ford
  1. You Are At:
  2. खबर इंडिया टीवी
  3. पैसा
  4. बिज़नेस
  5. लोन के लिए अब नहीं पड़ेगी आपको बैंकों के चक्‍कर लगाने की जरूरत, मनीटैप मोबाइल एप से मिनटों में मिलेगा पैसा

लोन के लिए अब नहीं पड़ेगी आपको बैंकों के चक्‍कर लगाने की जरूरत, मनीटैप मोबाइल एप से मिनटों में मिलेगा पैसा

मोबाइल एप के जरिए अब आपको मिनटों में लोन मिल सकता है। स्टार्टअप कंपनी मनीटैप ने मोबाइल एप के जरिये पांच लाख रुपए तक का कर्ज दिलाने की सुविधा शुरू की है।

Abhishek Shrivastava [Published on:11 Oct 2017, 5:08 PM IST]
लोन के लिए अब नहीं पड़ेगी आपको बैंकों के चक्‍कर लगाने की जरूरत, मनीटैप मोबाइल एप से मिनटों में मिलेगा पैसा- IndiaTV Paisa
लोन के लिए अब नहीं पड़ेगी आपको बैंकों के चक्‍कर लगाने की जरूरत, मनीटैप मोबाइल एप से मिनटों में मिलेगा पैसा

नई दिल्‍ली। पर्सनल लोन लेने के लिए अब आपको बैंक या किसी अन्‍य वित्‍तीय संस्‍था के चक्‍कर लगाने की जरूरत नहीं होगी। मोबाइल एप के जरिए अब आपको घर बैठे कुछ ही मिनटों में लोन मिल सकता है। स्टार्टअप कंपनी मनीटैप ने मोबाइल एप के जरिये पांच लाख रुपए तक का कर्ज दिलाने की सुविधा शुरू की है। इस साल के आखिर तक कंपनी कुल मिलाकर 300 करोड़ रुपए का लोन उपलब्ध कराने का लक्ष्य लेकर आगे बढ़ रही है।

कंपनी के सह संस्थापक अनुज कक्‍कड़ ने बताया कि कंपनी इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए छोटे शहरों पर ज्यादा ध्यान दे रही है। यही वजह है कि मनीटैप का एप आज से हिंदी व कन्नड़ भाषा में भी उपलब्ध होगा। जल्द ही यह तेलुगु, तमिल, मराठी व गुजराती में भी आएगा। उन्होंने कहा कि कंपनी फिलहाल 14 शहरों में सेवा दे रही है और इस साल के आखिर तक 50 शहरों में उसकी सेवाएं उपलब्ध होंगी।

मनीटैप मोबाइल एप के जरिए ग्राहक को तुरंत, कुछ ही मिनट में लोन राशि मंजूर हो जाती है, जिसे वह तीन साल तक अपनी सुविधा के अनुसार इस्तेमाल कर सकता है। कंपनी ने इस सुविधा के लिए सिबिल व बैंकों से गठजोड़ किया है। कक्‍कड़ ने कहा कि यह अपनी तरह की पहला व अनूठा स्टार्टअप है, जो किसी भी व्यक्ति को बैंक से पांच लाख रुपए तक का लोन सिर्फ एप के जरिए कुछ ही मिनट में सुनिश्चित करवाता है। इसमें किसी तरह की जमानत की जरूरत नहीं।

उन्होंने कहा कि कंपनी 20,000 रुपए से अधिक मासिक आय वाले वेतनभोगी व स्वरोजगार संपन्न युवाओं को 3,000 रुपए से पांच लाख रुपए तक का लोन उपलब्ध करवाती है। आवेदक की मंजूर ऋण राशि उसके मनीटैप में आ जाती है जिसे वह जब चाहे अपने खाते में स्थानांतरित कर सकता है। इसमें ग्राहक को ब्याज केवल उसी राशि का देना होता है, जिसका वह इस्तेमाल करता है। इसके अलावा कंपनी का आरबीएल बैंक के साथ को-ब्रांडेड क्रेडिट कार्ड भी है।

You May Like