Ford Assembly election results 2017 Akamai CP Plus
  1. You Are At:
  2. होम
  3. लाइफस्टाइल
  4. जीवन मंत्र
  5. Mokshada Ekadashi 2017: इस शुभ मुहूर्त में करें पूजा और पाएं हजारों यज्ञों का फल

Mokshada Ekadashi 2017: इस शुभ मुहूर्त में करें पूजा और पाएं हजारों यज्ञों का फल

हिंदू धर्म में एकादशी बहुत ही महत्व रखता है। हर साल 24 एकादशी पड़ती है। जानिए पूजा विधि. कथा और शुभ मुहूर्त और महत्व के बारें में...

Written by: India TV Lifestyle Desk [Updated:29 Nov 2017, 9:47 PM IST]
lord vishnu- Khabar IndiaTV
lord vishnu

धर्म डेस्क: हिंदू धर्म में एकादशी बहुत ही महत्व रखता है। हर साल 24 एकादशी पड़ती है। जिसका अपना-अपना महत्व होता है। मार्गशीर्ष की शुक्ल पक्ष में पड़ने वाली एकादशी को मोक्षदा एकादशी के नाम से जाना जाता है। इस बार य एकादशी 30 नवंबर, गुरुवार को है।

इस एकादशी को लेकर मान्यता है कि इस दिन पूजा करने से कई हजारों यज्ञों का फल मिलता है। इसके साथ ही आपके द्वारा रखें हुए व्रत के प्रभाव से आपके पितरों को भी मुक्ति मिलती है। इसके साथ ही श्रीभगवदमगीता में कहा गया है कि इस दिन भगवान कृष्ण ने अर्जुन को मुक्ति के लिए उपदेश दिया था। जिससे उसे मुक्ति मिली। इसके साथ ही माना जाता है कि इस दिन गीता का भी जन्म हुआ था। जानिए मोक्षदा एकादशी में कैसे करें शुभ मुहूर्त में विधि-विधान से पूजा। साथ ही जाने महत्व...

मान्‍यता के अनुसार जो मोक्षदा एकादशी का व्रत करता है उसके पाप नष्‍ट हो जाते हैं और उसे जीवन-मरण के बंधन से मु्क्ति म‍लि जाती है। यानी कि उसे मोक्ष की प्राप्ति हो जाती है।

ये भी पढ़ें:

शुभ मुहूर्त

प्रारंभ: 29 नवंबर 2017 को रात्र‍ि 10 बजकर 59 मिनट
समाप्‍त: 30 नवंबर 2017 को रात्र‍ि 9 बजकर  26 मिनट
पारण: 1 दिसबंर सुबह 9 बजकर 39 मिनट तक।

You May Like