1. Home
  2. लाइफस्टाइल
  3. जीवन मंत्र
  4. 120 साल बाद महासंयोग में जन्मेंगे पवनपुत्र, इस शुभ मुहूर्त में करें पूजा

120 साल बाद महासंयोग में जन्मेंगे पवनपुत्र, इस शुभ मुहूर्त में करें पूजा

इस साल हनुमान जंयती में बहुत ही विशेष योग है। चैत्र शुक्ल पक्ष पूर्णिमा के दिन भगवान हनुमान का जन्म हुआ था। इसके साथ ही 4 साल बाद ऐसा होगा जब संकट मोचन जयंती चंदग्रहण से मुक्त होगी। इस बार हनुमान जयंती 11...

India TV Lifestyle Desk [Published on:10 Apr 2017, 7:19 AM IST]
120 साल बाद महासंयोग में जन्मेंगे पवनपुत्र, इस शुभ मुहूर्त में करें पूजा

धर्म डेस्क:  इस साल हनुमान जंयती में बहुत ही विशेष योग है। चैत्र शुक्ल पक्ष पूर्णिमा के दिन भगवान हनुमान का जन्म हुआ था। इसके साथ ही 4 साल बाद ऐसा होगा जब संकट मोचन जयंती चंदग्रहण से मुक्त होगी। इस बार हनुमान जयंती 11 अप्रैल, मंगलवार को पड़ रही है।

ये भी पढ़े

ज्योतिषाचार्य इंदु प्रकाश के अनुसार हनुमान जयंती में राज योग के साथ ही शुक्र मीन राशि में उच्च का हो गए हैं जिसकी सूर्य के साथ युति रहेगी। द्वितीय स्थान पर मेष राशि का मंगल शुभ फलदायी रहेगा। विशेष योग होने के कारण हनुमान जयंती भक्तों के लिए विशेष फलदायी रहेगी। ऐसा संयोग पूरे 120 साल बाद बना है। जोकि सभी के लिए शुभ साबित हो सकता है।

ज्योतिषचार्य के अनुसार इस बार हनुमान जंयती पर त्रेता युग जैसा संयोग बना है। इस दिन मंगलवार होने के साथ-साथ पूर्णिमा तिथि और चित्रा नक्षत्र भी है। शास्त्रों के अनुसार हनुमान जी के जन्म के समय का सही संयोग यही माना जाता है। इसके साथ ही इस दिन गजकेसरी और अमृत योग लग रहा है। जिनकी कुंडली में साढ़े-सती ढैय्या है। उनके लिए इस दिन पूजा करना शुभ होगा।

अब 4 साल बाद बनेगा ऐसा संयोग
ज्योतिषचार्य इंदु प्रकाश के अनुसार जिन जतकों पर सनि की साढ़े साती चल रही हा। वो इसका निवारण इसी दिन कर लें, क्योंकि ऐसा संयोग दूसरा पूरे 4 साल बाद बनेगा।   

साल 2013 को हनुमान जयंती पड़ी थी चंद्रग्रहण
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार 2013 से लगातार हनुमान जयंती पर चंद्रग्रहण के योग बन रहे थे लेकिन इस बार चंद्रग्रहण से मुक्त रहेगी। इससे पूजा-अर्चना और आराधना में कोई संकट नहीं आएगा।

शुभ मुहूर्त
पूर्णिमा तिथि शुरु- 10 अप्रैल को 10 बजकर 22 मिनट से शुरु
पूर्णिमा तिथि समाप्त- 11 अप्रैल को सुबह 11 बजकर 37 मिनट में समाप्त