1. Home
  2. भारत
  3. उत्तर प्रदेश
  4. योगी ब्रिगेड की दादागीरी, घर में घुसकर प्रेमी जोड़े से की बदसलूकी

योगी ब्रिगेड की दादागीरी, घर में घुसकर प्रेमी जोड़े से की बदसलूकी

मेरठ में हिंदू युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओं द्वारा घर में घुसकर एक प्रेमी जोड़े के साथ बदसलूकी का मामला सामने आया है। यहां मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के संगठन के कार्यकर्ताओं ने घर में घुसकर एक प्रेमी जोड़े के साथ बदसलूकी की।

India TV News Desk [Updated:12 Apr 2017, 1:47 PM IST]
योगी ब्रिगेड की दादागीरी, घर में घुसकर प्रेमी जोड़े से की बदसलूकी

नई दिल्ली: मेरठ में हिंदू युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओं द्वारा घर में घुसकर एक प्रेमी जोड़े के साथ बदसलूकी का मामला सामने आया है। यहां मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के संगठन के कार्यकर्ताओं ने घर में घुसकर एक प्रेमी जोड़े के साथ बदसलूकी की। बताया जा रहा है कि मामला मुस्लिम लड़के के हिंदू लड़की से प्रेम संबंध का है। हिंदू युवा वाहिनी के लोगों ने इसे लव जेहाद का मामला बताते हुए न सिर्फ घर में घुसकर युवक के साथ बदसलूकी की बल्कि प्रेमी जोड़े को पकड़कर पुलिस के हवाले भी कर दिया।

ये भी पढ़ें

एक शहर, जहां आलू-प्याज से भी सस्ते बिकते हैं काजू!
एक भारतीय जासूस जो बन गया था पाकिस्तानी सेना में मेजर

मुसलमान वहां मस्जिद बनाने की जिद न करें जहां राम मंदिर बनना है: कल्बे सादिक
सूरत का दिल 87 मिनट में पहुंचा मुम्बई, अब यूक्रेन में धड़केगा

पश्चिमी यूपी में हिंदू युवा वाहिनी के प्रमुख नागेंद्र सिंह तोमर ने लड़के के खिलाफ कार्रवाई की मांग की और कहा कि लड़का इस कोशिश में था कि लड़की का धर्म बदला जा सके। तोमर ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया कि घर में हिंदू लड़की के साथ रोमांस कर रहे मुस्लिम लड़के के खिलाफ पुलिस से सख्त कार्रवाई के लिए कहा है। उन्होंने कहा, ‘मैंने मकान मालिक के खिलाफ भी कार्रवाई के लिए कहा है जिसने बिना वेरिफिकेशन के उन्हें कमरा किराए पर दिया।’

बता दें कि हिंदू युवा वाहिनी संगठन से प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ भी जुड़े हुए हैं। योगी खुद भी पश्चिमी यूपी में लव जिहाद को बड़ा मुद्दा बता चुके हैं। युवक का आरोप है कि संगठन के कार्यकर्ताओं ने मॉरल पुलिसिंग के नाम पर यह बदसलूकी की। पुलिस पर कार्यकर्ताओं ने प्रेमी जोड़े के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए दबाव भी बनाया।

युवक का कहना है कि उन दोनों को घर के अंदर से बाहर निकाला गया। बुरी तरह से अपमानित करने के बाद उन्हें जबरन घसीटते हुए पुलिस थाने तक ले जाया गया। वहीं, इस पूरे मामले पर अभी तक मेरठ पुलिस की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली है।

You May Like