आगाज करते हैं तो ग्लेन मैक्सवेल या मार्कस स्टोईनिस चौथे नंबर का स्थान भरने के लिये उपलब्ध होंगे जहां वे पहले ही छह खिलाड़ियों को आज़मा चुके हैं। आस्ट्रेलियाई टीम अपने आल राउंडर जेम्स फाकनर, स्टोईनिस और मैक्सवेल से भी अच्छे योगदान की उम्मीद रखेगी। 

भारतीय बल्लेबाजी के लिये यह अच्छा संकेत है कि शीर्ष क्रम के विफल होने के बाद निचला क्रम भी चुनौती पेश कर रहा है। धोनी जहां शानदार फार्म में थे, वहीं भुवनेश्वर कुमार को 30 गेंद में नाबाद 32 रन की पारी खेलते हुए देखना शानदार था। टीम सलामी बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे और रोहित शर्मा से मजबूत शुरूआत की उम्मीद करेगी जबकि कप्तान विराट कोहली भी चेन्नई में विफल होने के बाद रन जुटाने की कोशिश करेंगे। कोहली ने इस साल वनडे में 19 पारियों में चार शतक और छह अर्धशतकों से 1017 रन जुटाये हैं। 

भारत और आस्ट्रेलिया 2003 नवंबर में टीवीएस कप फाइनल के बाद दूसरा वनडे खेलेंगे लेकिन बारिश की भविष्यवाणी से इस मुकाबले का भी मज़ा किरकिरा हो सकता है। 

भारत: विराट कोहली (कप्तान), अजिंक्य रहाणे, रोहित शर्मा, मनीष पांडे, केदार जाधव, महेंद्र सिंह धोनी विकेटकीपर, हार्दिक पंड्या, भुवनेर कुमार, कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल, जसप्रीत बुमरा, लोकेश राहुल, रविंद्र जडेजा, उमेश यादव और मोहम्मद शमी। 

आस्ट्रेलिया: स्टीव स्मिथ (कप्तान), डेविड वार्नर, हिल्टन कार्टराइट, मैथ्यू वेड विकेटकीपर, नाथन कूल्टर नाइल, पैट कमिंस, जेम्स फाकनर, पीटर हैंड्सकोंब, ट्रेविस हेड, ग्लेन मैक्सवेल, एडम जम्पा, केन रिचर्डसन, मार्कस स्टोईनिस और आरोन फिंच। 

मैच भारतीय समयानुसार दोपहर एक बजकर 30 मिनट पर शुरू होगा। 

You May Like