1. Home
  2. लाइफस्टाइल
  3. हेल्थ
  4. विटामिन ट्रीटमेंट से स्टेम सेल थेरेपी की राह हुई आसान

विटामिन ट्रीटमेंट से स्टेम सेल थेरेपी की राह हुई आसान

विटामिन 'ए' और 'सी' वयस्क कोशिकाओं को स्टेम कोशिकाओं में रूपांतरित कर सकते हैं। इससे रोगों के उपचार के लिए जैव चिकित्सा को और अधिक उन्नत करने का मार्ग प्रशस्त होगा। यह बात न्यूजीलैंड में एक अध्ययन के दौरान सामने आई।

IANS [Updated:18 Oct 2016, 3:32 PM IST]
विटामिन ट्रीटमेंट से स्टेम सेल थेरेपी की राह हुई आसान

हेल्थ डेस्क: विटामिन 'ए' और 'सी' वयस्क कोशिकाओं को स्टेम कोशिकाओं में रूपांतरित कर सकते हैं। इससे रोगों के उपचार के लिए जैव चिकित्सा को और अधिक उन्नत करने का मार्ग प्रशस्त होगा। यह बात न्यूजीलैंड में एक अध्ययन के दौरान सामने आई।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, अनुसंधान दल ने खोज की है कि दो विटामिन कोशिकाओं में स्थित डीएनए से जुड़ी मेमोरी को नष्ट करने में दोनों एक-दूसरे के पूरक हैं। विटामिन का यह प्रभाव रिजेनरेटिव मेडिसिन तथा स्टेम सेल थेरेपी की तकनीक को उन्नत बनाने के क्षेत्र में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

ओटागो यूनिवर्सिटी के सह-लेखक टिम होर ने बताया कि यह सच है कि वयस्क कोशिकाएं अपनी पहचान में बदलाव का विरोध करती हैं, लेकिन आंशिक रूप से उनके डीएनए में रासायनिक परिवर्तन के कारण ऐसा संभव होता है।

यह परिवर्तन, जिसे डीएनए मिथाइलेशन के नाम से जाना जाता है, विकास के दौरान होता है। यह कोशिकीय मेमोरी को एक पहचान देता है, ताकि एक विशेष प्रक्रिया द्वारा कोशिकाओं की मरम्मत उचित तरीके से की जा सके।

होर ने बताया कि दोनों विटामिन एक ही परिवार के एन्जाइमों को प्रभावित करते हैं। ये एनजाइम डीएनए मिथाइलेशन को सक्रिय तौर पर बाहर करते हैं। उन्होंने बताया कि विटामिन-ए कोशिकाओं के अंदर ही इन एन्जाइमों की संख्या को और विटामिन-सी अपनी गतिविधियों को बढ़ाते हैं।

Related Tags:

You May Like

Write a comment

Promoted Content